VIDEO: खाकी ने फिर किया इंसानियत को शर्मसार, इसे देख आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे

maharajganj-police

महराजगंज। इन दिनों सोशल मीडिया पर यूपी के महराजगंज पुलिस की एक वीडियो वायरल हो रही है जिसमें दो पुलिसकर्मी एक नाबालिग युवक को टार्चर करते दिख रहे हैं। इंसानियत भूल जिस तरह से ये दोनों पुलिस वाले युवक के साथ बर्ताव कर रहे हैं उसे देख आपके भी रोंगटे खड़े हो सकते हैं। नाबानिग आरोपी खुद को छोड़ने की मिन्नते कर रहा है, चीख-चिल्लाकर भीख मांग रहा है। लेकिन दारोगा को लगता है कि उनके जल्लाद बनने से ही वो कबूलेगा की उसी ने चोरी की है।

Torturing Boy Inside Police Station Compound In Maharajganj :

इस वीडियो में देखा जा सकता है कि आरोपी पुलिसवालों से खुद को छोड़ देने की अपील करता है, लेकिन पुलिस वालों को इस नाबालिग पर दया नहीं आई और लगातार उसकी पिटाई करते रहे। दोनों पुलिस वाले पहले नाबालिग के पैर पर लकड़ी का एक टुकड़ा लगाते हैं और दोनों तरफ खड़े हो जाते हैं। लड़का दया करने की मांग करते हुए रोता है, लेकिन पुलिसकर्मी उस पर दया नहीं करते। यहीं नहीं दोनों पुलिसकर्मियों के वरिष्ठ अधिकारी भी उस लकड़ी के टुकड़े पर चढ़कर संतुलन बनाने के लिए प्रयास करते हैं, जिससे यह युवक दर्द के मारे चीख उठता है।

ये वीडियो महाराजगंज जिले के पनियरा थानाक्षेत्र का है। यहां बीते 16 सितंबर को उस्का ग्रामसभा में एक महिला के घर चोरी हुई थी और महिला की तहरीर पर पनियरा पुलिस ने गांव के ही दो नाबालिगो को पूछताछ के लिए उठा लिया था। चोरी की वारदात का खुलासा करने के लिए इन दोनों को एक-दो नहीं बल्कि 14 दिनों तक लगातार थाने में बंद करके पीटा जाता रहा। मानवता को तार-तार करते इस दारोगा को कोई फर्क नहीं पड़ रहा कि आरोपी की सच्चाई क्या है। वो तो बस जैसे-तैसे उससे एक जुर्म कबूल करवाना चाहते हैं।

pardaphash.com इस बात का दावा नहीं करता कि आरोपी चोर नहीं हो सकता या उसने चोरी नहीं की होगी लेकिन जिस तरह से वीडियो में इंसानियत को शर्मसार किया जा रहा है वो वाकई में शर्मनाक हैं। हालांकि इन दोनों पुलिस वालों को वायरल वीडियो के आधार पर निलंबित कर दिया गया है।

महराजगंज। इन दिनों सोशल मीडिया पर यूपी के महराजगंज पुलिस की एक वीडियो वायरल हो रही है जिसमें दो पुलिसकर्मी एक नाबालिग युवक को टार्चर करते दिख रहे हैं। इंसानियत भूल जिस तरह से ये दोनों पुलिस वाले युवक के साथ बर्ताव कर रहे हैं उसे देख आपके भी रोंगटे खड़े हो सकते हैं। नाबानिग आरोपी खुद को छोड़ने की मिन्नते कर रहा है, चीख-चिल्लाकर भीख मांग रहा है। लेकिन दारोगा को लगता है कि उनके जल्लाद बनने से ही वो कबूलेगा की उसी ने चोरी की है।इस वीडियो में देखा जा सकता है कि आरोपी पुलिसवालों से खुद को छोड़ देने की अपील करता है, लेकिन पुलिस वालों को इस नाबालिग पर दया नहीं आई और लगातार उसकी पिटाई करते रहे। दोनों पुलिस वाले पहले नाबालिग के पैर पर लकड़ी का एक टुकड़ा लगाते हैं और दोनों तरफ खड़े हो जाते हैं। लड़का दया करने की मांग करते हुए रोता है, लेकिन पुलिसकर्मी उस पर दया नहीं करते। यहीं नहीं दोनों पुलिसकर्मियों के वरिष्ठ अधिकारी भी उस लकड़ी के टुकड़े पर चढ़कर संतुलन बनाने के लिए प्रयास करते हैं, जिससे यह युवक दर्द के मारे चीख उठता है। ये वीडियो महाराजगंज जिले के पनियरा थानाक्षेत्र का है। यहां बीते 16 सितंबर को उस्का ग्रामसभा में एक महिला के घर चोरी हुई थी और महिला की तहरीर पर पनियरा पुलिस ने गांव के ही दो नाबालिगो को पूछताछ के लिए उठा लिया था। चोरी की वारदात का खुलासा करने के लिए इन दोनों को एक-दो नहीं बल्कि 14 दिनों तक लगातार थाने में बंद करके पीटा जाता रहा। मानवता को तार-तार करते इस दारोगा को कोई फर्क नहीं पड़ रहा कि आरोपी की सच्चाई क्या है। वो तो बस जैसे-तैसे उससे एक जुर्म कबूल करवाना चाहते हैं।pardaphash.com इस बात का दावा नहीं करता कि आरोपी चोर नहीं हो सकता या उसने चोरी नहीं की होगी लेकिन जिस तरह से वीडियो में इंसानियत को शर्मसार किया जा रहा है वो वाकई में शर्मनाक हैं। हालांकि इन दोनों पुलिस वालों को वायरल वीडियो के आधार पर निलंबित कर दिया गया है।