मेरठ: भाई को उम्रकैद की सजा दिलाए जाने से नाराज शख्स ने दी कचहरी को बम से उड़ाने की धमकी

meerat court
मेरठ: भाई को उम्रकैद की सजा दिलाए जाने से नाराज शख्स ने दी कचहरी को बम से उड़ाने की धमकी

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ कचहरी में अज्ञात शख्स द्वारा एक पत्र के माध्यम से कोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। धमकी भरा ये पत्र पूर्व जिला बार संघ अध्यक्ष के चेंबर पर चिपका हुआ मिला है। सोमवार को कचहरी पहुंचे वकीलों की नजर इस पर पड़ी तो उन लोगों ने तुरन्त इसकी सूचना 100 नंबर को सूचना दी। जानकारी मिलते ही एसपी सिटी और सिविल लाइन थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की। इसके बाद कचहरी में सघन चेकिंग अभियान भी चलाया गया हालाकि वहां कोई संदिग्ध चीज पुलिस को नही मिली है। पूर्व बार संघ अध्यक्ष की तरफ से लिखित में सिविल लाइन थाने में एक तहरीर दी गई है।

Threatened To Blow The Meerat Court With The Bomb Investigation Going On :

बता दें कि अधिवक्ता धीरेंद्र तोमर का चेंबर उपभोक्ता फोरम अदालत के पास है। वह बार एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। बताया जा रहा है कि हाल ही में उन्होंने एक मुकदमे में एक हत्यारोपी को उम्र कैद की सजा कराई थी। सोमवार को सुबह जब उन्होंने अपना चेंबर खोला तो बाहर ही एक पत्र चिपका हुआ मिला। जिस पर लिखा था कि अधिवक्ता ने मेरे भाई को सजा कराई है। इसलिए वह उनकी हत्या करेगा। कचहरी को भी बम से उड़ा देगा। एसपी सिटी रणविजय सिंह ने बताया कि अधिवक्ता के चेंबर पर पत्र चिपका मिला है। जिसकी जांच कर रहे हैं।

उन्होंने पुलिस फोर्स के साथ कचहरी में चेकिंग अभियान भी चलाया। संदिग्ध युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की गई। हालाकि अभी तक पुलिस ये पता नही लगा सकी है कि ये पत्र किसने लिखा और यहां ये पत्र किस वक्त चिपकाया गया है। हैरत की बात यह है कि रात में भी कचहरी में पुलिस फोर्स रहती है। बावजूद इसके चेंबर पर पत्र को चिपका दिया गया। अधिवक्ता ने एसएसपी को फोन करके अपनी जान को खतरा भी बताया है।

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ कचहरी में अज्ञात शख्स द्वारा एक पत्र के माध्यम से कोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। धमकी भरा ये पत्र पूर्व जिला बार संघ अध्यक्ष के चेंबर पर चिपका हुआ मिला है। सोमवार को कचहरी पहुंचे वकीलों की नजर इस पर पड़ी तो उन लोगों ने तुरन्त इसकी सूचना 100 नंबर को सूचना दी। जानकारी मिलते ही एसपी सिटी और सिविल लाइन थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की। इसके बाद कचहरी में सघन चेकिंग अभियान भी चलाया गया हालाकि वहां कोई संदिग्ध चीज पुलिस को नही मिली है। पूर्व बार संघ अध्यक्ष की तरफ से लिखित में सिविल लाइन थाने में एक तहरीर दी गई है।बता दें कि अधिवक्ता धीरेंद्र तोमर का चेंबर उपभोक्ता फोरम अदालत के पास है। वह बार एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। बताया जा रहा है कि हाल ही में उन्होंने एक मुकदमे में एक हत्यारोपी को उम्र कैद की सजा कराई थी। सोमवार को सुबह जब उन्होंने अपना चेंबर खोला तो बाहर ही एक पत्र चिपका हुआ मिला। जिस पर लिखा था कि अधिवक्ता ने मेरे भाई को सजा कराई है। इसलिए वह उनकी हत्या करेगा। कचहरी को भी बम से उड़ा देगा। एसपी सिटी रणविजय सिंह ने बताया कि अधिवक्ता के चेंबर पर पत्र चिपका मिला है। जिसकी जांच कर रहे हैं।उन्होंने पुलिस फोर्स के साथ कचहरी में चेकिंग अभियान भी चलाया। संदिग्ध युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की गई। हालाकि अभी तक पुलिस ये पता नही लगा सकी है कि ये पत्र किसने लिखा और यहां ये पत्र किस वक्त चिपकाया गया है। हैरत की बात यह है कि रात में भी कचहरी में पुलिस फोर्स रहती है। बावजूद इसके चेंबर पर पत्र को चिपका दिया गया। अधिवक्ता ने एसएसपी को फोन करके अपनी जान को खतरा भी बताया है।