चोरी के शक में भीड़ ने तीन लोगों को बुरी तरह पीटा, एक की मौत

चोरी के शक में भीड़ ने तीन लोगों को बुरी तरह पीटा, एक की मौत
चोरी के शक में भीड़ ने तीन लोगों को बुरी तरह पीटा, एक की मौत

नई दिल्ली। दक्षिण पश्चिम दिल्ली के उत्तम नगर इलाके में चोर होने के संदेह में भीड़ ने एक ऑटोरिक्शा चालक की कथित रूप से पीट पीट कर हत्या कर दी। ये घटना दक्षिण पश्चिम दिल्ली के उत्तम नगर की है। दरअसल, शख्स पर चोरी करने का संदेह था। इसके अलावा चोर होने के संदेह पर दो अन्य पुरुषों की भी पिटाई कर दी गई। जिसमें एक शख्स की मौत हो गई जबकि 2 लोग अस्पताल में जिंदगी के लिए जंग लड़ रहे हैं।

Three Men Beaten Up By Mob In Uttam Nagar Nagar Delhi One Died :

मामला दरअसल शनिवार की सुबह 4 बजे का है, जब मृतक अविनाश के ऑटो में दो शख्स सवार हुए। इन दोनों ने कहा कि इन्हें मोहन गार्डन से कुछ सामान उठाना है। वहां पहुंचकर अविनाश ऑटो से उतरकर पेशाब करने चला गया। ऑटो के पास लौटा तो देखा दोनों सवारियां कुछ बैटरी रखकर गए हैं। और कुछ लोगों की भीड़ चली आ रही।

दरअसल में ऑटों में सवार हुए दोनो शख्स जिनकी पहचान मुन्नीपाल और सूरज यादव के रूप में हुई है। दोनों ही पेशेवर अपराधी हैं और बैटरी चोरी करके ऑटो में रख रहे थे। चोरों की आहट पाते ही इलाके के कुछ लोग जग गए और इन दोनों चोरों की पिटाई शुरू कर दी। अपनी जान बचाने के लिए चोरों ने भीड़ को झूठ बोलते हुए कह दिया कि मृतक अविनाश उनके गैंग का सरगना है। उसके बाद भीड़ ने आरोपों के मुताबिक इन तीनों की बैटरी लेकर परेड निकलवाई। इसमें बाद अविनाश को बिजली के खम्भे से बांधकर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गयी।

अविनाश की मां कुसुम लता (48) ने कहा, ‘लोग उन्हें गालियां दे रहे थे और उन्हें चोर बुला रहे थे। अविनाश ने मुझे देखा और मदद के लिए रोया। जब मैंने हस्तक्षेप करने की कोशिश की, तो भीड़ ने मुझे धक्का दे दिया। यह कम से कम एक घंटे तक जारी रहा।’ जब उसके पति ने पुलिस को फोन करने की कोशिश की, तो भीड़ में से किसी ने उनका मोबाइल फोन छीन लिया। कोई भी उनके बेटे के बचाव में नहीं आया। वहां मौजूद लोग अपने मोबाइल फोन से वीडियो बनाने में लगे थे।

मृतक के माता-पिता ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उनके बेटे को सार्वजनिक रूप से पांच घंटे तक पीटा गया, लेकिन पुलिस को इस घटना के बारे में पता भी नहीं चला। वो समय पर पहुंचते तो अविनाश को बचाया जा सकता था। पीड़ित अपने माता-पिता, पत्नी और दो बच्चों को छोड़ गया है।

नई दिल्ली। दक्षिण पश्चिम दिल्ली के उत्तम नगर इलाके में चोर होने के संदेह में भीड़ ने एक ऑटोरिक्शा चालक की कथित रूप से पीट पीट कर हत्या कर दी। ये घटना दक्षिण पश्चिम दिल्ली के उत्तम नगर की है। दरअसल, शख्स पर चोरी करने का संदेह था। इसके अलावा चोर होने के संदेह पर दो अन्य पुरुषों की भी पिटाई कर दी गई। जिसमें एक शख्स की मौत हो गई जबकि 2 लोग अस्पताल में जिंदगी के लिए जंग लड़ रहे हैं।मामला दरअसल शनिवार की सुबह 4 बजे का है, जब मृतक अविनाश के ऑटो में दो शख्स सवार हुए। इन दोनों ने कहा कि इन्हें मोहन गार्डन से कुछ सामान उठाना है। वहां पहुंचकर अविनाश ऑटो से उतरकर पेशाब करने चला गया। ऑटो के पास लौटा तो देखा दोनों सवारियां कुछ बैटरी रखकर गए हैं। और कुछ लोगों की भीड़ चली आ रही।दरअसल में ऑटों में सवार हुए दोनो शख्स जिनकी पहचान मुन्नीपाल और सूरज यादव के रूप में हुई है। दोनों ही पेशेवर अपराधी हैं और बैटरी चोरी करके ऑटो में रख रहे थे। चोरों की आहट पाते ही इलाके के कुछ लोग जग गए और इन दोनों चोरों की पिटाई शुरू कर दी। अपनी जान बचाने के लिए चोरों ने भीड़ को झूठ बोलते हुए कह दिया कि मृतक अविनाश उनके गैंग का सरगना है। उसके बाद भीड़ ने आरोपों के मुताबिक इन तीनों की बैटरी लेकर परेड निकलवाई। इसमें बाद अविनाश को बिजली के खम्भे से बांधकर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गयी।अविनाश की मां कुसुम लता (48) ने कहा, 'लोग उन्हें गालियां दे रहे थे और उन्हें चोर बुला रहे थे। अविनाश ने मुझे देखा और मदद के लिए रोया। जब मैंने हस्तक्षेप करने की कोशिश की, तो भीड़ ने मुझे धक्का दे दिया। यह कम से कम एक घंटे तक जारी रहा।' जब उसके पति ने पुलिस को फोन करने की कोशिश की, तो भीड़ में से किसी ने उनका मोबाइल फोन छीन लिया। कोई भी उनके बेटे के बचाव में नहीं आया। वहां मौजूद लोग अपने मोबाइल फोन से वीडियो बनाने में लगे थे।मृतक के माता-पिता ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उनके बेटे को सार्वजनिक रूप से पांच घंटे तक पीटा गया, लेकिन पुलिस को इस घटना के बारे में पता भी नहीं चला। वो समय पर पहुंचते तो अविनाश को बचाया जा सकता था। पीड़ित अपने माता-पिता, पत्नी और दो बच्चों को छोड़ गया है।