1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. लॉकडाउन का सबसे बुरा असर गरीबों पर पड़ा, उन्हें तत्काल राहत जरूरी: रघुराम राजन

लॉकडाउन का सबसे बुरा असर गरीबों पर पड़ा, उन्हें तत्काल राहत जरूरी: रघुराम राजन

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार से अर्थव्यवस्था और स्वास्थ्य क्षेत्र के विशेषज्ञों के साथ बातचीत की अपनी श्रृंखला शुरू की है। इस श्रृंखला के तहत वह भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की। राजन ने कहा कि हाल कोरोना महामारी ने भारत समेत पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था के सामने बहुत बड़ा संकट खड़ा कर दिया है।

भारत के संदर्भ में बात करते हुए उन्होंने कहा कि हमारे देश में लॉकडाउन के पहले चरण का अर्थव्यवस्था पर ज्यादा असर नहीं पड़ा था। दूसरे चरण से अर्थव्यवस्था पर दबाव बनना शुरु हो जाएगा। इससे निपटने के लिए जिस केंद्रीयकृत प्रणाली का उपयोग किया जा रहा है, वह भी बहुत प्रभावी साबित नहीं होगी।

राहुल गांधी से बातचीत करते हुए रघुराम राजन ने कहा कि केंद्रीयकरण की वजह से चीजें तेजी से आगे नहीं बढ़ पाती हैं। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का सबसे बुरा असर गरीब वर्ग पर पड़ा है, उन्हें तत्काल आर्थिक सहायता देने की जरूरत है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजन के जवाब के माध्यम से पीएम नरेंद्र मोदी को घेरने का प्रयास किया।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और रघुराम राजन के साथ बातचीत के दौरान यह बात निकलकर सामने आई है कि कोरोना संकट के दौरान किए जाने वाले अनियोजित प्रयास अंतत: भारी दबाव निर्मित करेंगे।

दुर्भाग्य की बात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार इस ओर से उदासीन बनी हुई है। ज्ञात हो कि राहुल गांधी अपनी संवाद श्रृंखला के दूसरे चरण में स्वीडन के संक्रामक रोग विशेषज्ञ से कोरोना महामारी पर बात करेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...