जीवन की बाधाओं से मुक्ति पाने के लिए करें इनमें से किसी एक तेल से शनिदेव का अभिषेक, मिलेगी कृपा

shanidev-ko-tel-se-abhishek-18-05-2020

नई दिल्ली: शनि देव कर्म फल दाता है, अच्छे कर्म करने वाले लोगों को यह शुभ फल देते हैं. परंतु बुरे काम करने वाले लोगों को इनके प्रकोप का सामना करना पड़ता है. जैसे ही शनिदेव का नाम आता है लोगों के मन में डर बैठ जाता है. हर कोई व्यक्ति शनि की बुरी दृष्टि से बचना चाहता है. लोग इनको प्रसन्न करने के लिए तरह-तरह के तरीके अपनाते हैं. ताकि इनकी कृपा से जीवन की परेशानियां समाप्त हो जाए. यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि दोष होता है तो इसकी वजह से उसके जीवन में बहुत सी परेशानियां उत्पन्न होने लगती है।

To Get Rid Of Lifes Obstacles Do The Consecration Of Shani Dev With One Of These Oils You Will Get Grace :

अगर आप अपने जीवन की इन परेशानियों से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इसके लिए हम आपको कुछ विभिन्न प्रकार के तेल से शनिदेव का अभिषेक करने के बारे में जानकारी देने वाले हैं, अगर आप शनिवार, मंगलवार या फिर अमावस्या तिथि पर तेल से शनिदेव का अभिषेक करते हैं तो यह आपसे बहुत ही शीघ्र प्रसन्न होंगे और इनकी कृपा दृष्टि आपके ऊपर बनी रहेगी, ऐसा माना जाता है कि इन उपायों को करने से शनिदेव की शुभ दृष्टि से व्यक्ति का जीवन खुशहाल बनता है।

आइए जानते हैं कौन से तेल से करें शनिदेव का अभिषेक

सरसों का तेल

शनिदेव की कृपा प्राप्त करने के लिए आप एक कटोरी में सरसों का तेल लीजिए और उसमें आप अपनी छाया देखकर शनिवार के दिन शाम के समय किसी भी शनि मंदिर में रख कर आ जाए, आप सरसों के तेल से शनिदेव का अभिषेक भी करें।

अगर आप अपने दुर्भाग्य से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इसके लिए आप सरसों के तेल में गेहूं के आटे और गुड़ से तैयार सात पुए, 7 आक के फूल, सिंदूर, आटे से बने हुए दीपक में सरसों का तेल, अरंडी के पत्ते पर रखकर शनिवार के दिन किसी भी चौराहे पर रखकर आप अपने दुर्भाग्य से मुक्ति पाने की शनि देव से प्रार्थना करके आप सीधा अपने घर पर वापस आ जाए, आप पीछे मुड़कर ना देखें।

अगर आपका व्यापार ठीक-ठाक नहीं चल रहा है, नौकरी के क्षेत्र में आपको तरक्की नहीं मिल पा रही है, तो ऐसे में आप किसी साफ शीशी में सरसों का तेल भरकर उसको किसी तालाब या फिर बहती हुई नदी में डाल दीजिए, इस उपाय को करने से शीघ्र ही आपका व्यापार ठीक प्रकार चलेगा और नौकरी के क्षेत्र में आपको लाभ मिलेगा।

शारीरिक कष्ट दूर करने के लिए आप शनिवार के दिन सवा किलो आलू और बैगन की सब्जी और उतनी ही पूरिया सरसों के तेल में बना कर किसी निर्धन व्यक्ति, लंगड़े, अंधे व्यक्ति को दीजिए।
चमेली का तेल

अगर आप अपनी मनोकामनाओ को पूरा करना चाहते हैं तो इसके लिए प्रत्येक मंगलवार या फिर शनिवार के दिन चमेली के तेल से शनि देवता का अभिषेक कीजिए और इनकी विधि विधान पूर्वक पूजा करें, इससे शनि देवता की कृपा दृष्टि आपके ऊपर हमेशा बनी रहेगी और आपकी इच्छाएं जल्द पूरी होगी।

शनि देव को भले ही सबसे क्रूर देवता माना जाता है परंतु यदि इनकी कृपा आपके ऊपर हो जाए तो इससे आपका भाग्य बदल सकता है, उपरोक्त शनिदेव की कृपा पाने के कुछ तरीके बताए गए, अगर आप इन तरीकों को अपनाते हैं तो इससे आपको निश्चित ही लाभ मिलेगा और आपकी परेशानियों का समाधान हो सकता है।

