अब नए साल में नहीं दिखेंगी इन पांच कंपनियों की ये मशहूर कारें !

स्कॉर्पियो

These Newcomers Will Not Be Seen In The New Year These Famous Cars

कार बनाने वाली कंपनियां वैसे तो हर साल अपने नए-नए मॉडल्स को बाजार में पेश करती हैं इसके साथ ही कई कार मॉडल्स का उत्पादन भी बंद कर देती हैं। साल 2017 के साथ-साथ कई कारों का भी सफर खत्म होनेवाला है। इन कारों की बिक्री में आई गिरावट को इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह बताई जा रही है। हालांकि इन कारों की जगह दूसरे मॉडल्स की कई कारें भी नए साल में मार्केट में उतारी जाएंगी। इसी कड़ी में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कारें जो बंद हो गई।

पांच कंपनियों की उन कारों के बारे में, जिनका प्रोडक्शन बंद किया जा रहा है और नए साल से ये कारें भारतीय बाजारों से गायब हो जाएंगी।

कारें जो बंद हो गई –

मारुति सुजुकी रिट्ज

भारत की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने अपनी मशहूर कारों में से एक रिट्ज की बिक्री डोमेस्टिक और इंटरनेशनल मार्केट्स में बंद कर दी है। साल 2009 से अब तक रिट्ज के करीब 4 लाख यूनिट्स बेचे जा चुके हैं।

होंडा मोबि‍लि‍यो

जापान की कार कंपनी होंडा ने अपने मल्टी पर्पस व्हीकल मोबिलियो की भारत में बिक्री बंद कर दी है। बताया जाता है कि 31 महीने पहले ही इस मॉडल को लॉन्च किया गया था लेकिन खराब डिमांड की वजह से अब इसकी बिक्री और प्रोडक्शन दोनों को ही बंद कर दिया गया है।

रेनो की कई कारें

रेनो कंपनी ने भी अपनी कई कारों के प्रोडक्शन को बंद कर दिया है। 2015 में पेश की गई रेनो पल्स को कंपनी ने बनाना बंद कर दिया है। इसके अलावा रेनो स्काला की सेल मार्च 2017 से अब तक जीरो चल रही है जिसके चलते इस कार को बंद कर दिया गया है। उधर रेनो फ्लूएंस को भी बंद कर दिया है क्योंकि यह कार लॉन्च होने के बाद से ही खराब परफॉर्मेंस दे रही थी।

महिंद्रा की स्कॉर्पियो

महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्‍टि करते हुए कहा है कि‍ ऑटोमैटि‍क ट्रांसमि‍शन ने अपने समय में स्‍कॉर्पि‍यो को काफी मजबूत कि‍या है और अब उसे बंद कर दि‍या गया है। हालांकि इस कंपनी ने न्‍यू जेनरेशन स्‍कॉर्पि‍यो का ऑटोमैटि‍क वेरि‍एंट साल 2015 में लॉन्‍च कि‍या था जिसकी दिल्ली में एक्स शोरुम कीमत 13.13 लाख से 14.33 लाख रखी गई थी।
शेवरले की कारें

जनरल मोटर्स ने हाल ही में ऐलान किया था कि वो भारत में अपनी कारों को बेचना बंद कर रही है। 31 दिसंबर 2017 के बाद शेवरले की कारों को नहीं बेचा जाएगा। हालांकि जनरल मोटर इंडिया का भारत में मौजूद ब्रांड शेवरले केवल कारों को एक्सपोर्ट करेगा।

शेवरले बीट की बिक्री में आई गिरावट के चलते इसकी कोई भी यूनिट भारत में नहीं बिक रही है। इसके अलावा शेवरले की टवेरा भी भारतीय बाजारों में नहीं बिक रही है। शेवरले क्रूज, सेल सेडान, शेवरले ट्रेलब्लेजर जैसे मॉडल्स भी भारतीय बाजारों से गायब हो गए हैं।

कार बनाने वाली कंपनियां वैसे तो हर साल अपने नए-नए मॉडल्स को बाजार में पेश करती हैं इसके साथ ही कई कार मॉडल्स का उत्पादन भी बंद कर देती हैं। साल 2017 के साथ-साथ कई कारों का भी सफर खत्म होनेवाला है। इन कारों की बिक्री में आई गिरावट को इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह बताई जा रही है। हालांकि इन कारों की जगह दूसरे मॉडल्स की कई कारें भी नए साल में मार्केट में उतारी जाएंगी। इसी कड़ी…