तीन करोड़ 64 लाख लोग बेरोजगार हो गए तभी सरकार नौकरी पर बात करने से कतरा रही : प्रियंका गांधी

priyanka gandhi
प्रियंका गांधी को लोधी एस्टेट का बंगला एक महीने में करना होगा खाली, केंद्र ने भेजा नोटिस

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका का कहना है कि बड़े बड़े नामों और विज्ञापनों का नतीजा यह है ​कि 3 करोड़ 64 लाख लोग बेरोजगार हो गए हैं। कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार पर बेरोजगारी, आर्थिक सुस्ती, नागरिकता संशोधन कानून, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर और एनआरसी को लेकर हमला बोल रही है।

Three Crore 64 Lakh People Became Unemployed When The Government Shied Away From Talking On Jobs Priyanka Gandhi :

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि, नौकरियां देने के तमाम बड़े वादों की हकीकत यही है। देश के सात बड़े क्षेत्रों में करीब साढ़े तीन करोड़ लोग बेरोजगार हो गए हैं। बड़े-बड़े नामों और विज्ञापनों का नतीजा है 3 करोड़ 64 लाख लोग बेरोजगार हो गए। तभी तो सरकार नौकरी पर बात करने से कतराती है।

इसके अलावा दिग्विजय सिंह ने भी केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि देश में बेरोजगारी की दर बढ़ रही है। पीएम मोदी को सलाल देते हुए कहा कि उन्हें राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण की जगह शिक्षित बेरोजगार भारतीय नागरिकों का राष्ट्रीय रजिस्टर बनाना चाहिए।

बता दें कि कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार पर बेरोजगारी, आर्थिक सुस्ती, नागरिकता संशोधन कानून, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर और एनआरसी को लेकर हमला बोल रही है। एनआरसी एक नागरिक रजिस्टर है, जिसमें भारत के प्रत्येक नागरिक के नाम दर्ज हैं। नागरिकता अधिनियम, 1955 के अनुसार, एनआरसी का निर्माण अनिवार्य है।

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका का कहना है कि बड़े बड़े नामों और विज्ञापनों का नतीजा यह है ​कि 3 करोड़ 64 लाख लोग बेरोजगार हो गए हैं। कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार पर बेरोजगारी, आर्थिक सुस्ती, नागरिकता संशोधन कानून, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर और एनआरसी को लेकर हमला बोल रही है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि, नौकरियां देने के तमाम बड़े वादों की हकीकत यही है। देश के सात बड़े क्षेत्रों में करीब साढ़े तीन करोड़ लोग बेरोजगार हो गए हैं। बड़े-बड़े नामों और विज्ञापनों का नतीजा है 3 करोड़ 64 लाख लोग बेरोजगार हो गए। तभी तो सरकार नौकरी पर बात करने से कतराती है। इसके अलावा दिग्विजय सिंह ने भी केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि देश में बेरोजगारी की दर बढ़ रही है। पीएम मोदी को सलाल देते हुए कहा कि उन्हें राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण की जगह शिक्षित बेरोजगार भारतीय नागरिकों का राष्ट्रीय रजिस्टर बनाना चाहिए। बता दें कि कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार पर बेरोजगारी, आर्थिक सुस्ती, नागरिकता संशोधन कानून, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर और एनआरसी को लेकर हमला बोल रही है। एनआरसी एक नागरिक रजिस्टर है, जिसमें भारत के प्रत्येक नागरिक के नाम दर्ज हैं। नागरिकता अधिनियम, 1955 के अनुसार, एनआरसी का निर्माण अनिवार्य है।