1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. मार्शल आर्ट का अभ्यास करते समय ध्यान रखने योग्य बातें

मार्शल आर्ट का अभ्यास करते समय ध्यान रखने योग्य बातें

वजन कम करने के इच्छुक लोगों के लिए और फिट और सक्रिय रहने की कोशिश करने वालों के लिए भी मार्शल आर्ट एक बेहतरीन तकनीक है। अधिकांश लोग निम्नलिखित कारणों में से एक के लिए मार्शल आर्ट प्रशिक्षण चुनते हैं

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

वजन कम करने के इच्छुक लोगों के लिए और फिट और सक्रिय रहने की कोशिश करने वालों के लिए भी मार्शल आर्ट एक बेहतरीन तकनीक है। अधिकांश लोग निम्नलिखित कारणों में से एक के लिए मार्शल आर्ट प्रशिक्षण चुनते हैं – या तो वे ऐसे फॉर्म सीखना चाहते हैं जो उन्हें अपने दिमाग में महारत हासिल करने में मदद करें, वे आकार में आना चाहते हैं या वे आत्मरक्षा सीखना चाहते हैं।

पढ़ें :- जानिए सर्दी, फ्लू के इलाज के लिए प्रभावी घरेलू उपचार

इसलिए यदि आप स्वयं शिक्षार्थी हैं, तो निम्न चरणों को न भूलें:

चरण 1:

मार्शल आर्ट शैली खोजें जो आपकी आवश्यकताओं के अनुरूप हो क्राव मागा, ताई ची, कुंग फू, किक बॉक्सिंग से लेकर कलारीपयट्टू तक कई मार्शल आर्ट शैलियाँ हैं। सबसे महत्वपूर्ण कदम यह पहचानना है कि कौन आपको उत्साहित करता है और उन कौशलों और क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करता है जिन पर आपको काम करने की आवश्यकता है।

चरण 2:

पढ़ें :- क्या आप भी है गैस्ट्रिक प्रॉब्लम से परेशान: जानिए इसके कारण, लक्षण और इलाज

5 मिनट वार्म से शुरू करें जैसे आपको वर्कआउट शुरू करने से पहले वार्मअप करना होता है, वैसे ही मार्शल आर्ट के लिए भी यही होता है। इसका इतना महत्वपूर्ण कारण यह है कि यह आपके चोट लगने की संभावना को कम कर देगा और आपको गति की एक बेहतर श्रेणी की अनुमति भी देगा। किक करने के लिए अपने पैरों को फैलाएं, अपनी बाहों को मुक्का मारने के लिए गर्म करें, अपनी पीठ के निचले हिस्से में मोच आने से बचाने के लिए अपने कोर को मोड़ें।

चरण 3:

कार्डियो और शक्ति प्रशिक्षण पर ध्यान दें आपकी दैनिक कसरत में ऐसे व्यायाम शामिल होने चाहिए जो आपके हृदय स्वास्थ्य और बड़े मांसपेशी समूहों पर काम करते हों। आप जॉगिंग, पुश अप्स, स्क्वैट्स, वेट लिफ्टिंग के बीच वैकल्पिक कर सकते हैं। याद रखने वाली एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि कार्डियो और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग के बीच अपने व्यायाम को वैकल्पिक करें। इससे आपको मार्शल आर्ट के लिए बेहतर संतुलन बनाने में मदद मिलेगी।

चरण 4:

अपने रुख पर काम करें एक बार जब आपका शरीर खांचे में जाने के लिए तैयार हो जाता है, तो आपको अपने रुख में महारत हासिल करने पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि वही आपके हमलों की प्रभावशीलता और पर्याप्तता को निर्धारित करेगा। हमेशा अपने शरीर के साथ खड़े रहें, सामने नहीं। यदि आप दाहिने हाथ के हैं, तो आपके दाहिने पैर की पीठ का उपयोग करके आपकी लड़ाई का रुख किया जाएगा। घुटने थोड़े मुड़े होने चाहिए और वजन पंजों पर होना चाहिए।

पढ़ें :- जानिए आयुर्वेद कैसे कर सकता है आपके बालों की रक्षा

याद रखें, अगर सही तरीके से अभ्यास किया जाए, तो मार्शल आर्ट एक आकर्षक कसरत हो सकती है जो आपको अपने मूल और ताकत को विकसित करने में मदद करती है। लेकिन सबसे बड़ा रोमांच जो ज्यादातर लोगों को मिलता है, वह यह है कि वे एक नया कौशल सीख रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...