महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार बनने का रास्ता साफ, शिवसेना का ही होगा मुख्यमंत्री

shivsena
महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार बनाने का रास्ता साफ, शिवसेना का ही होगा मुख्यमंत्री

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चल रही सियासी अटकलों पर विराम लगने वाला है। राष्ट्रपति शासन के बीच सरकार गठन को लेकर शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच बातचीत लगभग फाइनल हो चुकी है। बताया जा रहा है कि 17 नवंबर को नए सरकार बनाने का ऐलान किया जायेगा।

The Way To Form A Coalition Government In Maharashtra Is Clear Shiv Sena Will Be The Chief Minister :

इसी दिन बाला ठाकरे की पुण्यतिथि है। इसी बीच एनसीपी ने साफ कर दिया है कि राज्य में अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा।  एनसीपी के मुंबई अध्यक्ष नवाब मलिक ने कहा कि, अगला सीएम शिवसेना का होगा। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम उसके आत्मसम्मान को बनाए रखें क्योंकि उसने अपने पुराने गठबंधन को छोड़ा है।

कांग्रेस सरकार का हिस्सा होगी या वह बाहर से हमारा समर्थन करेगी इसका जल्द फैसला होगा। उधर, महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के बीच गठबंधन के बाद संजय राउत के रूख बदले नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कॉमन मिनिमम प्रोग्राम राज्य के हित के लिए बना है।

अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार भी इसी पर आधारित थी। कांग्रेस के साथ गठबंधन के सवाल पर राउत ने कहा कि देश की आजादी में कांग्रेस का योगदान रहा है। हम सभी को साथ लेकर चलेंगे। राउत ने ट्वीट कर कहा, ‘बंदे हैं हम उसके हमपर किसका जोर, उम्मीदों के सूरज निकले चारों ओर।’

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चल रही सियासी अटकलों पर विराम लगने वाला है। राष्ट्रपति शासन के बीच सरकार गठन को लेकर शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच बातचीत लगभग फाइनल हो चुकी है। बताया जा रहा है कि 17 नवंबर को नए सरकार बनाने का ऐलान किया जायेगा। इसी दिन बाला ठाकरे की पुण्यतिथि है। इसी बीच एनसीपी ने साफ कर दिया है कि राज्य में अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा।  एनसीपी के मुंबई अध्यक्ष नवाब मलिक ने कहा कि, अगला सीएम शिवसेना का होगा। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम उसके आत्मसम्मान को बनाए रखें क्योंकि उसने अपने पुराने गठबंधन को छोड़ा है। कांग्रेस सरकार का हिस्सा होगी या वह बाहर से हमारा समर्थन करेगी इसका जल्द फैसला होगा। उधर, महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के बीच गठबंधन के बाद संजय राउत के रूख बदले नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कॉमन मिनिमम प्रोग्राम राज्य के हित के लिए बना है। अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार भी इसी पर आधारित थी। कांग्रेस के साथ गठबंधन के सवाल पर राउत ने कहा कि देश की आजादी में कांग्रेस का योगदान रहा है। हम सभी को साथ लेकर चलेंगे। राउत ने ट्वीट कर कहा, 'बंदे हैं हम उसके हमपर किसका जोर, उम्मीदों के सूरज निकले चारों ओर।'