1. हिन्दी समाचार
  2. भारत-चीन सैनिकों के बीच हिंसक झड़प की यह थी वजह, पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने किया दावा

भारत-चीन सैनिकों के बीच हिंसक झड़प की यह थी वजह, पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने किया दावा

This Was The Reason For The Violent Clash Between India China Soldiers Former Army Chief Vk Singh Claimed

By शिव मौर्या 
Updated Date

जम्मू। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को हुई भारतीय और चीनी सैनिकों के ​बीच हिंसक झड़प को लेकर पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा है कि चीनी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों के टेंट में आग लगा दी थी, जिसके कारण हिंसक झड़प हुई।

पढ़ें :- ऐसे लोगों के घर में नहीं आती लक्ष्मी, हमेशा बनी रहती पैसों की कमी, जानिए इनकी गलती

एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने कहा कि, भारत और चीन के बीच जो बातचीत हुई थी, उसमें फैसला हुआ था कि सीमा के पास दोनों देशों के सैनिक वापस जाएंगे और कोई भी वहां मौजूद नहीं रहेगा। जब 15 जून को भारतीय सेना के कमांडिंग अफसर अन्य सैनिकों के साथ शाम को देखने गए कि चीनी सैनिक वापस गए हैं या नहीं।

पता चला कि वे वहां से नहीं गए हैं। वीके सिंह ने कहा कि ‘इसके बाद वहां जब तंबू देखा गया तो दोनों देशों के बीच झड़प हो गई। चीनी सैनिक तंबू हटाने लगे तो उसमें आग लग गई। हालांकि, यह नहीं पता चल सका कि उस तंबू में क्या रखा हुआ था। इसी को लेकर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक टकराव हो गया।

बता दें कि, गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुए हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। वहीं रिपोर्ट्स में बताया गया था कि चीन के 43 सैनिक मारे गए हैं। हालांकि, चीन ने अभी तक मारे गए सैनिकों की संख्या की जानकारी नहीं दी है।

 

पढ़ें :- यदि आपके हाथों मे है ये खास बात, तो आप अवश्य बनेंगे बहुत धनवान

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...