आपके वैवाहिक जीवन को खुशियों से भर देंगी ये 10 बातें

romantic-boy

शादी दो आत्माओं का मिलन है और उस मिलन में आपसी प्रेम भाव को खुलकर एक्प्रेस करना भी उतना जरूरी हो जाता है जितना शादी की रस्मों को ठीक से करना होता है। पति -पत्नी के संबधों में सेक्स का विशेष महत्व है इसके इलावा आपके विवाहिक जीवन में सेक्स विशेष महत्व रखता है।

These 10 Things Will Fill Your Marriage With Happiness :

शादी-शुदा जिन्दगी को बेहतर बनाती है ये बातें:

सेक्स का मतलब सिर्फ़ अपनी इच्छा से करने तक सीमित नहीं होता बल्कि उसमें पत्नी की मर्जी से ही शामिल होना बहुत जरूरी होता है और सेक्स दोनों की मर्जी से होना चाहिए।

जब भी दोनों अकेले हों तो पत्नी को अपनी बाहों में भर लें, क्योंकि उसे पति की बाहें दुनिया की सबसे महफूज जगह लगती है और पत्नी कितनी भी नराज हो पत्नी सब भूल जाएंगी।

जब आप दोनों एक ही कमरे में हो तो मन में किसी तरह का तनाव नहीं रखना चाहिए। अगर मन में किसी भी तरह की शंका है तो उसे दूर कर लें क्योंकि तनाव आपको कभी भी सेक्स का आनंद नहीं उठाने देगा।

नजदीक आने पर एक-दूसरे के बारे में ही बातें करें किसी तीसरे इंसान को अपने बीच न लाएं। ऐसी बातें न करें जिससे किसी एक को भी गुस्सा आता हो।

अपने साथी के साथ शरारत भरी बातें करें और उनसे छेड़खानी करें कोई भी बात कहने से शर्मिंदगी महसूस ना करें जितना आप एक दुसरे से बातें करेंगे उतना ही आप एक दुसरे के नजदीक आएंगे।

झगड़े के बाद नजदीक आने पर पत्नी जो भी बोले उसका सोच समझ कर जवाब जरूर दें। एक-दूसरे को समझना ज्यादा बेहतर होता है।

बंद कमरे में जाते ही तुरंत सेक्स के लिए फ़ोर्स मत करें इससे गलत असर पड़ता है। बातें करें एक-दूसरे की सहमती जानें।

शादी दो आत्माओं का मिलन है और उस मिलन में आपसी प्रेम भाव को खुलकर एक्प्रेस करना भी उतना जरूरी हो जाता है जितना शादी की रस्मों को ठीक से करना होता है। पति -पत्नी के संबधों में सेक्स का विशेष महत्व है इसके इलावा आपके विवाहिक जीवन में सेक्स विशेष महत्व रखता है।शादी-शुदा जिन्दगी को बेहतर बनाती है ये बातें:सेक्स का मतलब सिर्फ़ अपनी इच्छा से करने तक सीमित नहीं होता बल्कि उसमें पत्नी की मर्जी से ही शामिल होना बहुत जरूरी होता है और सेक्स दोनों की मर्जी से होना चाहिए।जब भी दोनों अकेले हों तो पत्नी को अपनी बाहों में भर लें, क्योंकि उसे पति की बाहें दुनिया की सबसे महफूज जगह लगती है और पत्नी कितनी भी नराज हो पत्नी सब भूल जाएंगी।जब आप दोनों एक ही कमरे में हो तो मन में किसी तरह का तनाव नहीं रखना चाहिए। अगर मन में किसी भी तरह की शंका है तो उसे दूर कर लें क्योंकि तनाव आपको कभी भी सेक्स का आनंद नहीं उठाने देगा।नजदीक आने पर एक-दूसरे के बारे में ही बातें करें किसी तीसरे इंसान को अपने बीच न लाएं। ऐसी बातें न करें जिससे किसी एक को भी गुस्सा आता हो।अपने साथी के साथ शरारत भरी बातें करें और उनसे छेड़खानी करें कोई भी बात कहने से शर्मिंदगी महसूस ना करें जितना आप एक दुसरे से बातें करेंगे उतना ही आप एक दुसरे के नजदीक आएंगे।झगड़े के बाद नजदीक आने पर पत्नी जो भी बोले उसका सोच समझ कर जवाब जरूर दें। एक-दूसरे को समझना ज्यादा बेहतर होता है।बंद कमरे में जाते ही तुरंत सेक्स के लिए फ़ोर्स मत करें इससे गलत असर पड़ता है। बातें करें एक-दूसरे की सहमती जानें।