प्रभु राम से जुड़े धार्मिक स्थलों पर यात्रा कराने वाली ‘श्री रामायण एक्सप्रेस’ की बुकिंग शुरू

indian railway ,
RRB ALP, Technician Result: असिस्टेंट लोको पायलेट और टेक्नीशियन परीक्षा का रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक

नई दिल्ली। इंडियन रेलवे जहां अभी तक यात्रियों की सुविधाओं के लिए लगातार नए-नए प्रयास कर रहा है। वहीं अब धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए रेलवे की टूरिज्म विंग की तरफ से शुरू की जाने वाली स्पेशल ट्रेन ‘श्री रामायण एक्सप्रेस’ की बुकिंग शुरू हो गयी है। यह ट्रेन रामायण से जुड़े महत्वपूर्ण स्थलों की यात्रा कराएगी। बता दें कि यह स्पेशल ट्रेन 14 नवंबर को दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से चलेगी।

Ticket Booking Starsts Of Shri Ramayana Express :

बुकिंग शुरू होने के पहले ही दिन श्री रामायण एक्सप्रेस में छह लोगों ने बुकिंग कराई। यात्रियों के लिए खुशी की बात यह है कि श्री लंका जाने वालों ट्रेन का किराया 47 हजार से घटाकर 36 हजार 970 रुपये कर दिया गया है। इसमें आने-जाने का हवाई टिकट और श्री लंका में 6 दिन भ्रमण का खर्चा शामिल है।

16 दिनों की यात्रा के दौरान इसका पहला पड़ाव अयोध्या, हनुमान गढ़ी, रामकोट और कनक भवन मंदिर होगा। यह स्पेशल टूरिस्ट ट्रेन नंदीग्राम, सीतामढ़ी, जनकपुर, वाराणसी, प्रयाग, श्रिंगवेरपुर, चित्रकूट, नासिक, हंपी और रामेश्वरम या इनके नजदीकी स्टेशनों पर रुकेगी और इसमें एक बार में 800 यात्री यात्रा कर सकेंगे।

नई दिल्ली। इंडियन रेलवे जहां अभी तक यात्रियों की सुविधाओं के लिए लगातार नए-नए प्रयास कर रहा है। वहीं अब धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए रेलवे की टूरिज्म विंग की तरफ से शुरू की जाने वाली स्पेशल ट्रेन 'श्री रामायण एक्सप्रेस' की बुकिंग शुरू हो गयी है। यह ट्रेन रामायण से जुड़े महत्वपूर्ण स्थलों की यात्रा कराएगी। बता दें कि यह स्पेशल ट्रेन 14 नवंबर को दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से चलेगी।बुकिंग शुरू होने के पहले ही दिन श्री रामायण एक्सप्रेस में छह लोगों ने बुकिंग कराई। यात्रियों के लिए खुशी की बात यह है कि श्री लंका जाने वालों ट्रेन का किराया 47 हजार से घटाकर 36 हजार 970 रुपये कर दिया गया है। इसमें आने-जाने का हवाई टिकट और श्री लंका में 6 दिन भ्रमण का खर्चा शामिल है।16 दिनों की यात्रा के दौरान इसका पहला पड़ाव अयोध्या, हनुमान गढ़ी, रामकोट और कनक भवन मंदिर होगा। यह स्पेशल टूरिस्ट ट्रेन नंदीग्राम, सीतामढ़ी, जनकपुर, वाराणसी, प्रयाग, श्रिंगवेरपुर, चित्रकूट, नासिक, हंपी और रामेश्वरम या इनके नजदीकी स्टेशनों पर रुकेगी और इसमें एक बार में 800 यात्री यात्रा कर सकेंगे।