1. हिन्दी समाचार
  2. क्रिकेट
  3. Tokyo Olympic: सुनील गावस्कर ने क्यों कहा- खिलाड़ियों को पुरस्कार राशि मिली या नहीं, इसकी जांच समय से होती रहे

Tokyo Olympic: सुनील गावस्कर ने क्यों कहा- खिलाड़ियों को पुरस्कार राशि मिली या नहीं, इसकी जांच समय से होती रहे

टोक्यो ओलंपिक के बारे में सबसे खास बात यह है कि इसे प्रिंट, इलेक्ट्रानिक और हर तरह के मीडिया ने शानदार कवरेज दी है। महामारी के दौरान कई अखबारों के पत्रकार इसकी कवरेज के लिए टोक्यो नहीं जा सके, मगर इसके बावजूद उन सभी ने सर्वश्रेष्ठ अंदाज में अपनी कवरेज का प्रस्तुतिकरण दिया।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

Tokyo Olympic: टोक्यो ओलंपिक(Tokyo Olympic) के बारे में सबसे खास बात यह है कि इसे प्रिंट, इलेक्ट्रानिक और हर तरह के मीडिया ने शानदार कवरेज दी है। महामारी के दौरान कई अखबारों के पत्रकार इसकी कवरेज के लिए टोक्यो नहीं जा सके, मगर इसके बावजूद उन सभी ने सर्वश्रेष्ठ अंदाज में अपनी कवरेज(Covrage) का प्रस्तुतिकरण दिया। इस दौरान टोक्यों से पदक(Medal) जीत के स्वदेश लौटें खिलाड़ियो को दिये जानें वाली कई ईनाम राशियों(Money) की घोषणा सरकारों और कंपनियों के द्वारा की गई है।

पढ़ें :- T20 World Cup: भारत के रहस्मयी स्पिनर के लिए सलमान बट्ट ने कहा,'पाकिस्तान का हर बच्चा इस तरह की बॉलिंग को गलियों में खेलता है'

इस पर सवाल उठाते हुए भारत के पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर(Sunil Gavskar) ने कहा है कि खिलाड़ियों को जो ईनाम राशि देने की घोषणा की गई है वो उन तक समय से पहुंचे इसके लिए भी जांच होती रहनी चाहिए। उन्होंने ऐसा क्यों कहा है क्योंकि उनके पास 1983 क्रिकेट विश्व कप(Cricket world Cup) जीत का अनुभव है कि उस समय कितने पुरस्कार, राशि और न जाने किन-किन चीजों को देने की बात कही गई थी, लेकिन उसके बाद क्या हुआ, करीब 95 प्रतिशत से अधिक खिलाड़ियों(Players) को वादे के अनुसार कुछ भी नहीं मिला। कुछ कंपनियों ने अपना वादा पूरा किया एक दशक(Dashak) या उसके बाद उन्होंने अपने हाथ पीछे खींच लिए, जबकि कुछ ब्रांड बाजार से गायब हो गए, लेकिन कम से कम उन्होंने उन शुरुआती वर्षों के लिए अपने वादे को तो पूरा किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...