1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. नोटबंदी का मकसद कुछ ‘उद्योगपति’ की मदद करना था, इससे देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ा विप​रीत असर : राहुल गांधी

नोटबंदी का मकसद कुछ ‘उद्योगपति’ की मदद करना था, इससे देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ा विप​रीत असर : राहुल गांधी

The Purpose Of Demonetisation Was To Help Some Industrialists This Has Affected The Economy In The Country Rahul Gandhi

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि चार साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस कदम का मकसद अपने कुछ ‘उद्योगपति मित्रों’ की मदद करना था और इसने भारतीय अर्थव्यवस्था को ‘बर्बाद’ कर दिया। राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा की गई नोटबंदी लोगों और देश के हित में नहीं थी, जिसके कारण देश की अर्थव्यवस्था पर विप​रीत असर डाला है। इस आरोप का सरकार ने बार-बार खंडन किया है।

पढ़ें :- राहुल गांधी का बड़ा आरोप, पूंजीपतियों का कर्ज माफ और अन्नदाताओं की पूंजी साफ करने में लगी है सरकार

नोटबंदी के विरोध में पार्टी के ऑनलाइन अभियान ‘स्पीक अप एगेंस्ट डिमो डिजास्टर’ के तहत जारी एक वीडियो में गांधी ने कहा कि सवाल यह है कि बांग्लादेश की अर्थव्यवस्था कैसे भारत की अर्थव्यवस्था से ‘आगे बढ़’ गई, क्योंकि एक समय था जब भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे उच्च प्रदर्शन वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक थी।

गांधी ने  कहा, ‘सरकार कहती है कि इसका कारण कोविड है, लेकिन अगर यह वजह है तो कोविड बांग्लादेश और विश्व में अन्य जगह भी है। कारण कोविड नहीं है, नोटबंदी और जीएसटी कारण हैं।’ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा, ‘चार साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय अर्थव्यवस्था पर एक हमला शुरू किया था। उन्होंने किसानों, श्रमिकों और छोटे दुकानदारों को नुकसान पहुंचाया था। मनमोहन सिंह जी ने कहा था कि अर्थव्यवस्था को दो प्रतिशत का नुकसान होगा, और यह हमने देखा था।’ गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि यह काले धन के खिलाफ लड़ाई है, लेकिन ऐसा नहीं है।

 

पढ़ें :- हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष का दावा-सत्ताधारी कई विधायक हमारे संपर्क में, सीएम खट्टर ने किया पलटवार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...