1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया के इतिहास में सबसे गर्म महीना दर्ज़ हुआ जून, EU सैटेलाइट की रिपोर्ट में आया सामने

दुनिया के इतिहास में सबसे गर्म महीना दर्ज़ हुआ जून, EU सैटेलाइट की रिपोर्ट में आया सामने

The Worlds Warmest Month Was June

By आस्था सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पूरी दुनिया के इतिहास में पिछला जून का महीना आज तक का सबसे गर्म महीना रिकॉर्ड किया गया है। एक उपग्रह डाटा के जरिए एक रिपोर्ट सामने आई है जिसमें पूरी दुनिया के साथ ही पश्चिम यूरोप को रिकार्ड ब्रेकिंग हीटवेव के रूप में दिया गया है। स्टडी से पता चला है कि यूरोप के सामान्य तापमान में 2 डिग्री सेल्सियस तापमान में वृद्धि हुई है। जबकि सम्पूर्ण दुनिया के पिछले जून के तापमान में .01 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज की गई।

पढ़ें :- बिहार चुनाव: जेपी नड्डा ने विपक्ष पर बोला हमला, कहा-आरजेडी अराजकता पर विश्वास करती है

गौरतलब है कि सहारा से लेकर सम्पूर्ण यूरोप में पिछले हफ्ते का हीटवेव ने गर्मी के एक दिन के सारे पिछले रिकॉर्डों को तोड़ दिया। सहारा से चले हीटवेव की वजह से फ्रांस, जर्मनी, उत्तरी स्पेन और इटली के तापमान में 10 डिग्री सेल्सियस तापमान की वृद्धि दर्ज की गयी थी। कोपरनिकस टीम का कहना है कि जलवायु परिवर्तन को लेकर सीधे तौर पर रिकॉर्ड ब्रेकिंग महीना कहना थोड़ा मुश्किल है लेकिन अंतर्राष्ट्रीय वैज्ञानिकों के एक दल ने अपने एक अलग विश्लेषण में बताया है कि ग्लोबल वार्मिंग की वजह से हीटवेव में पांच गुने तक की वृद्धि हुई है।

कॉपरनिकस टीम ने अपने अध्ययन में पाया है कि यूरोप के तापमान में 2019 के जून का तापमान, 1850 से 1900 की तुलना में औसत रूप से तीन डिग्री सेल्सियस तापमान की वृद्धि दर्ज की गई। कापरनिकस टीम के एक सदस्य जीन नोएल थापुत का कहना है कि हमारे आंकडे़ के अनुसार जून के अंतिम सप्ताह के दौरान यूरोप के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र में असामान्य रूप से अधिक तापमान था। उन्होंने कहा कि भविष्य में ग्लोबल वार्मिंग के चलते हम इसमें और अधिक वृद्धि देख सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...