ये है भारत का फ्रांस, यहां आकर होता है विदेश जैसा अनुभव

कई लोग है जिन्हें फ्रांस घूमने की तमन्ना है लेकिन फ्रांस जाने के खर्चे को सोचकर वहां नहीं जा पाते है। इस तरह की सोच रखने वाले देश के अंदर हजारो लोग मौजूद है। जिनका सपना है कि वह लोग भी फ्रांस के टूर पर जाए वहां की हसीन वादियों के बीच अपना समय बिताए साथ ही अपने करीबियों के साथ वहां पर खूब इंजॉय करें आपको बता।

भारतीय प्रायद्वीप के पूर्व हिस्से में बसा एक छोटा सा केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी है। इस प्रदेश का इतिहास 1673 इसवीं में फ्रेंच लोगों के आगमन पर शुरू हो गया था। 1954 में यह भारतीय संघ का हिस्सा बना। समुद्र के किनारे बसे इस प्रदेश में घूमने लायक कई जगह मौजूद है। दिल्ली से यह जगह 2400 किलोमीटर दूर है। पुडुचेरी की कुछ खास बातें है जो इसे फ्रांस की तरह ही बनाती है। भारत के खूबसूरत शहरों में से एक है पुडुचेरी। यहां पर आप बिना किसी पासपोर्ट और वीजा के घूम कर फ्रांस का मजा ले सकते है।

{ यह भी पढ़ें:- 97 साल का बाबा 20 साल की युवती के साथ मिला निर्वस्त्र, वीडियो वायरल }

1. पुडुचेरी को एक बेहतरीन टाउन प्लानिंग के अनुसार बसाया गया हैं। फ्रांसीसियों के लिए यहां पर जो टाउनशिप बसाई गई है उसे व्हाइट टाउन के नाम से पहचाना जाता है।

2. पुडुचेरी में देश के कई महापुरूषों की प्रतिमाएं लगाई गई हैं। उनमें से सबसे खास है प्रॉमीनाड बीच पर लगी हुई है। इस बीच पर देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर लगी हुई है। इस कारण इस बीच को महात्मा गांधी बीच के रूप में भी जाना जाता है।

{ यह भी पढ़ें:- ये हैं वे 5 देश जहां पब्लिक प्लेस पर हो सकते हैं न्यूड, सरकार की ओर से है छूट }

3. प्रॉमीनाड बीच पर गांधी जी की प्रतिमा के सामने ही फ्रेंच वॉर मेमोरियल है जो प्रथम विश्व यु़द्ध के शहीद होने वाले फ्रांसीसी सैनिकों की याद में बनाया गया है। इसके अलावा यहां पर हर वर्ष 14 जुलाई के दौरान फ्रेंच सैनिको की याद में एक कार्यक्रम आयोजित किया जाता है।

4. पुडुचेरी का चर्च सेक्रेड हार्ट कैथोलिक चर्च दुनिया भर में मौजूद है। इस चर्च में तमिल और अंग्रेजी में प्रार्थना होती है। इस चर्च के 2007 में 100 साल हो गए इसका निर्माण कार्य 1902 में प्रारम्भ किया था। इसकी खास बात यह है कि 2000 लोग एक साथ ही प्रार्थना कर सकते है।

5. पुडुचेरी में एक ऐसा भी मंदिर है जो 1673 से पहले का बना हुआ हैं। इस मंदिर को श्री गणेश का मनाकुला विलय कुलॉन मंदिर के नाम से जाना जाता हैं। इस मंदिर की सबसे बड़ी खाशियत यह है कि यहां एक हाथी के द्वारा भक्तों को आशीर्वाद दिया जाता हैं यह हाथी भक्तों से कुछ सिक्के लेकर उन्हें आशीर्वाद देता हैं।

{ यह भी पढ़ें:- OMG ...सोने के लिए मिलेंगे 11.2 लाख रुपये, यहां करें Apply }