केरल में मानसून की शुरुआत में चार दिन की हो सकती है देरी: मौसम विभाग

kerala
केरल में मानसून की शुरुआत में चार दिन की हो सकती है देरी: मौसम विभाग

मॉनसून केरल पहुंचने में चार दिन की देर हो सकती है। इसके 5 जून तक केरल पहुंचने की उम्मीद है। इसमें 4 दिन आगे या पीछे भी हो सकते हैं। मौसम विभाग ने आज ये अनुमान जारी किया। इससे पहले माना जा रहा था कि मॉनसून 1 जून तक पहुंच सकता है। केरल में मॉनसून पहुंचने के साथ ही देश में चार महीने के मॉनसून सीजन की शुरूआत हो जाती है।

The Onset Of Monsoon In Kerala May Be Delayed By Four Days Meteorological Department :

पिछले 15 साल में मौसम विभाग का अनुमान लगभग सही रहा

मौसम विभाग के मुताबिक पिछले 15 सालों में सिर्फ 2015 को छोड़ उसका अनुमान सही साबित हुआ। पिछले साल 8 जून को मॉनसून केरल पहुंचा था। मौसम विभाग ने 6 जून का अनुमान जारी किया था। 2015 में मौसम विभाग ने 30 मई की उम्मीद जताई थी, लेकिन मॉनसून 5 जून को केरल पहुंचा था।

पिछले 5 सालों में मॉनसून कब आया?

इस साल मॉनसून सामान्य रहेगा, 100% बारिश होगी

मौसम विभाग अप्रैल में मॉनसून का पहला अनुमान जारी किया था। उसके मुताबिक इस साल मॉनसून सामान्य रहेगा। बारिश का दीर्घावधि औसत 100% रहेगा। 96 से 100% बारिश को सामान्य मॉनसून माना जाता है।

दो चरणों में जारी होता है अनुमान

हर साल मौसम विभाग दीर्घावधि अनुमान दो चरणों में जारी करता है। पहला अनुमान अप्रैल तो दूसरा अनुमान मई-जून में जारी किया जाता है। इसके लिए स्टेटिस्टिकल एनसेंबल फोरकास्टिंग सिस्टम और ओशन एटमॉस्फिरिक मॉडलों की मदद ली जाती है। 1961 से 2010 के दौरान देशभर में हर साल औसतन 88 सेमी बारिश रिकॉर्ड की गई।

मॉनसून केरल पहुंचने में चार दिन की देर हो सकती है। इसके 5 जून तक केरल पहुंचने की उम्मीद है। इसमें 4 दिन आगे या पीछे भी हो सकते हैं। मौसम विभाग ने आज ये अनुमान जारी किया। इससे पहले माना जा रहा था कि मॉनसून 1 जून तक पहुंच सकता है। केरल में मॉनसून पहुंचने के साथ ही देश में चार महीने के मॉनसून सीजन की शुरूआत हो जाती है। पिछले 15 साल में मौसम विभाग का अनुमान लगभग सही रहा मौसम विभाग के मुताबिक पिछले 15 सालों में सिर्फ 2015 को छोड़ उसका अनुमान सही साबित हुआ। पिछले साल 8 जून को मॉनसून केरल पहुंचा था। मौसम विभाग ने 6 जून का अनुमान जारी किया था। 2015 में मौसम विभाग ने 30 मई की उम्मीद जताई थी, लेकिन मॉनसून 5 जून को केरल पहुंचा था। पिछले 5 सालों में मॉनसून कब आया? इस साल मॉनसून सामान्य रहेगा, 100% बारिश होगी मौसम विभाग अप्रैल में मॉनसून का पहला अनुमान जारी किया था। उसके मुताबिक इस साल मॉनसून सामान्य रहेगा। बारिश का दीर्घावधि औसत 100% रहेगा। 96 से 100% बारिश को सामान्य मॉनसून माना जाता है। दो चरणों में जारी होता है अनुमान हर साल मौसम विभाग दीर्घावधि अनुमान दो चरणों में जारी करता है। पहला अनुमान अप्रैल तो दूसरा अनुमान मई-जून में जारी किया जाता है। इसके लिए स्टेटिस्टिकल एनसेंबल फोरकास्टिंग सिस्टम और ओशन एटमॉस्फिरिक मॉडलों की मदद ली जाती है। 1961 से 2010 के दौरान देशभर में हर साल औसतन 88 सेमी बारिश रिकॉर्ड की गई।