दिल्ली में 31 जुलाई तक सवा पांच लाख केस होने की संभावना, चाहिए 80 हजार बेड: मनीष सिसोदिया

manish
दिल्ली सरकार ने कोरोना को लेकर लिया बड़ा फैसला, सभी विश्वविद्यालय की परीक्षाएं रद्द

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेड के खतरे को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल की अगुवाई में मंगलवार को डीडीएमए की बैठक हुई। इस बैठक में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन मौजूद रहे।

There Are Likely To Be Five And A Half Lakh Cases By July 31 In Delhi 80 Thousand Beds Should Be Manish Sisodia :

बैठक के मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर इसी तरह केस बढ़ते रहे तो 31 जुलाई तक पांच लाख से अधिक कोरोना केस हो जाएंगे। बैठक में शामिल होने के बाद डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, ‘मैंने दिल्ली के अस्पतालों को सभी मरीजों के लिए खोलने का मामला उठाया और एलजी साहब से पूछा कि आखिरी सरकार के फैसले को क्यों पलटा गया।

इस पर राज्यपाल साहब कोई जवाब नहीं दे पाएं।’ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, ‘एलजी के फैसले से दिल्लीवालों के सामने संकट खड़ा हो गया है। जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ रहा है, उससे लगता है कि 30 जून तक 15 हजार बेड की जरूरत होगी और 31 जुलाई तक 80 हजार बेड की जरूरत होगी।

31 जुलाई तक 5 लाख से अधिक केस हो सकते हैं।’ वहीं, डिजास्टर मैनेजमेंट की बैठक के बाद उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दोपहर 3 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बैठक में कोरोना के मौजूदा हालात और इसे रोकने के उपायों पर चर्चा की जाएगी। इस बैठक में आम आदमी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेता शामिल हो सकते हैं।

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेड के खतरे को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल की अगुवाई में मंगलवार को डीडीएमए की बैठक हुई। इस बैठक में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन मौजूद रहे। बैठक के मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर इसी तरह केस बढ़ते रहे तो 31 जुलाई तक पांच लाख से अधिक कोरोना केस हो जाएंगे। बैठक में शामिल होने के बाद डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, 'मैंने दिल्ली के अस्पतालों को सभी मरीजों के लिए खोलने का मामला उठाया और एलजी साहब से पूछा कि आखिरी सरकार के फैसले को क्यों पलटा गया। इस पर राज्यपाल साहब कोई जवाब नहीं दे पाएं।' डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, 'एलजी के फैसले से दिल्लीवालों के सामने संकट खड़ा हो गया है। जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ रहा है, उससे लगता है कि 30 जून तक 15 हजार बेड की जरूरत होगी और 31 जुलाई तक 80 हजार बेड की जरूरत होगी। 31 जुलाई तक 5 लाख से अधिक केस हो सकते हैं।' वहीं, डिजास्टर मैनेजमेंट की बैठक के बाद उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दोपहर 3 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बैठक में कोरोना के मौजूदा हालात और इसे रोकने के उपायों पर चर्चा की जाएगी। इस बैठक में आम आदमी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेता शामिल हो सकते हैं।