1. हिन्दी समाचार
  2. गलवान घाटी में देश के वीर सपूतों ने जो सर्वोच्च बलिदान दिया है वह व्यर्थ नहीं जाएगा: पीएम मोदी

गलवान घाटी में देश के वीर सपूतों ने जो सर्वोच्च बलिदान दिया है वह व्यर्थ नहीं जाएगा: पीएम मोदी

The Supreme Sacrifice Made By The Valiant Sons Of The Country In The Galvan Valley Will Not Go In Vain Pm Modi

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि गलवान घाटी में देश के वीर सपूतों ने जो सर्वोच्च बलिदान दिया है वह व्यर्थ नहीं जाएगा। पीएम ने कहा कि देश के हमारे वीर सपूतों मारते-मारते मरे हैं। पीएम ने गलवान घाटी में चीनी के साथ संघर्ष में शहीद हुए 20 जवानों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी।

पढ़ें :- यूपी उच्चतर शिक्षा Services Commission ने निकाली सहायक प्रोफेसर पदों की वेकेंसी, ऐसे करें अप्लाई

पीएम मोदी ने कोरोना पर देश के 15 मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना महामारी पर आयोजित बैठक में कहा कि देश के जवान मारते-मारते मरे हैं। उन्होंने कहा कि हमारे सपूतों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। पीएम ने कहा कि शहीद जवानों के परिजनों के साथ आज पूरा देश साथ खड़ा है। भारत एक-एक इंच अपनी जमीन की रक्षा करेगा। भारत सांस्कृतिक रूप से एक शांतिप्रिय देश है। हमने हर युग में पूरे संसार में शांति और मानवता के कल्याण की कामना की है। हमने हमेशा से ही अपने पड़ोसियों के साथ मिलकर काम किया है। हमने हमेशा उनके विकास का काम किया है। हमने मतभेद पर हमेशा यह प्रयास किया है कि मतभेद विवाद न बने।

पीएम ने बैठक इस वर्चुअल बैठक में मौजूद सभी मुख्यमंत्रियों से आग्रह किया कि वे दो मिनट का मौन रखकर देश के वीर सपूतों को श्रद्धांजलि दें। श्रद्धांजलि के बाद पीएम मोदी ओउम शांति, ओउम शांति कहा। पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘त्याग और तपस्या हमारे चरित्र का हिस्सा है. विक्रम और वीरता भी हमारे चरित्र का हिस्सा है. देश की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा करने से हमें कोई भी रोक नहीं सकता. इसमें किसी को भी भ्रम नहीं होना चाहिए. भारत शांति चाहता है लेकिन भारत उकसाने पर हर हाल में यथोचित जवाब देने में सक्षम है और हमारे दिवंगत शहीद वीर जवानों के विषय में देश को इस बात का गर्व होगा कि वे मारते-मारते मरे हैं.’

गौरतलब है कि 15 जून की रात लद्दाख की गलवान घाटी में LAC पर चीन और भारत की सेना में हिंसक झड़प हुई है. इस हिंसा में भारत के 20 जवान शहीद हो गए हैं. जानकारी ये भी है कि चीन के करीब 40 जवान हताहत हुए हैं, लेकिन चीन ने अब आधिकारिक तौर पर कोई संख्या नहीं बताई है. साथ ही चीन ने भारत पर ही कार्रवाई का आरोप लगाया है. जबकि भारत ने साफ तौर पर कहा है कि ये पूरी घटना चीन की हिमाकत का नतीजा है.

सीमा पर अब भी तनाव है. हालांकि, बातचीत भी चल रही है. इस बीच पीएम मोदी ने 19 जून को सर्वदलीय बैठक भी बुलाई है. दूसरी तरफ ये भी जानकारी आई है कि चीन के खिलाफ भारत कड़े आर्थिक फैसले कर सकता है. चीनी प्रोजेक्ट को लेकर कड़ाई होगी. उन प्रोजेक्ट को रद्द किया जा सकता है, जिनमें चीनी कंपनियों ने करार हासिल किए है. इनमें मेरठ रैपिड रेल का प्रोजेक्ट भी शामिल है, जिसकी बिड चीनी कंपनी ने हासिल की है.

पढ़ें :- निखरी और Glowing Skin के लिए हर महिला को करना घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल

गलवान घाटी में संघर्ष में भारत के 20 जवान हुए शहीद
बता दें कि सोमवार रात लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई खूनी झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए हैं। इस संघर्ष में चीन के भी 40 जवान मारे गए हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...