केंद्र सरकार के इस फैसले से भारतीय सेना को मिलेगा लाभ

indian army
केंद्र सरकार के इस फैसले से भारतीय सेना बल को मिलेगा लाभ

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद केंद्र सरकार ने जवानों की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए गुरुवार को बड़ा फैसला लिया है। सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने जानकारी दी है कि अब जवानों को हवाई जहाज से आने-जाने की सुविधा मिलेगी। गृह मंत्रालय ने केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों के सभी जवानों की दिल्ली-श्रीनगर, श्रीनगर-दिल्ली, जम्मू-श्रीनगर और श्रीनगर-जम्मू क्षेत्रों में हवाई यात्रा की मंजूरी दे दी है।

This Decision Of Central Government Will Beneficial For Soldiers :

वहीं सरकार के इस फैसले से सीआरपीएफ जवानों को यह सुविधा मिलेगी। इसमें कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल और एएसआई को भी शामिल किया गया है। दरअसल पहले इन्हें इस सुविधा से बाहर रखा गया था। अब जवानों को श्रीनगर से छुट्टी पर जाने और छुट्टी से लौटने पर भी हवाई यात्रा की सुविधा मिल सकेगी।

बता दें कि पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमला हुआ था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले के तुरंत बाद मोदी सरकार ने पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा एक्शन लेते हुए पाक से मोस्ट फेवर्ड नेशन (एमएनएफ) का दर्जा वापस लेने का एलान किया, जो पाकिस्तान को 1996 में मिला था।

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद केंद्र सरकार ने जवानों की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए गुरुवार को बड़ा फैसला लिया है। सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने जानकारी दी है कि अब जवानों को हवाई जहाज से आने-जाने की सुविधा मिलेगी। गृह मंत्रालय ने केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों के सभी जवानों की दिल्ली-श्रीनगर, श्रीनगर-दिल्ली, जम्मू-श्रीनगर और श्रीनगर-जम्मू क्षेत्रों में हवाई यात्रा की मंजूरी दे दी है।वहीं सरकार के इस फैसले से सीआरपीएफ जवानों को यह सुविधा मिलेगी। इसमें कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल और एएसआई को भी शामिल किया गया है। दरअसल पहले इन्हें इस सुविधा से बाहर रखा गया था। अब जवानों को श्रीनगर से छुट्टी पर जाने और छुट्टी से लौटने पर भी हवाई यात्रा की सुविधा मिल सकेगी।बता दें कि पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमला हुआ था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले के तुरंत बाद मोदी सरकार ने पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा एक्शन लेते हुए पाक से मोस्ट फेवर्ड नेशन (एमएनएफ) का दर्जा वापस लेने का एलान किया, जो पाकिस्तान को 1996 में मिला था।