1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. मातृ नवमी श्राद्ध 2021: मातृ नवमी है आज, जानें इस दिन किन पूर्वजों का श्राद्ध और तर्पण करते हैं

मातृ नवमी श्राद्ध 2021: मातृ नवमी है आज, जानें इस दिन किन पूर्वजों का श्राद्ध और तर्पण करते हैं

हिंदू धर्म में आश्विन मास का कृष्ण पक्ष पितरों को समर्पित होता है। इस समय में लोग अपने पूर्वजों का श्राद्ध और तर्पण करते हैं।

By अनूप कुमार 
Updated Date

मातृ नवमी श्राद्ध 2021: हिंदू धर्म में आश्विन मास का कृष्ण पक्ष पितरों को समर्पित होता है। इस समय में लोग अपने पूर्वजों का श्राद्ध और तर्पण करते हैं। पितृ पक्ष की नवमी तिथि पर माताओं और सुहागिन स्त्रियों के श्राद्ध और तर्पण का विधान है।आज 30 सितंबर है। आज मातृ नवमी श्राद्ध है। पंचांग के अनुसार, आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि को मातृ नवमी की पूजा की जाती है।

पढ़ें :- 26 सितम्बर का राशिफल: इन राशि के जातकों की होगी अच्छी कमाई, माता रानी इनकी हर मुराद करेंगी पूरी

पंचांग के अनुसार, नवमी तिथि 29 सितंबर 2021 को रात्रि 8:29 से शुरू होकर 30 सितंबर को रात्रि 10 बजकर 08 मिनट पर समाप्त होगी। मातृ नवमी का श्राद्ध कर्म आज 30 सितंबर, दिन गुरूवार को किया जाना है।आइए जानते हैं मातृ नवमी के दिन किन लोगों का श्राद्ध करना चाहिए और इसका सही तरीक क्या है।

मातृ नवमी के दिन सुबह- सुबह उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहनें। इसके बाद एक सफेद चौकी पर मृत परिजन की तस्वीर रखें। इस तस्वीर पर फूल, तुलसी और गंगजल चढ़ाएं और तस्वीर के सामने तिल का दीपक जलाएं और धूप बाती करें।

इसके बाद फोटो के सामने गरुड़ पुराण, गजेन्द्र मोश्र या भगवत गीता के नवे अध्याय का पाठ करें। इसके बाद श्राद्ध के भोजन को दक्षिण दिशा में रखें। इसके अलावा ब्राह्मणों को भोजन कराएं और अपने सामर्थ्य के अनुसार दान दें। मातृ नवमी के दिन ब्राह्माणों के अलावा कुत्ता, चिड़िया, कौआ आदि को भोजन कराना चाहिए।

पढ़ें :- 26 September Panchang: आश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा, जाने अशुभ समय शुभ मुहूर्त और राहुकाल के बारे में...
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...