1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. रियो ओलंपिक के तुलना में टोक्यो में India women’s hockey team ने किया बेहतर प्रदर्शन : सोजर्ड मारिन

रियो ओलंपिक के तुलना में टोक्यो में India women’s hockey team ने किया बेहतर प्रदर्शन : सोजर्ड मारिन

भारतीय महिला हॉकी टीम (India women's hockey team)  के मुख्य कोच, सोजर्ड मारिन (Head Coach, Sjoerd Marijne) ने मंगलवार को कहा कि टोक्यो ओलंपिक 2020 (Tokyo Olympics 2020) में भारत की लड़कियों ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि 41 साल में यह पहली बार है जब हमने सेमीफाइनल में जगह बनाई है। सोजर्ड मारिन ने कहा कि अगर आप इसकी तुलना रियो ओलंपिक (Rio Olympics )से करें तो यह बहुत बड़ा अंतर है। लड़कियों ने कंडीशनिंग पक्ष और मानसिक पक्ष में एक बड़ा कदम उठाया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई  दिल्ली। भारतीय महिला हॉकी टीम (India women’s hockey team)  के मुख्य कोच, सोजर्ड मारिन (Head Coach, Sjoerd Marijne) ने मंगलवार को कहा कि टोक्यो ओलंपिक 2020 (Tokyo Olympics 2020) में भारत की लड़कियों ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि 41 साल में यह पहली बार है जब हमने सेमीफाइनल में जगह बनाई है। सोजर्ड मारिन ने कहा कि अगर आप इसकी तुलना रियो ओलंपिक (Rio Olympics )से करें तो यह बहुत बड़ा अंतर है। लड़कियों ने कंडीशनिंग पक्ष और मानसिक पक्ष में एक बड़ा कदम उठाया है।

पढ़ें :- Olympics में भी लगेंगे चौके-छक्के? ICC ने वर्किंग ग्रुप का किया गठन

उन्होंने कहा कि भले ही हमने कांस्य नहीं जीता और मैं पहले ही कह चुका हूं, लेकिन हमने कुछ बड़ा जीता है। अगर मैं अपने सोशल मीडिया पर संदेश देखता हूं या मेल प्राप्त करता हूं, तो उन्हें कितना गर्व होता है और लड़कियों ने वह हासिल किया जो कुछ आश्चर्यजनक है।

तो वहीं भारतीय महिला हॉकी टीम की गोलकीपर सविता पुनिया (Women’s Hockey Team goalkeeper Savita Punia)ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक 2020 में ब्रॉन्ज मेडल के लिए खेले जा रहे मैच में हम सभी काफी इमोशनल थे, यह स्वीकार करना मुश्किल था कि इतने करीब होते हुए भी हम ब्रॉन्ज मेडल (Bronze Medal ) हार गए। लेकिन कुल मिलाकर टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया है।

गोलकीपर सविता पुनिया (Savita Punia)ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक के शुरुआती मैचों में टीम ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। कोच सोजर्ड मारिन इसको लेकर काफी नाखुश थे और ग्रेट ब्रिटेन से हारने पर उन्होंने हमारे साथ लंच नहीं किया। तभी हमने तय किया कि हम पर उनका विश्वास कायम है। वह हमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित करते रहे।

पढ़ें :- Tokyo Olympics 2020 : खट्टर सरकार रवि दाहिया को चार करोड़, कांस्य पदक विजेताओं को ढाई-ढाई करोड़ रुपये देगी पुरस्कार
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...