दुनिया का एक मात्र ऐसा मंदिर जहां अंदर जाने से डरते हैं लोग, जानें क्या है राज

azab_gazab_newstemple

नई दिल्ली। हम सभी लोगों में से ज्यादातर लोग अपनी आस्था या फिर परेशानियों से निजात पाने के मकसद से मंदिर जाते हैं। क्या आपने किसी ऐसे मंदिर के बारे में सुना है जहां पर लोग जाने से कतराते हैं या यूं कहें कि डरते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं।

The Only Temple In The World Where People Are Afraid To Go Inside Know What Is The Secret :

बता दें कि यह मंदिर हिमाचल प्रदेश के छोटे से कस्बे भरमोर में स्थित है। दरअसल यह मंदिर यमराज का है इसी वजह से कोई भी श्रद्धालु इस मंदिर के अंदर जाने से डरता है और वह बाहर से ही पूजा कर निकल जाता है। ऐसा कहा जाता है कि मंदिर के अंदर घुसने में भूतों और पिशाचों को डर लगता है।

गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश को देवभूमि भी कहा जाता है। ऐसे में यहां मंदिरों की तादाद काफी है और उतने ही तादाद में श्रद्धालु इन मंदिरों के दर्शन के लिए आते हैं। आमतौर पर किसी भी श्रद्धालु को शायद ही मंदिरों में जाने से भय लगता है क्योंकि उन्हें लगता है कि भगवान की शरण में आने के बाद उनकी सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी। हिमाचल प्रदेश के छोटे से कस्बे भरमोर में स्थित यह मंदिर देखने में काफी छोटा है लेकिन इसकी प्रसिद्धि दूर-दूर तक फैली हुई है।

यहां बता दें कि यह मंदिर मृत्यु के देवता यमराज का है। यही वजह है कि लोग इस मंदिर के पास जाने से भी डरते हैं। यह दुनिया का एकमात्र ऐसा मंदिर है जो यमराज को समर्पित है। लोगों का कहना है कि इस मंदिर को यमराज के लिए ही बनाया गया है इसलिए इसके अंदर उनके अलावा और कोई भी प्रवेश नहीं कर सकता है।

आपको बता दें कि स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मंदिर में 4 छिपे हुए दरवाजे हैं। इनमें सोना, चांदी, तांबा और लोहे के गेट शामिल हैं। ऐसा माना जाता है कि ज्यादा पाप करने वालों की आत्मा लोहे की गेट के अंदर जाता है और पुण्य करने वालों की आत्मा सोने के दरवाजे के अंदर जाती है। इस मंदिर में चित्रगुप्त महाराज के लिए भी एक कमरा बनाया गया है जो धरतीवासियों के पाप-पुण्य का हिसाब रखते हैं।

नई दिल्ली। हम सभी लोगों में से ज्यादातर लोग अपनी आस्था या फिर परेशानियों से निजात पाने के मकसद से मंदिर जाते हैं। क्या आपने किसी ऐसे मंदिर के बारे में सुना है जहां पर लोग जाने से कतराते हैं या यूं कहें कि डरते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं। बता दें कि यह मंदिर हिमाचल प्रदेश के छोटे से कस्बे भरमोर में स्थित है। दरअसल यह मंदिर यमराज का है इसी वजह से कोई भी श्रद्धालु इस मंदिर के अंदर जाने से डरता है और वह बाहर से ही पूजा कर निकल जाता है। ऐसा कहा जाता है कि मंदिर के अंदर घुसने में भूतों और पिशाचों को डर लगता है। गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश को देवभूमि भी कहा जाता है। ऐसे में यहां मंदिरों की तादाद काफी है और उतने ही तादाद में श्रद्धालु इन मंदिरों के दर्शन के लिए आते हैं। आमतौर पर किसी भी श्रद्धालु को शायद ही मंदिरों में जाने से भय लगता है क्योंकि उन्हें लगता है कि भगवान की शरण में आने के बाद उनकी सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी। हिमाचल प्रदेश के छोटे से कस्बे भरमोर में स्थित यह मंदिर देखने में काफी छोटा है लेकिन इसकी प्रसिद्धि दूर-दूर तक फैली हुई है। यहां बता दें कि यह मंदिर मृत्यु के देवता यमराज का है। यही वजह है कि लोग इस मंदिर के पास जाने से भी डरते हैं। यह दुनिया का एकमात्र ऐसा मंदिर है जो यमराज को समर्पित है। लोगों का कहना है कि इस मंदिर को यमराज के लिए ही बनाया गया है इसलिए इसके अंदर उनके अलावा और कोई भी प्रवेश नहीं कर सकता है। आपको बता दें कि स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मंदिर में 4 छिपे हुए दरवाजे हैं। इनमें सोना, चांदी, तांबा और लोहे के गेट शामिल हैं। ऐसा माना जाता है कि ज्यादा पाप करने वालों की आत्मा लोहे की गेट के अंदर जाता है और पुण्य करने वालों की आत्मा सोने के दरवाजे के अंदर जाती है। इस मंदिर में चित्रगुप्त महाराज के लिए भी एक कमरा बनाया गया है जो धरतीवासियों के पाप-पुण्य का हिसाब रखते हैं।