1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. गठिया के दर्द से रहतीं है परेशान, अपनाएं ये गजब का काढ़ा… कुछ ही दिनो मे दिखेगा असर

गठिया के दर्द से रहतीं है परेशान, अपनाएं ये गजब का काढ़ा… कुछ ही दिनो मे दिखेगा असर

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: आज के टाइम मे गठिया बहुत सामान्य समस्या होती जा रही है। लेकिन ये कई कई रूपों में आ सकती है। जैसा जैसे ठंढ बढ़ती है गठिया की समस्या बढ़ती चली जाती है। कभी-कभी तकलीफ इतनी बढ़ जाती है कि आपको चलने-फिरने में भी दिक्कत हो सकती है। गठिया का मुख्य कारण है शरीर में बढ़ा हुआ यूरिक एसिड।

पढ़ें :- घर पर इस तरीके से बनाइए पपीते का शेक, काफी हेल्दी

आपको बता दें, यूरिक एसिड के कण धीरे-धीरे जोड़ों पर जमा हो जाते हैं और फिर सूजन और दर्द का कारण बनते हैं। ये यूरिक एसिड प्यूरिन के टूटने से शरीर के अंदर बनता है। गठिया की बीमारी महिलाओं और पुरुषों दोनों की हो सकती है।

गठिया के लिए बाजार में कई तरह की दवाइयां मौजूद हैं, लेकिन शरीरिक श्रम और कुछ घरेलू उपायों से भी इसका उपचार संभव है। गठिया रोगियों के लिए अदरक और अजवाइन  का प्रयोग बहुत फायदेमंद है। आइए आपको बताते हैं कैसे करना है इसका इस्तेमाल और क्या हैं फायदे…

घरेलू नुसख़ों से करें गठिया का इलाज

  • एक पैन में डेढ़ कप पानी लें और इसमें आधा चम्मच अजवाइन और एक इंच का टुकड़ा अदरक काटकर या कूचकर डालें। इसे 6-7 मिनट तक उबालें ताकि अदरक और अजवाइन का अर्क पानी में आ जाए। इसके बाद इस काढ़े को छानकर पिएं।
  • आप दिन में 2 बार इसी तरह अदरक और अजवाइन के काढ़े या चाय को उबालकर पिएं। इससे आपके शरीर में पसीना आएगा और आपका यूरिक एसिड प्राकृतिक रूप से कम होगा।

अरंडी के तेल से करें मालिश

ऊपर बताए गए तरीके से अदरक और अजवाइन का काढ़ा तो आप पिएं ही पिएं, साथ ही गुनगुना करके दर्द की जगह पर अरंडी के तेल से मालिश करें, तो भी आपका यूरिक एसिड टूटकर बाहर निकल जाएगा। इसके अलावा अरंडी के तेल से मालिश करने से आपका दर्द कम होगा और सूजन दूर हो जाएगी।

पढ़ें :- इस फेस्टिव सीजन में बनाये काजू की बेहतरीन सब्जी, घरवाले चाटते रह जाएंगे उंगलियां

लहसुन है बेहद लाभकारी

गठिया के ‌इलाज में लहसुन सबसे जाना-माना और लाभकारी इलाज है। इसको रोजाना लेने से गठिया के रोग में आराम मिलता है। सामान्यता कच्चे लहसुन की तीन से चार कलियां सुबह खाली पेट लेना आरामदायक होता है। वैसे अगर इसे खाना पसंद न हो तो इसमें सेंधा नमक, जीरा, हींग, पीपल, काली मिर्च और सौंठ सभी की 2- 2 ग्राम मात्रा लेकर अच्‍छे से पीस लें। इस पेस्‍ट को अरंडी के तेल में भून लें और बॉटल में भर लें। दर्द होने पर लगा लें, इससे फायदा मिलेगा।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...