अगर आप भी हैं अवसाद के शिकार तो खाएं अंगूर

अगर आप भी हैं अवसाद के शिकार तो खाएं अंगूर
अगर आप भी हैं अवसाद के शिकार तो खाएं अंगूर

To Avoid Stress Use Grapes

लखनऊ। स्वादिष्ट फल अंगूर अक्सर सबका पसंदीदा होता है। एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर अंगूर स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी फल होता है। अगर आप अवसाद जैसी परेशानी से बचना चाहते हैं तो अंगूर जरूर खाएं। अभी हाल ही में एक शोध में पता चला कि अंगूर खाने से मनोविकार कम होता है।शोधकर्ताओं का मानना है कि भोजन में अंगूर को शामिल करने से मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जबकि अंगूर रहित आहार का सेवन करने वालों को निराशा व हताशा जैसे विकारों के लिए चिकित्सकों की शरण लेनी पड़ सकती है।

भोजन में अंगूर से मिलने वाले नैसर्गिक तत्वों से हताशा जैसे मनोविकार कम हो सकते हैं। मुख्य शोधकर्ता व न्यूयार्क के इकाह्न स्कूल ऑफ मेडिसिन में प्रोफेसर गियूलियो मारिया पसिनेत्ती ने कहा, ‘अंगूर रहित पोलीफिनॉल कम्पाउंड उत्तेजना से जुड़े कोशिकीय व आणविक मार्ग को निशाना बनाता है। लिहाजा इस संबंध में की गई नई खोज से निराशा व चिंताग्रस्त लोगों का इलाज संभव हो पाएगा।’

शोधकर्ता ने बताया कि अंगूर से तैयार बायोएक्टिव डायटरी पोलीफिनॉल तनाव प्रेरित निराशा की स्थिति से बाहर निकलने में मददगार व इस रोग के इलाज में प्रभावी हो सकता है। शोध में इसका उपयोग चूहे पर किया गया और नतीजा सकारात्मक आया। जाहिर है भोजन से जो पोषक तत्व हमारे शरीर को मिलता है वह रोगों की रोकथाम के लिए ज्यादा कारगर होता है।

लखनऊ। स्वादिष्ट फल अंगूर अक्सर सबका पसंदीदा होता है। एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर अंगूर स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी फल होता है। अगर आप अवसाद जैसी परेशानी से बचना चाहते हैं तो अंगूर जरूर खाएं। अभी हाल ही में एक शोध में पता चला कि अंगूर खाने से मनोविकार कम होता है।शोधकर्ताओं का मानना है कि भोजन में अंगूर को शामिल करने से मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जबकि अंगूर रहित आहार का सेवन करने वालों को निराशा व…