अबकी बार, ट्रम्प सरकार’ बोलकर पीएम मोदी ने नही किया किसी का समर्थन-विदेश मंत्री ने दी सफाई

pm modi
अबकी बार, ट्रम्प सरकार’ बोलकर पीएम मोदी ने नही किया किसी का समर्थन-विदेश मंत्री ने दी सफाई

वॉशिंगटन। हाल ही में हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी ने अमेरिका में ट्रम्प की तारीफ में कह दिया था अबकी बार, ट्रम्प सरकार’, इस बयान के बाद काफी विवाद बढ़ गया कि पीएम मोदी खुलकर ट्रम्प का समर्थन कर रहे हैं। मजबूरन भारत के विदेश मंत्री को इस पर सफाई देनी पड़ी। सोमवार को वॉशिंगटन में प्रेसवार्ता के दौरान विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि ‘अबकी बार, ट्रम्प सरकार’ बोलकर पीएम मोदी ने अमेरिकी चुनाव के लिए किसी का समर्थन नहीं किया था। उनका कहना था पीएम मोदी ने ट्रम्प के पिछले चुनाव की याद दिलाई थी जब भारतीय समुदाय के लोगों में यह नारा काफी लोकप्रिय बन गया था।

This Time Pm Modi Did Not Support Anyone By Saying Trump Government Foreign Minister Clarifies :

प्रेसवार्त के दौरान पत्रकारों ने जयशंकर से जब मोदी द्वारा ट्रम्प को समर्थन देने की बात कही गयी तो उन्होने सिरे से नकार दिया। उनका कहना था कि अमेरिका के चुनाव में भारत का कोई हस्तक्षेप नही है। उनका कहना था कि मोदी जी के बयान को गलत पेश किया गया। पीएम मोदी ने ये कहा था कि “हम भारतवासी ट्रम्प के चुनावी अभियान के नारे ‘अबकी बार, ट्रम्प सरकार’ के नारे से जुड़ाव महसूस करते हैं। इस बात से ये साफ झलक रहा था कि पीएम मोदी ने पिछले चुनाव की याद दिलाई थी।

गौरतलब है कि हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान मोदी ने ट्रम्प के साथ मंच साझा किया था और ट्रम्प का हाथ पकड़कर मैदान के चारो तरफ घूमकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया था। यही नही उन्होने ट्रम्प की तारीफ करते हुए कहा था कि अमेरिका की अर्थव्यवस्था को ट्रम्प ने काफी मजबूत किया साथ ही विकास के क्षेत्र मे भी अनेको कार्य किये। उनका कहना था कि भारतीय लोग अबकी बार, ट्रम्प सरकार वाले नारे से काफी जुड़ाव महशूश करते हैं। पीएम ने यह भी कहा था कि ट्रम्प ने पहली मुलाकात के दौरान ही कहा था कि भारत का सच्च दोस्त व्हाइट हाउस में बैठा है।

आपको बता दें कि हाउडी मोदी कार्यक्रम में पीएम द्वारा ट्रम्प के लिए दिये गये अबकी बार ट्रम्प सरकार वाले बयान को लेकर कांग्रेस ने काफी ज्यादा विरोध जताया था। कांग्रेसियों का कहना था कि पीएम मोदी ने ये बयान देकर विदेश ​नीतियों का उल्लंघन किया है। भारत देश की ये खासियत रही है कि वो कभी किसी भी देश के चुनाव में दखलंदाजी करने नही गया।

 

वॉशिंगटन। हाल ही में हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी ने अमेरिका में ट्रम्प की तारीफ में कह दिया था अबकी बार, ट्रम्प सरकार', इस बयान के बाद काफी विवाद बढ़ गया कि पीएम मोदी खुलकर ट्रम्प का समर्थन कर रहे हैं। मजबूरन भारत के विदेश मंत्री को इस पर सफाई देनी पड़ी। सोमवार को वॉशिंगटन में प्रेसवार्ता के दौरान विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि ‘अबकी बार, ट्रम्प सरकार’ बोलकर पीएम मोदी ने अमेरिकी चुनाव के लिए किसी का समर्थन नहीं किया था। उनका कहना था पीएम मोदी ने ट्रम्प के पिछले चुनाव की याद दिलाई थी जब भारतीय समुदाय के लोगों में यह नारा काफी लोकप्रिय बन गया था। प्रेसवार्त के दौरान पत्रकारों ने जयशंकर से जब मोदी द्वारा ट्रम्प को समर्थन देने की बात कही गयी तो उन्होने सिरे से नकार दिया। उनका कहना था कि अमेरिका के चुनाव में भारत का कोई हस्तक्षेप नही है। उनका कहना था कि मोदी जी के बयान को गलत पेश किया गया। पीएम मोदी ने ये कहा था कि “हम भारतवासी ट्रम्प के चुनावी अभियान के नारे ‘अबकी बार, ट्रम्प सरकार’ के नारे से जुड़ाव महसूस करते हैं। इस बात से ये साफ झलक रहा था कि पीएम मोदी ने पिछले चुनाव की याद दिलाई थी। गौरतलब है कि हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान मोदी ने ट्रम्प के साथ मंच साझा किया था और ट्रम्प का हाथ पकड़कर मैदान के चारो तरफ घूमकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया था। यही नही उन्होने ट्रम्प की तारीफ करते हुए कहा था कि अमेरिका की अर्थव्यवस्था को ट्रम्प ने काफी मजबूत किया साथ ही विकास के क्षेत्र मे भी अनेको कार्य किये। उनका कहना था कि भारतीय लोग अबकी बार, ट्रम्प सरकार वाले नारे से काफी जुड़ाव महशूश करते हैं। पीएम ने यह भी कहा था कि ट्रम्प ने पहली मुलाकात के दौरान ही कहा था कि भारत का सच्च दोस्त व्हाइट हाउस में बैठा है। आपको बता दें कि हाउडी मोदी कार्यक्रम में पीएम द्वारा ट्रम्प के लिए दिये गये अबकी बार ट्रम्प सरकार वाले बयान को लेकर कांग्रेस ने काफी ज्यादा विरोध जताया था। कांग्रेसियों का कहना था कि पीएम मोदी ने ये बयान देकर विदेश ​नीतियों का उल्लंघन किया है। भारत देश की ये खासियत रही है कि वो कभी किसी भी देश के चुनाव में दखलंदाजी करने नही गया।