1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ऑफ इंडिया की कोर कमेटी का सर्वसम्मति से हुआ फैसला

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ऑफ इंडिया की कोर कमेटी का सर्वसम्मति से हुआ फैसला

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ऑफ इंडिया ( MPLBI ) की राष्ट्रीय कोर कमेटी की मदरसा जमीयतुल कुर्रा में आयोजित बैठक में उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष पद पर पीलीभीत के मौलाना नूर अहमद अज़हरी का सर्वसम्मति से चुनाव किया गया वही किछौछा शरीफ के सैय्यद आरिफ मियां को प्रदेश प्रभारी,बलरामपुर के कारी मोहम्मद नसीम प्रदेश महासचिव,लखनऊ के मौलाना मोहम्मद इस्तियाक को प्रदेश प्रवक्ता पद की जिम्मेदारी दी गयी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ऑफ इंडिया ( MPLBI ) की राष्ट्रीय कोर कमेटी की मदरसा जमीयतुल कुर्रा में आयोजित बैठक में उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष पद पर पीलीभीत के मौलाना नूर अहमद अज़हरी का सर्वसम्मति से चुनाव किया गया वही किछौछा शरीफ के सैय्यद आरिफ मियां को प्रदेश प्रभारी,बलरामपुर के कारी मोहम्मद नसीम प्रदेश महासचिव,लखनऊ के मौलाना मोहम्मद इस्तियाक को प्रदेश प्रवक्ता पद की जिम्मेदारी दी गयी।

पढ़ें :- Muslim Personal Law Board of India ने संविधान के अनुच्छेद 341 व वक्फ एक्ट में संशोधन की मांग

राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना कारी यूसुफ अज़ीज़ी,राष्ट्रीय महासचिव डॉ मुईन अहमद खां व राष्ट्रीय प्रवक्ता रियाजुद्दीन बक्खो सहित बोर्ड के संरक्षक मुफ़्ती-ए-आज़म मौलाना सैय्यद गुलाम जिलानी की मौजूदगी में हुई बैठक में महोबा के मुफ़्ती सैय्यद मोहम्मद आफाक,मकनपुर के मौलाना सैय्यद इंतिखाब आलम,बरेली के मौलाना शहाबुद्दीन व लखनऊ की  राशिदा खातून रिजवान को प्रदेश उपाध्यक्ष,बिलग्राम के मौलाना सैय्यद इसरार,वाराणसी के मौलाना तहसीन,इम्तियाज़ हुसैन को प्रदेश सचिव व सीतापुर के डॉक्टर याकूब खान,बांदा के मोहम्मद आरिफ,गाजीपुर के मोहम्मद शाहनवाज खान को प्रदेश कार्यसमिति का सदस्य नामित किया गया है।

बैठक के बाद उपरोक्त जानकारी देते हुए बोर्ड के राष्ट्रीय महासचिव डॉ मुईन अहमद ख़ां ने बताया कि उत्तर प्रदेश के लिये बोर्ड पदाधिकारियों को कोर कमेटी ने सर्वसम्मति से नामित किया है,इससे देश मे सूफीवादी सुन्नी विचारधारा को मजबूती मिलेगी और सर्वधर्म सद्भाव के अभियान को उत्तर प्रदेश में भी गति मिलेगी क्योंकि बोर्ड कट्टरपंथी सोच के विरुद्ध इस्लाम की समता व ममता पर आधारित सद्भाव,भाईचारे को मजबूत करना चाहता है।

उन्होंने बताया कि 23 व 24 अगस्त को लखनऊ में सम्पन्न हुई राष्ट्रीय कार्यकरणी की बैठक में पारित प्रस्ताव के अंतर्गत देश के वर्तमान हालात से निपटने के लिये धार्मिक सद्भव के लिये संपर्क -संवाद- समन्यव कार्यक्रम के अंतर्गत धर्मिक सद्भाव अभियान की शुरुआत 06 अक्टूबर से राजस्थान के जयपुर से बोर्ड करेगा। इसी के साथ मुस्लिम वक्फ एक्ट व अनुच्छेद 341 में संसोधन व धार्मिक पर्यटन को रोजगारपरक बनाने के लिये सूफी सर्किट की स्थापना की मांग को लेकर देश भर के लोकसभा व राज्यसभा सदस्यों को मांगपत्र भेजने का अभियान भी शुरू करेगा।

पढ़ें :- मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ऑफ इंडिया 'धार्मिक कट्टरता' के विरुद्ध चलाएगा राष्ट्रव्यापी जागरूकता अभियान
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...