भदोही में मरकज मस्जिद में जमातियों के संपर्क में आए आस-पास के नागरिकों की थर्मल स्क्रीनिग कराई गई

HY20HEAT

भदोही : काजीपुर स्थित मरकज मस्जिद में जमातियों के संपर्क में आए आस-पास के नागरिकों की थर्मल स्क्रीनिग कराई गई। जांच के दौरान किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले। पुलिस की कड़ी चेतावनी है कि जमातियों के संपर्क में आए हों अथवा न आए हों लेकिन मस्जिद में जरूर गए होंगे। ऐसे लोग खुद को सुरक्षित करने लिए अपनी जांच करा लें अन्यथा मामला खुलने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही जिले भर में सक्रिय 30 जमातियों को भी चिह्नित कर लिया गया है। उनकी कुंडली खंगाली जा रही है।

Thermal Screening Of Nearby Citizens Who Came In Contact With The Jamaatis In The Markaz Mosque In Bhadohi :

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज मस्जिद में जुटे तब्लीगी जमात के लोगों ने पूरे देश में कोरोना वायरस के आंकड़े को दो गुना से अधिक कर दिया। काजीपुर स्थित मरकज मस्जिद में 28 दिनों से छिपे 11 बांग्लादेशी सहित 14 के अलावा सात संरक्षणदाताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ ही वीजा शर्तों का उल्लंघन करने के आरोप में जमातियों को जेल भी भेजने की तैयारी चल रही है।

उच्चाधिकारियों के बार-बार अपील किए जाने के बाद भी आस-पास के लोग जांच कराने को तैयार नहीं हो रहे थे। पुलिस ने शिकंजा कसा तो मस्जिद के आस-पास रहने वाले 35 नागरिकों ने थर्मल स्क्रीनिग कराई। अस्पताल के चिकित्सक डा. वीके मौर्या ने बताया कि सोमवार को 58 लोगों की थर्मल स्क्रीनिग की गई जिनमें से 35 मरकज मस्जिद और मदरसे के आस-पास के लोग शामिल थे। बताया कि जांच में किसी को कोई दिक्कत नहीं है। अपनी सुरक्षा को लेकर लोगों को जांच करानी चाहिए। इससे महामारी पर काबू पाया जा सकता है।

भदोही : काजीपुर स्थित मरकज मस्जिद में जमातियों के संपर्क में आए आस-पास के नागरिकों की थर्मल स्क्रीनिग कराई गई। जांच के दौरान किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले। पुलिस की कड़ी चेतावनी है कि जमातियों के संपर्क में आए हों अथवा न आए हों लेकिन मस्जिद में जरूर गए होंगे। ऐसे लोग खुद को सुरक्षित करने लिए अपनी जांच करा लें अन्यथा मामला खुलने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही जिले भर में सक्रिय 30 जमातियों को भी चिह्नित कर लिया गया है। उनकी कुंडली खंगाली जा रही है।

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज मस्जिद में जुटे तब्लीगी जमात के लोगों ने पूरे देश में कोरोना वायरस के आंकड़े को दो गुना से अधिक कर दिया। काजीपुर स्थित मरकज मस्जिद में 28 दिनों से छिपे 11 बांग्लादेशी सहित 14 के अलावा सात संरक्षणदाताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ ही वीजा शर्तों का उल्लंघन करने के आरोप में जमातियों को जेल भी भेजने की तैयारी चल रही है।

उच्चाधिकारियों के बार-बार अपील किए जाने के बाद भी आस-पास के लोग जांच कराने को तैयार नहीं हो रहे थे। पुलिस ने शिकंजा कसा तो मस्जिद के आस-पास रहने वाले 35 नागरिकों ने थर्मल स्क्रीनिग कराई। अस्पताल के चिकित्सक डा. वीके मौर्या ने बताया कि सोमवार को 58 लोगों की थर्मल स्क्रीनिग की गई जिनमें से 35 मरकज मस्जिद और मदरसे के आस-पास के लोग शामिल थे। बताया कि जांच में किसी को कोई दिक्कत नहीं है। अपनी सुरक्षा को लेकर लोगों को जांच करानी चाहिए। इससे महामारी पर काबू पाया जा सकता है।