1. हिन्दी समाचार
  2. कांग्रेस नेतृत्व को लेकर पार्टी में घमासान जारी, सिब्बल बोले-किसी ने नहीं दिया साथ, चिंताएं नहीं हुईं दूर

कांग्रेस नेतृत्व को लेकर पार्टी में घमासान जारी, सिब्बल बोले-किसी ने नहीं दिया साथ, चिंताएं नहीं हुईं दूर

There Has Been A Fierce Battle In The Party Over The Congress Leadership Sibal Said No One Gave Support Worries Did Not Go Away

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के अंदर नेतृत्व को लेकर घमासान जारी है। सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले 23 नेताओं पर पार्टी के लोग ही निशाना साध रहे हैं। वहीं, इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में उनके द्वारा जताई गई चिंताओं पर न तो बात हुई और न ही उसे साझा किया गया।

पढ़ें :- गूगल की Gmail यूर्जस को चेतावनी, शर्तें और नियम ना मानने पर बन्द हो जाएंगी ये सुविधायें

इतना ही नहीं जब पत्र लिखने वाले नेताओं पर हमला हुआ तब कोई भी नेता बीच में नहीं आया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को एक पूर्णकालिक अध्यक्ष की जरूरत है। ऐसे में पत्र में लिखी गई चिंताओं का जल्द से जल्द समाधाना होना चाहिए। सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस अक्सर बीजेपी पर संविधान का पालन नहीं करने का आरोप लगाती है।

इसके साथ ही लोकतंत्र की नींव को नष्ट करने का आरोप लगाकर घेरने का काम करती है। लेकिन कांग्रेस नेता ने कहा, ‘हम क्या चाहते हैं? हम अपने (पार्टी के) संविधान का पालन करना चाहते हैं। उस पर आपत्ति कौन कर सकता है।’

एक अंग्रेजी अखबार को दिए साक्षात्कार में कपिल सिब्बल ने कहा, ‘इस देश में राजनीति, मैं किसी पार्टी विशेष की बात नहीं करता, अब मुख्य रूप से वफादारी पर आधारित है। हमें वह चीज चाहिए जो वफादारी प्लस कहलाती है। वह प्लस क्या है? वह प्लस योग्यता, समावेशिता, कारण के प्रति प्रतिबद्धता और उस प्लस को सुनने और संवाद करने में सक्षम होने के बारे में है। यही राजनीति होनी चाहिए।’

पढ़ें :- किसान आंदोलन : कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का दावा, जल्द समाप्त होगा किसानों का प्रदर्शन

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...