रोज़मर्रा की इन आदतों से हो सकता ब्रेन डैमेज और ब्रेन ट्यूमर

girl
रोज़मर्रा की इन आदतों से हो सकता ब्रेन डैमेज और ब्रेन ट्यूमर
लखनऊ। मस्तिष्क हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा है। जो हमें कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है। अगर मस्तिष्क में कोई भी परेशानी आती इसका असर हमारे विचार, स्मृति, संवेदना पर पड़ता है। इसलिए हमें अपने मस्तिष्क का खास ख्याल रखना चाहिए। अक्सर हम अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में कुछ ऐसे कार्य करते हैं जिसके करने से हमें ब्रेन डैमेज या ब्रेन ट्यूमर हो सकता है। आइए जानते है वो कौन से कार्य हैं जिसकी लापरवाही के चलते हमें मस्तिष्क से जुड़ी ये बीमारी होती है।

These Daily Habits Can Cause Brain Damage And Brain Tumors :

ये हैं वो चार आदतें:

नमक: जामा न्यूरॉलौजी के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया कि नमक के अधिक सेवन से बल्ड प्रेशर बढ़ता है जिसके कारण याददाश्त में कमी और ब्रेन स्ट्रोक हो सकता है। इस स्ट्रोक के कारण आपके मस्तिष्क को बेहद नुकसान पहुंच सकता है।

सुबह का नाश्ता: अक्सर जल्दबाजी के चक्कर में ज़्यादातर लोग सुबह का नाश्ता करना भूल जाते हैं। जिसके ना करने से आपके मस्तिष्क को प्राप्त पोषक तत्व नहीं मिलते हैं। जिसके कारण काम पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। यही नहीं बल्कि यह हमारे मस्तिष्क को सही तरीके से काम करने से भी रोकता है, और आगे चलकर ब्रेन डैमेज जैसी समस्या भी आ सकती है।

अत्यधिक खाना खाना: ज्यादा खाने से न वजन तो बढ़ता ही है, साथ ही आपके मस्तिष्क की कार्य क्षमता घटती है। कैलोरी के अधिक सेवन से किसी व्यक्ति में स्मृति हानि होने की संभावना बढ़ जाती है।

फोन का इस्तेमाल: इसके इस्तेमाल से नींद न आना और अवसाद जैसी गंभीर बिमारी हो सकती है। यही नहीं बल्कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने एक अध्ययन में बताया है कि ज्यादा फोन के संपर्क में रहने से पर ब्रेन ट्यूमर होने की संभावना बढ़ जाती है।

लखनऊ। मस्तिष्क हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा है। जो हमें कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है। अगर मस्तिष्क में कोई भी परेशानी आती इसका असर हमारे विचार, स्मृति, संवेदना पर पड़ता है। इसलिए हमें अपने मस्तिष्क का खास ख्याल रखना चाहिए। अक्सर हम अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में कुछ ऐसे कार्य करते हैं जिसके करने से हमें ब्रेन डैमेज या ब्रेन ट्यूमर हो सकता है। आइए जानते है वो कौन से कार्य हैं जिसकी लापरवाही के चलते हमें मस्तिष्क से जुड़ी ये बीमारी होती है। ये हैं वो चार आदतें:
नमक: जामा न्यूरॉलौजी के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया कि नमक के अधिक सेवन से बल्ड प्रेशर बढ़ता है जिसके कारण याददाश्त में कमी और ब्रेन स्ट्रोक हो सकता है। इस स्ट्रोक के कारण आपके मस्तिष्क को बेहद नुकसान पहुंच सकता है। सुबह का नाश्ता: अक्सर जल्दबाजी के चक्कर में ज़्यादातर लोग सुबह का नाश्ता करना भूल जाते हैं। जिसके ना करने से आपके मस्तिष्क को प्राप्त पोषक तत्व नहीं मिलते हैं। जिसके कारण काम पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। यही नहीं बल्कि यह हमारे मस्तिष्क को सही तरीके से काम करने से भी रोकता है, और आगे चलकर ब्रेन डैमेज जैसी समस्या भी आ सकती है। अत्यधिक खाना खाना: ज्यादा खाने से न वजन तो बढ़ता ही है, साथ ही आपके मस्तिष्क की कार्य क्षमता घटती है। कैलोरी के अधिक सेवन से किसी व्यक्ति में स्मृति हानि होने की संभावना बढ़ जाती है। फोन का इस्तेमाल: इसके इस्तेमाल से नींद न आना और अवसाद जैसी गंभीर बिमारी हो सकती है। यही नहीं बल्कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने एक अध्ययन में बताया है कि ज्यादा फोन के संपर्क में रहने से पर ब्रेन ट्यूमर होने की संभावना बढ़ जाती है।