डेंगू-मलेरिया के मच्छरों को घर से दूर भगाने के लिए लगाएं ये पौधे

डेंगू-मलेरिया के मच्छर
डेंगू-मलेरिया के मच्छरों को घर से दूर भगाने के लिए लगाएं ये पौधे

लखनऊ। मानसून और अच्छे मौसम का मजा लेने के लिए सभी अपनी बालकनी बैठेते हैं लेकिन वहां पहले से मौजूद मच्छर बारिश का सुनहरी शाम का मज़ा किरकिरा कर देते हैं गौर करने वाली बात यह है कि यही वो मौसम होता है जब डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मच्छर का आतंक सबसे ज्यादा होता है। अक्सर अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही होता है तो टेंशन छोड़ इनसे निपटने के लिए घर की बालकनी में ये पांच पौधे लगाएं। ये पौधे न सिर्फ आपको इन खूनी दुश्मनों से दूर रखेंगे बल्कि बारिश का मजा भी दोगुना कर देंगे।

These 5 Plants Keep Dengue Malaria Chikungunya Mosquitoes Away Naturally :

रोजमेरी

  • रोजमेरी अपने आप में एक प्राकृतिक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट है।
  • इनके फूलों का रंग नीला होता है।
  • मच्छरों से बचने के लिए रोजमेरी मॉस्किटो रिप्लीयन्ट की 4 बूंदों को 1 चौथाई जैतून के तेल के साथ मिलकर भी लगाया जा सकता है।

सिट्रोनेला ग्रास

  • सिट्रोनेला ग्रास मच्छरों को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है।
  • इस ग्रास से निकलने वाला सिट्रोनेला ऑयल मोमबत्तियों, परफ्यूम्स, लैम्प्स आदि हर्बल प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल किया जाता है। खास बात यह है कि सिट्रोनेला ग्रास डेंगू पैदा करने वाले एडीज एजिप्टी मच्छरों को भी आपसे दूर रखने में मदद करती है।

गेंदा

  • गेंदें के फूलों में पाई जाने वाली गंध मक्खी- मच्छरों को पसंद नहीं होती है।
  • गेंदें के पौधे अफ्रीकन और फ्रेंच दो तरह के होते हैं ये दोनों ही मॉस्किटो रिप्लीयन्ट हैं।
  • गेंदे के फूल पीले से डार्क ऑरेंज और लाल रंग के होते हैं।

तुलसी

  • तुलसी का पौधा भी एक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट है।
  • तुलसी एक ऐसी जड़ी बूटी है जो कि अपने आप ही अपनी खुशबु फैलाती है।
  • मच्छरों को दूर रखने के लिए तुलसी को गमले में उगाकर बालकनी में रखें।

लैवेंडर

  • मच्छरों को दूर रखने के लिए लैवेंडर सबसे शानदार पौधा है।
  • लैवेंडर आसानी से उग जाता है और इसे ज्यादा देखभाल की जरूरत भी नहीं पड़ती है।
  • यह पौधा 4 फीट तक उगता है।
  • केमिकल फ्री मॉस्किटो सोल्युशन बनाने के लिए लैवेंडर ऑयल को पानी में मिलाकर सीधे स्किन पर लगा सकते हैं।
लखनऊ। मानसून और अच्छे मौसम का मजा लेने के लिए सभी अपनी बालकनी बैठेते हैं लेकिन वहां पहले से मौजूद मच्छर बारिश का सुनहरी शाम का मज़ा किरकिरा कर देते हैं गौर करने वाली बात यह है कि यही वो मौसम होता है जब डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मच्छर का आतंक सबसे ज्यादा होता है। अक्सर अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही होता है तो टेंशन छोड़ इनसे निपटने के लिए घर की बालकनी में ये पांच पौधे लगाएं। ये पौधे न सिर्फ आपको इन खूनी दुश्मनों से दूर रखेंगे बल्कि बारिश का मजा भी दोगुना कर देंगे। रोजमेरी
  • रोजमेरी अपने आप में एक प्राकृतिक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट है।
  • इनके फूलों का रंग नीला होता है।
  • मच्छरों से बचने के लिए रोजमेरी मॉस्किटो रिप्लीयन्ट की 4 बूंदों को 1 चौथाई जैतून के तेल के साथ मिलकर भी लगाया जा सकता है।
सिट्रोनेला ग्रास
  • सिट्रोनेला ग्रास मच्छरों को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है।
  • इस ग्रास से निकलने वाला सिट्रोनेला ऑयल मोमबत्तियों, परफ्यूम्स, लैम्प्स आदि हर्बल प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल किया जाता है। खास बात यह है कि सिट्रोनेला ग्रास डेंगू पैदा करने वाले एडीज एजिप्टी मच्छरों को भी आपसे दूर रखने में मदद करती है।
गेंदा
  • गेंदें के फूलों में पाई जाने वाली गंध मक्खी- मच्छरों को पसंद नहीं होती है।
  • गेंदें के पौधे अफ्रीकन और फ्रेंच दो तरह के होते हैं ये दोनों ही मॉस्किटो रिप्लीयन्ट हैं।
  • गेंदे के फूल पीले से डार्क ऑरेंज और लाल रंग के होते हैं।
तुलसी
  • तुलसी का पौधा भी एक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट है।
  • तुलसी एक ऐसी जड़ी बूटी है जो कि अपने आप ही अपनी खुशबु फैलाती है।
  • मच्छरों को दूर रखने के लिए तुलसी को गमले में उगाकर बालकनी में रखें।
लैवेंडर
  • मच्छरों को दूर रखने के लिए लैवेंडर सबसे शानदार पौधा है।
  • लैवेंडर आसानी से उग जाता है और इसे ज्यादा देखभाल की जरूरत भी नहीं पड़ती है।
  • यह पौधा 4 फीट तक उगता है।
  • केमिकल फ्री मॉस्किटो सोल्युशन बनाने के लिए लैवेंडर ऑयल को पानी में मिलाकर सीधे स्किन पर लगा सकते हैं।