1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. Tokyo Paralympics: टोक्यो पैरालांपिक में कांस्य पदक जीतकर सिंहराज ने रचा इतिहास, शूटर बनने के लिए पत्नी के बेचे थे गहने

Tokyo Paralympics: टोक्यो पैरालांपिक में कांस्य पदक जीतकर सिंहराज ने रचा इतिहास, शूटर बनने के लिए पत्नी के बेचे थे गहने

Tokyo Paralympics: टोक्यो पैरालांपिक में भारत की झोली में खूब मेडल बरस रहे हैं। इस बीच टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) में सिंहराज अडाना (Sinharaj Adana) ने कांस्य पदक (bronze medal) जीतकर इतिहास रचा है। इन्होंने पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा एसएच-1 के फाइलन में कांस्य पदक (bronze medal) जीता है। उन्होंने यह पदक 216.8 अंकों के साथ अपनी झोली में डाला। सिंहराज (Sinharaj Adana) की इस ऐतिहासिक जीत पर उन्हें देशभर से बधाई मिल रही है। पीएम मोदी (Pm Modi) ने भी उनहें बधाई दी है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Tokyo Paralympics: टोक्यो पैरालांपिक में भारत की झोली में खूब मेडल बरस रहे हैं। इस बीच टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) में सिंहराज अडाना (Sinharaj Adana) ने कांस्य पदक (bronze medal) जीतकर इतिहास रचा है। इन्होंने पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा एसएच-1 के फाइलन में कांस्य पदक (bronze medal) जीता है। उन्होंने यह पदक 216.8 अंकों के साथ अपनी झोली में डाला। सिंहराज (Sinharaj Adana) की इस ऐतिहासिक जीत पर उन्हें देशभर से बधाई मिल रही है। पीएम मोदी (Pm Modi) ने भी उनहें बधाई दी है।

पढ़ें :- Tokyo Paralympics: भारत की झोली में एक और मेडल, कृष्णा नागर ने बैडमिंटन में जीता स्वर्ण पदक
Jai Ho India App Panchang

सोशल मीडिया पर सिंहराज (Sinharaj Adana) की जमकर तारीफ की जा रही है। बता दें कि, सिंहराज  (Sinharaj Adana) मूल रूप से हरियाणा के बहादुरगढ़ क्षेत्र के रहने वाले हैं। टोक्यो पैरालांपिक तक पहुंचने में उन्होंन काफी मशक्कत का सामना किया है। काफी मुश्किलों के बाद उन्होंने यहां तक का सफर तय किया और कांस्य पादक जीता। दरअसल, निशानेबाजी के दौरान दिव्यांगता कभी भी बाधा नहीं बन पाई।

आर्थिक परेशानियों के बीच भी सिंहराज (Sinharaj Adana) अपने मिशन पर लगातार लगे रहे और ट्रेनिंग करते रहे। तमाम मुश्किलों के बाद भी उनके हौसले कभी पस्त नहीं हुए। पीएम मोदी के साथ इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि निशानेबाज बनने के स्वपन को पूरा करने के लिए उनकी पत्नी को अपनी ज्वैलरी तक बेचनी पड़ी थी।

साक्षात्कार के दौरान उन्होंने पीएम (Pm Modi) से कहा था, शूटिंग बहुत ही खर्चीला खेल है और मेरे लिए यह आसान नहीं था। मेरे शूटिंग के सपने को पूरा करने करने के लिए मेरी पत्नी ने अपने जेवरात बेच दिए थे। पैरा एथलीट सिंहराज ने मार्च 2021 में संयुक्त अरब अमीरात में आयोजित पैरा शूटिंग वर्ल्ड कप में स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल एसएच-1 स्पर्धा के फाइनल में उज्बेकिस्तान के सर्वर इब्रागिमोव को 2.8 अंकों से हराकर गोल्ड मेडल जीता था।

पढ़ें :- Tokyo Paralympics: गौतमबुद्ध नगर के डीएम ने रजत पदक जीतकर रचा इतिहास, PM ने दी बधाई
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...