1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कोरोना मरीजों के इलाज में किसी तरह की कमी नहीं होनी चाहिए : सीएम योगी

कोरोना मरीजों के इलाज में किसी तरह की कमी नहीं होनी चाहिए : सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना के मरीजों के उपचार में किसी तरह की कमी नहीं होनी चाहिए। मरीजों को बेहतर इलाज मिलना चाहिये। उन्होंने अधिकारियों को मरीजों के उपचार में बेहतर उपचार मुहैया कराने का कडा निर्देश दिया।

By शिव मौर्या 
Updated Date

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना के मरीजों के उपचार में किसी तरह की कमी नहीं होनी चाहिए। मरीजों को बेहतर इलाज मिलना चाहिये।

पढ़ें :- कालाधन लाने गए हैं आरपीएन सिंह, बीजेपी में शामिल होने पर कांग्रेस ने वीडियो शेयर कर कसा तंज

श्री योगी शुक्रवार को प्रयागराज के परेड मैदान में स्थापित आइट्रिपलसी सभागार में कोरोना से बचाव के लिए हो रहे प्रयासों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को मरीजों के उपचार में बेहतर उपचार मुहैया कराने का कडा निर्देश दिया। अधिकारियों से कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए अन्‍य अस्पतालों को भी रिजर्व करें। कोरोना के मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराएं।

उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जो सुविधाएं चाहिए, आप डिमांड करें उसे पूरा किया जाएगा। मरीजों के इलाज में किसी तरह की कमी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने जांच का भी दायरा बढ़ाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि मास्क पहनने, फिजिकल डिस्टेंस का पालन करने और सैनिटाइज करने के लिए लोगों को प्रेरित करें लेकिन उनके साथ कोई दुर्व्‍यवहार न किया जाए। कांटेक्ट ट्रेसिंग का भी दायरा बढ़ाया जाए। बचाव और इलाज के लिए जो भी संभव हो, सभी तरह के प्रयास करें। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने बैठक के बाद स्वरूपरानी नेहरु अस्पताल (एसआरएन) के कोविड वार्ड का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होने कहा कि कोरोना के मरीजों के डाक्टर शालीनता से पेश आए। ऐसा कोई काम न करें, उनको परेशानी हो। जो भी गंभीर मरीज हैं, उनको भर्ती करें और पूरा इलाज करें।

उन्होंने कहा कि कोविड का नया डेडीकेटेड अस्पताल तैयार करना चाहिए। चौराहों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम को और मजबूत करना चाहिए। पुलिस यदि चालान करती है,तब सद्भाव के जनता के साथ सहानुभूतिपूर्वक व्यवहार करे। प्रयागराज में आरटीपीसीआर की टेस्टिंग 60 से 70 प्रतिशत होनी चाहिए। आने वाले तीन-चार दिनों में टेस्टिंग का लेबल 20 तक पहुंचाने का प्रयास होना चाहिए।

पढ़ें :- आरपीएन सिंह के पार्टी छोड़ने पर कांग्रेस ने कसा तंज, बोली-'कायर नहीं लड़ सकते इस लड़ाई को '

इस दौरान भाजपा विधायक संजय गुप्ता ने कहा कि अनुपात के लिहाज से कोरोना संक्रमण में प्रयागराज नम्बर वन पर हो गया है। उन्होंने बताया कि इसकी गंभीरता को लेकर एल-1, एल-2 और एस-3, एम्बुलेंस और डाक्टरों की पूरी समीक्षा करते हुए वैक्सीनेशन पर जोर दिया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...