1. हिन्दी समाचार
  2. रिटायर्ड DGP युवती को छोड़कर भागे, दोनों को नशे में धुत देख होटल वाले ने नहीं दिया कमरा

रिटायर्ड DGP युवती को छोड़कर भागे, दोनों को नशे में धुत देख होटल वाले ने नहीं दिया कमरा

The Retired Dgp Escaped Leaving The Girl Seeing The Two Being Drunk The Hotelier Did Not Give The Room

By बलराम सिंह 
Updated Date

कानपुर। कानपुर के ग्रीन पार्क के पास सोमवार की देर रात हंगामा करने वाली युवती को एक रिटायर्ड डीजीपी अफसर लखनऊ से लेकर आए थे। बूढ़े हो चुके रिटायर्ड आईपीएस अफसर के साथ 25 साल की युवती को देख होटल मालिक ने कमरा नहीं दिया था। इसके बाद रिटायर्ड आईपीएस युवती को ग्रीन पार्क के पास छोड़कर भाग निकले। इससे भड़की युवती ने हंगामा किया। होश में आने के बाद युवती ने बताया कि वह एक पार्टी के बड़े नेता की रिश्तेदार है।

पढ़ें :- योग गुरु बाबा रामदेव ने की गृहमंत्री से मुलाकात, कहा- मोदी की मनसा और नीति एकदम सही

जानकारी के मुताबिक लखनऊ में रहने वाले एक रिटायर्ड डीजीपी सोमवार रात अपने मूल निवास इटावा जा रहे थे। उन्होंने बताया कि लखनऊ में कमता तिराहे के पास पूर्व परिचित युवती मिल गई और लिफ्ट मांगी। रास्ते में युवती ने उनके साथ जमकर शराब पी। शराब पीने के बाद दोनों नशे में धुत हो गए। इसका फायदा उठाकर युवती ने रिटायर्ड डीजीपी से उनका फोन छीन लिया और ब्लैकमेल करने लगी। इसपर उन्होंने युवती को वापस भेजने के लिए ओला कैब बुक किया और उसे ग्रीन पार्क के पास छोड़कर खुद अपनी गाड़ी से लखनऊ लौट गए।

पुलिस के मुताबिक रिटायर्ड अफसर ने ग्रीन पार्क के पास होटल में पहले से कमरा बुक करवा रखा था। वहां पहुंचने पर उनके साथ नशे में धुत 25 साल की युवती को देख होटल के मैनेजर ने बुकिंग कैंसिल कर रूम देने से इंकार कर दिया। इस पर दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया।

हंगामा होते देख पुलिस आ गई तो रिटायर्ड अफसर को बदनामी का डर हुआ। उन्होंने युवती के लिए कैब बुक कराई और खुद भाग निकले। इंस्पेक्टर ग्वालटोली विजय कुमार पाण्डेय ने बताया कि युवती खुद को गोंडा के एक भाजपा नेता की भतीजी और लखनऊ के प्रतिष्ठित कॉलेज की छात्रा बता रही थी।

बताया जा रहा है कि सूबे की पुलिस के मुखिया रहे रिटायर्ड अफसर का युवती से विवाद होते देख पुलिस मौके पर पहुंची थी। अफसर ने जैसे ही अपना परिचय दिया, पुलिस ने उन्हें वहां से चले जाने की सलाह दी। अफसर के जाते ही युवती ने चौराहे पर हंगामा शुरू किया तो भीड़ जुट गई। इसपर पुलिस मजबूरी में उसे थाने ले गई।

पढ़ें :- प्रदेश में 3 आईएएस अधिकारियों के तबादले, डीपीआर हरियाणा को अतिरिक्त कार्यभार

वहां कैब वाले का चालान काटकर युवती के खिलाफ शांतिभंग की कार्रवाई कर दी। रात में युवती को महिला थाने में रखा गया। दूसरे दिन सुबह होश में आने पर उसने बताया कि गोंडा के एक नेता की भतीजी है तो पुलिस वालों के होश उड़ गए। किसी तरह उसके परिजनों को समझाकर पुलिस ने मामले को रफादफा किया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...