1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. ये लोकतंत्र बचाने का नहीं, गांधी परिवार की 2,000 करोड़ की संपत्ति को बचाने का प्रयास, कांग्रेस के प्रदर्शन पर बोलीं स्मृति ईरानी

ये लोकतंत्र बचाने का नहीं, गांधी परिवार की 2,000 करोड़ की संपत्ति को बचाने का प्रयास, कांग्रेस के प्रदर्शन पर बोलीं स्मृति ईरानी

ये प्रदर्शन देश के लोकतंत्र को बचाने का प्रयास नहीं बल्कि गांधी परिवार की 2,000 करोड़ रुपये की संपत्ति को बचाने की एक कोशिश है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, जो बेल पर हैं उन्होंने घोषणा की है कि आओ दिल्ली को घेरो, क्योंकि हमारा भ्रष्टाचार पकड़ा गया है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

National Herald Case: नेशनल हेराल्ड केस में कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) आज ईडी के दफ्तर पहुंचे हैं। इसको लेकर भाजपा ने उन पर निशाना साधा है। केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों ने मिलकर नेशनल हेराल्ड की स्थापाना की थी। उन्होंने आरोप ल गाया कि कांग्रेस ने उसे चलाने वाली कंपनी एसोसिएटेड जर्नल्स ​लिमिटेड की संपत्ति को भी कब्जा कर लिया है। वहीं, राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के ईडी के सामने पेश होने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं के प्रदर्शन को लेकर भी उन्होंने निशाना साधा।

पढ़ें :- राहुल का मोदी से बड़ा सवाल, कहा- क्या ‘नए भारत’ में सिर्फ़ ‘मित्रों’ की सुनवाई होगी, देश के वीरों की नहीं?

स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने कहा कि, ये प्रदर्शन देश के लोकतंत्र को बचाने का प्रयास नहीं बल्कि गांधी परिवार की 2,000 करोड़ रुपये की संपत्ति को बचाने की एक कोशिश है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, जो बेल पर हैं उन्होंने घोषणा की है कि आओ दिल्ली को घेरो, क्योंकि हमारा भ्रष्टाचार पकड़ा गया है। एक इन्वेस्टिगेशन एजेंसी पर दबाव डालने के लिए कांग्रेस शासित वरिष्ठ नेताओं को विशेष आमंत्रित किया गया है। एक इन्वेस्टिगेशन एजेंसी पर खुलेआम दबाव डालने वाली कांग्रेस की इस रणनीति को आप क्या नाम देंगे?

भ्रष्टाचार के मुद्दों पर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को तलब किया गया है, उन विषय पर विचार करें? इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, कंपनी बनाई जाती है समाज की सेवा के लिए, लेकिन समाज की सेवा नहीं बल्कि वो कंपनी केवल गांधी परिवार की सेवा तक सीमित हो जाती है। उन्होंने कहा कि, आज जो लोग इन्वेस्टिगेशन एजेंसी पर दबाव डालना चाहते हैं, उनका ध्यान आकृष्ट करूंगी, दिल्ली हाई कोर्ट के 2019 एक जजमेंट के वाक्य पर, ‘AGL के ऊपर राहुल और सोनिया गांधी जी का मालिकाना हक गैरकानूनी तौर पर संपत्ति पर अधिकार जमाने का एक प्रयास है।’

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, आज जो गतिरोध कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता राहुल गांधी के बुलावे पर कर रहे हैं, मैं देश को बताना चाहूंगी कि ये लोकतंत्र को बचाने का प्रयास नहीं, बल्कि गांधी परिवार की 2,000 करोड़ की संपत्ति को बचाने का प्रयास है।

 

पढ़ें :- National Herald Case: ईडी को पत्र लिखकर सोनिया गांधी ने मांगा समय, खराब स्वास्थ्य का दिया हवाला

 

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...