दरभंगा में जमीन विवाद में चार लोगों की निर्मम हत्या

d

बिहार। बिहार के दरभंगा जिला के कुशेश्वरस्थान थाना क्षेत्र के उजवा गांव में आपसी भूमि विवाद में चार लोगों की हत्या हुई थी। हत्या के बाद घायल आरोपी सहरसा सदर थाना क्षेत्र के अलीनगर स्थित एक निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रहा था। तलाश करते-करते कुशेश्वरस्थान और बिरौल थाना की पुलिस सहरसा पहुंची और स्थानीय पुलिस की मदद से तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

Three Murder Accused Arrest From Saharsa :

पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई की है। गिरफ्तार आरोपियों में गंगा साह और उसके दो बेटे गौतम कुमार और मुन्न साह शामिल है। आरोपी ने मीडिया के सामने हत्या की बात कबूल की है। दरभंगा के कुशेश्वरस्थान थाना क्षेत्र के उजुआ सिमरटोका पंचायत में दो भाइयों के बीच काफी समय से जमीन विवाद चल रहा था।

इसी दौरान गुरुवार रात को भी इस मामले में विवाद शुरू हुआ। देखते ही देखते झड़प खूनी संघर्ष बन गया और चार लोगों की जीवनलीला समाप्त हो गई। दरअसल जमीन विवाद को लेकर बड़े भाई लक्ष्मी साह ने कुशेश्वरस्थान थाना में लिखित शिकायत की थी।

इसके बाद थानाध्यक्ष ने दोनों पक्षों को जनता दरबार में जमीन के कागज के साथ उपस्थित होने का नोटिस दिया था। लेकिन थाने में शिकायत करने के बाद ही यह घटना घटी। छोटे भाई गंगा साह के बेटे गौतम साह ने अपने चाचा लक्ष्मी साह समेत उनकी पत्नी बेटा कृष्णा और श्रवण सभी पर गोलियां चला दी।

गोली लगने से परिवार के चारों सदस्यों की मौत मौके पर ही हो गई। इस घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। घटना की सूचना पुलिस को मिली जिसके बाद एसएसपी बाबूराम ने फौरन एसडीपीओ बिरौल दिलीप झा को घटना स्थल पर पहुंचने का निर्देश दिया।

हालांकि दियारा क्षेत्र होने की वजह से पुलिस वहां काफी देर से पहुंची। पुलिस ने चारों शवों को कब्जे में ले लिया है। साथ ही घटना स्थल से गोली के खोखे बरामद किए। घटना के बाद गंगा राम साह का पूरा परिवार फरार था।

बिहार। बिहार के दरभंगा जिला के कुशेश्वरस्थान थाना क्षेत्र के उजवा गांव में आपसी भूमि विवाद में चार लोगों की हत्या हुई थी। हत्या के बाद घायल आरोपी सहरसा सदर थाना क्षेत्र के अलीनगर स्थित एक निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रहा था। तलाश करते-करते कुशेश्वरस्थान और बिरौल थाना की पुलिस सहरसा पहुंची और स्थानीय पुलिस की मदद से तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई की है। गिरफ्तार आरोपियों में गंगा साह और उसके दो बेटे गौतम कुमार और मुन्न साह शामिल है। आरोपी ने मीडिया के सामने हत्या की बात कबूल की है। दरभंगा के कुशेश्वरस्थान थाना क्षेत्र के उजुआ सिमरटोका पंचायत में दो भाइयों के बीच काफी समय से जमीन विवाद चल रहा था। इसी दौरान गुरुवार रात को भी इस मामले में विवाद शुरू हुआ। देखते ही देखते झड़प खूनी संघर्ष बन गया और चार लोगों की जीवनलीला समाप्त हो गई। दरअसल जमीन विवाद को लेकर बड़े भाई लक्ष्मी साह ने कुशेश्वरस्थान थाना में लिखित शिकायत की थी। इसके बाद थानाध्यक्ष ने दोनों पक्षों को जनता दरबार में जमीन के कागज के साथ उपस्थित होने का नोटिस दिया था। लेकिन थाने में शिकायत करने के बाद ही यह घटना घटी। छोटे भाई गंगा साह के बेटे गौतम साह ने अपने चाचा लक्ष्मी साह समेत उनकी पत्नी बेटा कृष्णा और श्रवण सभी पर गोलियां चला दी। गोली लगने से परिवार के चारों सदस्यों की मौत मौके पर ही हो गई। इस घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। घटना की सूचना पुलिस को मिली जिसके बाद एसएसपी बाबूराम ने फौरन एसडीपीओ बिरौल दिलीप झा को घटना स्थल पर पहुंचने का निर्देश दिया। हालांकि दियारा क्षेत्र होने की वजह से पुलिस वहां काफी देर से पहुंची। पुलिस ने चारों शवों को कब्जे में ले लिया है। साथ ही घटना स्थल से गोली के खोखे बरामद किए। घटना के बाद गंगा राम साह का पूरा परिवार फरार था।