नए भारत में रूकने और थकने का कोई सवाल ही नहीं : पीएम मोदी

pm narendra modi
पीएम मोदी आज UNGA में करेंगे संबोधन

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मौजूदा वक्त पेरिस दौरे पर हैं। जहां शुक्रवार को उन्होने भारतीय समुदाय के लोगों को सम्बोधित किया। उन्होने इस दौरान कहा कि भारत और फ्रांस के बीच सैकड़ो वर्ष पुराने सम्बंध है और दोस्ती का मतलब सुख—दुख में एक—दूसरे का साथ देना होता है। उन्होने आगे कहा कि हमारी दोस्ती किसी स्वार्थ पर नहीं, बल्कि लिबर्टी, इक्वलिटी और फ्रेटरनिटी के ठोस आदर्शों पर टिकी है।

There Is No Question Of Staying In New India And Being Tired Says Pm Modi :

कार्यक्रम में मौजूद हजारों लोगों को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने पिछले पांच सालों में कुछ ऐसे लक्ष्य रखे जो पहले नामुमकिन माने जाते थे। नए भारत में थकने और रुकने का सवाल ही नहीं खड़ा होता है। ये कार्यक्रम यूनेस्को मुख्यालय में था, जहां उन्होने कहा कि नए भारत में भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद, जनता के धन की लूट और आतंकवाद पर शिकंजा कस रहा है। भारत 2030 के लिए तय किए जलवायु परिवर्तन के अधिकतर लक्ष्यों को अगले डेढ़ साल में हासिल कर लेगा।

पीएम मोदी ने कहा कि जब भारत या फ्रांस को कोई उपलब्धि प्राप्त होती है तो हम एक दूसरे के लिए खुश होते हैं। भारत में फ्रांस की फुटबॉल टीम के समर्थकों की संख्या शायद जितनी फ्रांस में नही होगी, उससे ज्यादा भारत में होगी।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मौजूदा वक्त पेरिस दौरे पर हैं। जहां शुक्रवार को उन्होने भारतीय समुदाय के लोगों को सम्बोधित किया। उन्होने इस दौरान कहा कि भारत और फ्रांस के बीच सैकड़ो वर्ष पुराने सम्बंध है और दोस्ती का मतलब सुख—दुख में एक—दूसरे का साथ देना होता है। उन्होने आगे कहा कि हमारी दोस्ती किसी स्वार्थ पर नहीं, बल्कि लिबर्टी, इक्वलिटी और फ्रेटरनिटी के ठोस आदर्शों पर टिकी है। कार्यक्रम में मौजूद हजारों लोगों को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने पिछले पांच सालों में कुछ ऐसे लक्ष्य रखे जो पहले नामुमकिन माने जाते थे। नए भारत में थकने और रुकने का सवाल ही नहीं खड़ा होता है। ये कार्यक्रम यूनेस्को मुख्यालय में था, जहां उन्होने कहा कि नए भारत में भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद, जनता के धन की लूट और आतंकवाद पर शिकंजा कस रहा है। भारत 2030 के लिए तय किए जलवायु परिवर्तन के अधिकतर लक्ष्यों को अगले डेढ़ साल में हासिल कर लेगा। पीएम मोदी ने कहा कि जब भारत या फ्रांस को कोई उपलब्धि प्राप्त होती है तो हम एक दूसरे के लिए खुश होते हैं। भारत में फ्रांस की फुटबॉल टीम के समर्थकों की संख्या शायद जितनी फ्रांस में नही होगी, उससे ज्यादा भारत में होगी।