चुनावी रंजिश में तीन की गोली मारकर हत्या

हमीरपुर: चुनावी रंजिश में पूर्व प्रधान के समर्थकों ने वर्तमान प्रधान पक्ष के लोगों को दौड़ा-दौड़ाकर गोलियां दागीं, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गयी। वहीं, एक को गंभीर हालत में झांसी मेडिकल कॉलेज रिफर कर दिया गया। उधर, घटना की सूचना पर डीएम, एसपी, स्वाट टीम प्रभारी समेत पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा। देर रात डीआईजी ज्ञानेश्वर तिवारी ने भी मौके का निरीक्षण किया। कोतवाली क्षेत्र के गांव अकौना में दो बार से लगातार प्रधान रहीं भगवती देवी पत्नी लालदिवान राजपूत इस बार हुए प्रधानी चुनाव में महबूब अली की पत्नी जुलेखा से चुनाव हार गई थीं। तभी से इनकी आपस में खुन्नस चल रही थी। कुछ दिन पूर्व भगवती देवी के रिश्तेदार अकौना निवासी सरसेंड़ा के पूर्व प्रधान महेन्द्र सिंह का विरोधी पक्ष के लोगों ने मारकर हाथ तोड़ दिया था। तभी से दोनों पक्षों में तनाव चला आ रहा था।



रविवार दिन में महेन्द्र सिंह लोधी पुत्र हरनाथ, जितेन्द्र पुत्र छोटा, करन सिंह पुत्र हरचरन, महेश पुत्र हरीसिंह, हरचरन पुत्र रघुनाथ तमंचे और रायफलों के साथ गांव में सीसी सड़क बनवा रहे महबूब अली को जान से मारने के लिये फायर झोंक दिया। महबूब किसी तरह बचकर सूरज के घर में घुस गया तभी महेन्द्र सिंह ने अपनी रायफल से भगवती उर्फ मुन्ना (41) पुत्र विश्वनाथ को उसी के दरवाजे पर बन रही सड़क के सामने गोली मार दी। इसके बाद जितेन्द्र सिंह ने तमंचे से बाबूलाल (38) पुत्र धनीराम अहिरवार को दौड़ाकर गोली मार दी। बीच बचाव करने आये धनीराम (57) पुत्र गोली को करन सिंह ने अपने पिता की लाइसेंसी रायफल से गोली मार दी। इस बीच जान बचाकर भाग रहे परमेश्वरी दयाल उर्फ खिल्लू (28) पुत्र हीरालाल के सीने में महेश लोधी ने तमंचे से गोली मार दी।




इसमें भगवती उर्फ मुन्ना, बाबूलाल व धनीराम की मौत हो गयी, जबकि परमेश्वरी दयाल उर्फ खिल्लू गंभीर रूप से घायल हो गया। परमेश्वरी दयाल को गंभीर हालत में झांसी मेडिकल कॉलेज रिफर कर दिया गया। उक्त पांचों आरोपियों ने कई राउंड फायर किये, जिससे गांव में अफरा-तफरी मच गई। घटना की सूचना पर जिले के सभी थानों की फोर्स गांव में तैनात कर दी गई। डीएम, एसपी समेत स्वाट टीम प्रभारी देर रात तक गांव में मौजूद रहे। वहीं, डीआईजी ज्ञानेश्वर तिवारी ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। अकौना गांव निवासी श्यामबिहारी अहिरवार पुत्र धनीराम अहिरवार ने कोतवाली में घटना की तहरीर दी, जिसके आधार पर पुलिस ने पांचों आरोपियों के खिलाफ 302, 147,148,149, 3(2)5 एससीएसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने देर रात तक तीन आरोपियों हरचरन, महेंद्र व जितेंद्र को गिरफ्तार कर लिया था। शेष दो आरोपियों की तलाश जारी है।