1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. पैसों की हो रही है किल्लत, तो एकादशी के दिन जरूर करें ये काम

पैसों की हो रही है किल्लत, तो एकादशी के दिन जरूर करें ये काम

हिन्दू शास्त्रों में एकादशी का व्रत बहुत पुण्यदायी माना गया है। सालभर में कुल 24 एकादशी होती हैं और सभी के अलग-अलग नाम और महत्व हैं। कहा जाता है कि इन एकादशी का व्रत रखने से पाप, कष्ट, रोग, दुख आदि दूर होते हैं और व्यक्ति मोक्ष की ओर अग्रसर होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल ज्येष्ठ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को अपरा एकादशी व्रत रहा जाता है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

There Is A Shortage Of Money So Do This Work On Ekadashi

नई दिल्ली: हिन्दू शास्त्रों में एकादशी का व्रत बहुत पुण्यदायी माना गया है। सालभर में कुल 24 एकादशी होती हैं और सभी के अलग-अलग नाम और महत्व हैं। कहा जाता है कि इन एकादशी का व्रत रखने से पाप, कष्ट, रोग, दुख आदि दूर होते हैं और व्यक्ति मोक्ष की ओर अग्रसर होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल ज्येष्ठ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को अपरा एकादशी व्रत रहा जाता है।

पढ़ें :- आज है विनायक चतुर्थी का पर्व, जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

इस बार अपरा एकादशी 6 जून यानी आज मनाई जा रही है। ये एकादशी अपार पुण्य देने वाली और अपार धन देने वाली मानी जाती है। मान्यता है कि इस दिन व्रत रखने से व्यक्ति द्वारा अंजाने में किए गए पापों से मुक्ति मिलती है और उसके जीवन में सौभाग्य का आगमन होता है। चूंकि शास्त्रों में एकादशी का दिन बहुत पावन माना गया है, इसलिए माना जाता है कि इस दिन किए गए उपाय काफी कारगर साबित होते हैं।

ये है शुभ मुहूर्त एकादशी

  • व्रत तिथि : 6 जून 2021, रविवार
  • एकादशी तिथि शुरू : 5 जून 2021, शनिवार सुबह 04ः07 बजे
  • एकादशी तिथि समाप्त : 6 जून 2021, रविवार सुबह 06ः19
  • व्रत पारण शुभ मुहूर्त : 7 जून 2021 सुबह 05ः12 से लेकर सुबह 07ः59 बजे त

घर में सुख-शांति बनाए रखने के लिए

अगर आपके घर में आए दिन क्लेश आदि बना रहता है तो नारायण के साथ माता लक्ष्मी की भी पूजा करें। साथ ही विष्णु यंत्र की भी पूजा करें। इसके बाद श्रीमद्भागवत का पाठ करें और भगवान से अपने घर में सुख- शांति बनाए रखने के लिए प्रार्थना करें। इससे भगवान का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

कर्ज से मुक्ति के लिए

कोरोना काल ने बहुत से लोगों को सड़क पर लाकर खड़ा कर दिया। तमाम लोगों की नौकरियां छूट गई हैं और कई लोगों के व्यवसाय ठप पड़े हैं। ऐसे में तमाम लोगों पर बेइंतहां कर्ज का बोझ है। यदि आपके साथ भी कुछ ऐसा है तो आप पीपल के वृक्ष पर मीठा जल चढ़ाएं और शाम के समय पीपल के नीचे दीपक जलाएं। संभव हो तो ऐसा हर एकादशी पर करें। जल्द ही आप पर श्रीहरि की कृपा होने लगेगी।

आर्थिक संकट दूर करने के लिए

एकादशी के दिन सुबह के समय भगवान विष्णु की पूजा करते समय कुछ रुपए निकाल कर नारायण और माता लक्ष्मी की तस्वीर के सामने रखें। सारी पूजा विधिवत करें उसके बाद नारायण और मां लक्ष्मी से घर पर आर्थिक कष्ट दूर करने की प्रार्थना करें और उन पैसों को प्रसाद स्वरूप अपनी तिजोरी, पर्स या किसी ऐसे स्थान पर रख दें, जहां धन रखा जाता है। कुछ ही दिनों में दिन बदलते नजर आने लगेंगे।

पढ़ें :- हर महिला को जान लेनी चाहिए यह बात, क्या मासिक धर्म के दौरान व्रत करना चाहिए?

सौभाग्य प्राप्ति के लिए

यदि आपका भाग्य साथ नहीं देता और आपके काम बनते-बनते बिगड़ जाते हैं तो आप एकादशी के दिन नारायण और मां लक्ष्मी की तस्वीर रखकर दक्षिणावर्ती शंख से नारायण का अभिषेक करें। नारायण को पंचामृत और पीली वस्तुएं और माता लक्ष्मी को खीर का भोग लगाएं। सच्चे मन से पूजा करें और इसके बाद प्रभु से अपना साथ बनाए रखने की प्रार्थना करें. आपका बुरा समय खत्म होने लगेगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X