तिनसुकिया उल्फा उग्रवादियों से मुठभेड़ में 3 जवान शहीद, 4 घायल

गोवाहाटी। असम के तिनसुकिया में यूनाइटेड लिब्रेशन फ्रंट आॅफ असम (उल्फा) के उग्रवादियों और सेना के जवानों के बीच मुठभेड़ जारी है। इस मुठभेड़ में उल्फा उग्रवादियों द्वारा किए गए धमाकों में तीन जवान शहीद हो गए है और 4 जवानों के गंभीर रूप से घायल होने की खबरें आ रहीं हैं।




तिनसुकिया के डिगबोेई में उल्फा उग्रवादियों ने शनिवार की सुबह आईईडी से धमाका कर सेना के जवानों की एक गाड़ी को उड़ा दिया था। जिसमें एक जवान मौके पर शहीद हो गया जबकि दो अन्य ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।




इस उग्रवादी घटना के पीछे असम की लखीमपुर लोकसभा सीट और बैठालांसो विधानसभा सीट पर हो रहे उप चुनाव को प्रभावित करने की नियत बताई जा रही है। उल्फा एक ऐसा संगठन है जो लंबे समय से असम में सक्रिय है और असम को एक स्वतंत्र राष्ट्र घोषित करने की मांग कर रहा है। 1990 में केन्द्रीय गृहमंत्रालय द्वारा प्रतिबंधित किया जा चुका है। दशकों से सशस्त्र संघर्ष कर रहे इस संगठन को आतंकीसंगठन घोषित किया जा चुका है।




उल्फा उग्रवादियों द्वारा किए गए हमले की असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनेवाल ने निंदा करते हुए कहा है कि उन्होने घटना के बारे में पूरी जानकारी केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को दे दी है। वहीं केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जवानों की शहादत पर शोक जाहिर करते हुए कहा कि वह भगवान से प्रार्थना करते हैं कि हमले में घायल हुए जवान शीघ्र स्वस्थ हों।