1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Bharat Ratna Atal Bihari Vajpayee ने हमेशा मूल्यों और आदर्शों की राजनीति की : सीएम योगी

Bharat Ratna Atal Bihari Vajpayee ने हमेशा मूल्यों और आदर्शों की राजनीति की : सीएम योगी

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कहा कि भारत रत्न श्रद्धेय पंडित अटल बिहारी वाजपेयी (Pt. Atal Bihari Vajpayee) ने छह दशकों तक देश की राजनीति को प्रभावित किया। इस दौरान उन्होंने हमेशा मूल्यों और आदर्शों की राजनीति की। उनकी राजनीति का ध्येय और सिद्धांत सदैव लोक कल्याण व राष्ट्र कल्याण रहा है। उन्होंने मूल्यों और आदर्शों को सार्वजनिक जीवन में अपनाया। उनका कृतित्व और कृतियां वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणा का कार्य करती रहेंगी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कहा कि भारत रत्न श्रद्धेय पंडित अटल बिहारी वाजपेयी (Pt. Atal Bihari Vajpayee) ने छह दशकों तक देश की राजनीति को प्रभावित किया। इस दौरान उन्होंने हमेशा मूल्यों और आदर्शों की राजनीति की। उनकी राजनीति का ध्येय और सिद्धांत सदैव लोक कल्याण व राष्ट्र कल्याण रहा है। उन्होंने मूल्यों और आदर्शों को सार्वजनिक जीवन में अपनाया। उनका कृतित्व और कृतियां वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणा का कार्य करती रहेंगी।

पढ़ें :- डबल इंजन की सरकार ने  विकास के डबल डोज से प्रदेश को बदला : Dinesh Sharma

मुख्यमंत्री ने यह बात साइंटिफिक कंवेन्शन सेण्टर, केजीएमयू (Scientific Convention Center, KGMU) में श्रद्धेय पं. अटल बिहारी वाजपेयी की तृतीय ‘पुण्य स्मृति’ पर आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने राष्ट्र जीवन के लिए अटल द्वारा किए गए योगदान के प्रति कोटि-कोटि नमन करते हुए प्रदेशवासियों की ओर से विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि अटल जी का भारतीय राजनीति मे अहम स्थान था। उन्होंने अपने व्यक्तित्व तथा कार्यों से सत्ता और विपक्ष में रहते हुए लम्बे समय तक राजनीति को प्रभावित किया। देश को अस्थिरता के दौर से निकालकर स्थिरता देने का श्रेय भी अटल जी को जाता है। उन्होंने हमेशा देश हित में निर्णय लिया, जब लोकतंत्र खतरे में था, तो उन्होंने लोकतंत्र को बचाने का कार्य किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल जी सबकी श्रद्धा और सम्मान के पात्र रहे। उनका मानना था कि राजनीति सिद्धांत विहीन नहीं होनी चाहिए। राजनीति परिवार, जाति, क्षेत्र तथा संकीर्ण मानसिकताओं के दायरे से बाहर रहकर होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाली पीढ़ियों के लिए अटल जी की स्मृतियां चिरस्थायी रहेंगी। उनके द्वारा किए गए कार्य और कृतियां भारतीय राजनीति व समाज को सदैव जीवन्तता और स्पंदन प्रदान करते रहेंगे।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अटल के नाम पर अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय(Atal Bihari Vajpayee Medical University ) की स्थापना का कार्य किया जा रहा है। राज्य के प्रत्येक मण्डल में श्रमिकों व अनाथ बच्चों के पठन-पाठन और आवासीय सुविधाओं से युक्त 18 अटल आवासीय विद्यालयों का निर्माण कराया जा रहा है। अटल जी की स्मृतियों को चिरस्थायी बनाने के लिए राज्य के विश्वविद्यालयों में अटल सुशासन पीठ स्थापित किए जाने का निर्णय लिया गया है।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का शुभारम्भ किया। उन्होंने अटल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। ‘मेरी यात्रा-अटल यात्रा’ पुस्तक का विमोचन किया। उन्होंने अटल जी के सान्निध्य में रहे तथा विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रहे महानुभावों को सम्मानित भी किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री को अंग वस्त्र, पुष्प तथा स्मृति चिन्ह के रूप में पुस्तक भेंट की गयी।

पढ़ें :- प. दीनदयाल उपाध्याय  प्रखर राष्ट्रवादी, उत्कृष्ट संगठनकर्ता  थे : डॉ. दिनेश शर्मा

इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री डाॅ. दिनेश शर्मा ने कहा कि अटल लखनऊ सहित प्रदेश व देश के लोगों के अंतर्मन में रचे-बसे हैं। वे सभी के द्वारा सम्मानित रहे हैं। यह लखनऊ का सौभाग्य है कि अटल ने इस जनपद से सदैव जुड़ाव रखते हुए कई बार नेतृत्व प्रदान किया।

विधायी व न्याय मंत्री तथा श्रद्धेय पं. अटल बिहारी वाजपेयी मेमोरियल फाउण्डेशन (Pt. Atal Bihari Vajpayee Memorial Foundation) के अध्यक्ष बृजेश पाठक ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन, जल शक्ति मंत्री डाॅ. महेन्द्र सिंह, विधान परिषद सदस्य स्वतंत्र देव सिंह, लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया सहित अन्य नागरिक उपस्थित थे।

भारत रत्न  अटल बिहारी जी के जीवन पर आधारित एकल नाटक “मेरी यात्रा अटल यात्रा” (Meri Yatra Atal Yatra) जिसमें उनके जीवन को और उनकी महत्वपूर्ण कविताओं को प्रथम कविता यह ताजमहल के ताजमहल से लेकर उनके एक मार्मिक कविता के साथ कई कविताओं का उनकी पूरी जीवन यात्रा को इस नाटक में दिखाया गया है। जिसमें एक ही 15 अगस्त का दिन कहता आज़ादी अभी अधूरी है हिंदू तन मन हिंदू जीवन रग रग हिंदू मेरा परिचय इस तरह अब गीत नहीं गाता हूं गीत नया गाता हूं। इस तरह से उनकी कविताओं और उनके पूरे जीवन वृतांत को एक बायोग्राफी के तौर पर प्रस्तुत किया गया है। जिस के मुख्य कलाकार विपिन कुमार राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के स्नातक हैं। लखनऊ में यह छठा शो हो रहा है और इसका लेखन व निर्देशन परिकल्पना करने वाले निर्देशक चंद्र भूषण सिंह इस नाटक में मेकअप श्री धर्मेंद्र लाइट अंकित सती अब म्यूजिक पर अमरनाथ का गौरव नाटक का निर्माण लोक कल्याण कंपनी मुंबई सौम्या सिंह द्वारा किया गया।

पढ़ें :- कोरोना के खिलाफ लड़ाई में ई संजीवनी बना हथियार, घर बैठे लीजिए केजीएमयू के विशेषज्ञों से परामर्श

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण अटल जी पर आयोजित एकल नाटक “मेरी यात्रा अटल यात्रा” (Meri Yatra Atal Yatra)  जिसका लेखन व निर्देशन चंद्रभूषण सिंह बॉलीवुड एक्टर, प्रोड्यूसर व डायरेक्टर है, जिन्होंने इससे पहले पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की एकात्म मानव दर्शन नाटक प्रचारक का लेखन व मंचन किया। फिर भारत रत्न डॉक्टर अब्दुल कलाम की बायोग्राफी का लेखन का मंचन किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...