1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. इस एथलीट ने तैर कर पार की मगरमच्छों से भरी 580 किमी लंबी मलावी झील

इस एथलीट ने तैर कर पार की मगरमच्छों से भरी 580 किमी लंबी मलावी झील

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली। अफ्रीका की 580 किलोमीटर लंबी मलावी झील पार करने वाले मार्टिन हॉब्स (45) दुनिया के पहले व्यक्ति बन गए हैं। इसके लिए उन्हें 54 दिन तैरना पड़ा। हॉब्स ने दो रिकॉर्ड अपने नाम किए। पहला- वह झील में इतनी लंबी दूरी तक अकेले तैरने वाले पहले इंसान बने। दूसरा- पूरी झील उन्होंने लगातार 54 दिन में तैरकर पार की।

दरअसल, हॉब्स ने अपना एथलेटिक करियर बाइकर और मैराथन रेसर के तौर पर शुरू किया था। लेकिन एक हादसे में उनकी रीढ़ की डिस्क टूट गई। इसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें बाइक चलाने और दौड़ने से मना कर दिया। इसके बाद हॉब्स ने सोचा कि वह तैराकी से अपने स्पोर्ट्स करियर दोबारा शुरू कर सकते हैं। एक अमेरिकी चैनल को उन्होंने बताया- मैं हमेशा से जोखिम वाले खेल खेलों में हिस्सा लेना चाहता था। मैंने कभी यह नहीं चाहा कि मेरे मरने के बाद लोग मुझे केवल इस रूप में याद करें कि वह एक बहुत मेहनती इंसान था।

वहीं हॉब्स का कहना है- मैंने समझ लिया था कि सीधा तैरूंगा तो कामयाब हो जाऊंगा। लेकिन यह भी सच है कि मैं मगरमच्छों से घबरा गया था। तैरने के दौरान कई बार खराब मौसम का भी सामना करना पड़ा। एक बार टॉरनैडो (तूफान) भी आया, जिसमें कई फीट तक लहरें उठ गईं। हॉब्स रोज करीब 11 किमी तैरते थे। उनके मुताबिक- मैंने हर घंटे का लक्ष्य तय कर लिया था। तैरने के दौरान में अपने खाने या चॉकलेट बार के बारे में सोचता था। इससे मुझे थकान से उबरने में मदद मिलती थी।

बता दें, हॉब्स बच्चों के लिए काम करने वाले एक एनजीओ स्माइल फाउंडेशन से भी जुड़े हुए हैं। वह मोटिवेशनल स्पीच देने और किताब लिखने की भी योजना बना रहे हैं। अब तक हॉब्स 10 हजार डॉलर (करीब 7 लाख रुपए) जुटा चुके हैं। अब उनकी योजना 35 हजार डॉलर (करीब 25 लाख रुपए) जुटाने की है। मलावी देश का नाम मलावी झील पर ही है। यह देश की पूर्वी सीमा बनाती है। झील में मगरमच्छ, दरियाई घोड़े (हिप्पोपोटोमस) और मच्छरों की बहुतायत है, तैराकी के लिहाज से इसे खतरनाक माना जाता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...