नई दिल्ली: शनि देव कर्म फल दाता है, अच्छे कर्म करने वाले लोगों को यह शुभ फल देते हैं. परंतु बुरे काम करने वाले लोगों को इनके प्रकोप का सामना करना पड़ता है. जैसे ही शनिदेव का नाम आता है लोगों के मन में डर बैठ जाता है. हर कोई व्यक्ति शनि की बुरी दृष्टि से बचना चाहता है. लोग इनको प्रसन्न करने के लिए तरह-तरह के तरीके अपनाते हैं. ताकि इनकी कृपा से जीवन की परेशानियां समाप्त हो जाए. यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि दोष होता है तो इसकी वजह से उसके जीवन में बहुत सी परेशानियां उत्पन्न होने लगती है। अगर आप अपने जीवन की इन परेशानियों से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इसके लिए हम आपको कुछ विभिन्न प्रकार के तेल से शनिदेव का अभिषेक करने के बारे में जानकारी देने वाले हैं, अगर आप शनिवार, मंगलवार या फिर अमावस्या तिथि पर तेल से शनिदेव का अभिषेक करते हैं तो यह आपसे बहुत ही शीघ्र प्रसन्न होंगे और इनकी कृपा दृष्टि आपके ऊपर बनी रहेगी, ऐसा माना जाता है कि इन उपायों को करने से शनिदेव की शुभ दृष्टि से व्यक्ति का जीवन खुशहाल बनता है। आइए जानते हैं कौन से तेल से करें शनिदेव का अभिषेक सरसों का तेल शनिदेव की कृपा प्राप्त करने के लिए आप एक कटोरी में सरसों का तेल लीजिए और उसमें आप अपनी छाया देखकर शनिवार के दिन शाम के समय किसी भी शनि मंदिर में रख कर आ जाए, आप सरसों के तेल से शनिदेव का अभिषेक भी करें। अगर आप अपने दुर्भाग्य से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इसके लिए आप सरसों के तेल में गेहूं के आटे और गुड़ से तैयार सात पुए, 7 आक के फूल, सिंदूर, आटे से बने हुए दीपक में सरसों का तेल, अरंडी के पत्ते पर रखकर शनिवार के दिन किसी भी चौराहे पर रखकर आप अपने दुर्भाग्य से मुक्ति पाने की शनि देव से प्रार्थना करके आप सीधा अपने घर पर वापस आ जाए, आप पीछे मुड़कर ना देखें। अगर आपका व्यापार ठीक-ठाक नहीं चल रहा है, नौकरी के क्षेत्र में आपको तरक्की नहीं मिल पा रही है, तो ऐसे में आप किसी साफ शीशी में सरसों का तेल भरकर उसको किसी तालाब या फिर बहती हुई नदी में डाल दीजिए, इस उपाय को करने से शीघ्र ही आपका व्यापार ठीक प्रकार चलेगा और नौकरी के क्षेत्र में आपको लाभ मिलेगा। शारीरिक कष्ट दूर करने के लिए आप शनिवार के दिन सवा किलो आलू और बैगन की सब्जी और उतनी ही पूरिया सरसों के तेल में बना कर किसी निर्धन व्यक्ति, लंगड़े, अंधे व्यक्ति को दीजिए। चमेली का तेल अगर आप अपनी मनोकामनाओ को पूरा करना चाहते हैं तो इसके लिए प्रत्येक मंगलवार या फिर शनिवार के दिन चमेली के तेल से शनि देवता का अभिषेक कीजिए और इनकी विधि विधान पूर्वक पूजा करें, इससे शनि देवता की कृपा दृष्टि आपके ऊपर हमेशा बनी रहेगी और आपकी इच्छाएं जल्द पूरी होगी। शनि देव को भले ही सबसे क्रूर देवता माना जाता है परंतु यदि इनकी कृपा आपके ऊपर हो जाए तो इससे आपका भाग्य बदल सकता है, उपरोक्त शनिदेव की कृपा पाने के कुछ तरीके बताए गए, अगर आप इन तरीकों को अपनाते हैं तो इससे आपको निश्चित ही लाभ मिलेगा और आपकी परेशानियों का समाधान हो सकता है।