1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. Tourist Destination: घूमने के लिए इन डेस्टिनेशन पर जरूर जाएं, प्रकृति प्रेमियों के लिए है सुकून वाली जगह

Tourist Destination: घूमने के लिए इन डेस्टिनेशन पर जरूर जाएं, प्रकृति प्रेमियों के लिए है सुकून वाली जगह

महानगरों के शोरगुल से अगर आप हो गए हैं परेशान तो आप कुछ दिन प्रकृति की गोद बिताएं।  प्राकृतिक सुन्दरता फील करें।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Tourist Destination: महानगरों के शोरगुल से अगर आप हो गए हैं परेशान तो आप कुछ दिन प्रकृति की गोद बिताएं।  प्राकृतिक सुन्दरता फील करें। भारत में कई ऐसे स्थल हैं जो शहरों के शोरगुल से दूर हैं और वहां का शान्त वातवरण एक कार मन मस्तिष्क को कुदरती बना देता है।अगर आप खुद के साथ वक्त बिताना चाहते हैं तो आपके लिए छत्तीसगढ़ के ये डेस्टिनेशन परफेक्ट हैं। आइए जानते हैं उन जगहों के बारे में जहां आप खुद से मिल सकते हैं।

पढ़ें :- Winter Tourist Destinations : हिमाचल के बंजार घाटी में बसा है जीभी गांव, सर्दियों देखिए कुदरत के नजारे

छत्तीसगढ़ का स्वर्ग चिरमिरी
कोरिया जिले में स्थित चिरमिरी को छत्तीसगढ़ का स्वर्ग कहा जाता है।खूबसूरत हिल स्टेशन है।यहां पर हरे-भरे पेड़, पहाड़, मंदिर और नदियां इसे बेहद ही खूबसूरत बनाती हैं। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह बहुत ही सुकून वाली जगह है। चिरमिरी रेल और सड़क मार्ग के जरिये प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

तीरथगढ़ वॉटरफॉल
अगर आपको झरने का संगीत लुभाता है तो आपके लिए तीरथगढ़ वॉटरफॉल किसी अलौकिक दुनिया से कम नहीं है। बस्तर जिले में कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में कांगेर नदी की सहायक नदी मुनगा और बहार नदी के बीच में यह वॉरफॉल है। यह झरना लगभग तीन सौ फीट ऊंचाई से नीचे गिरता है। इस झरने के पास ही शिव जी और पार्वती माता का एक मंदिर भी है। यहां की खूबसूरती देखने लायक है। इस वॉरफॉल के अलावा छत्तीसगढ़ में तातापानी, रक्सगंडा सहित कई जलप्रपात हैं।

पढ़ें :- Home Remedies For Dandruff : मिल गया डैंड्रफ और हेयरफॉल का रामबाण इलाज, घर में ऐसे तैयार करें आयुर्वेदिक दवा

ढोलकल गणेश
ढोलकल गणेश छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले से केवल 18 किलोमीटर दूर स्थित फरसपाल गांव के पास बैलाडिला पहाड़ी पर स्थित है। करीब तीन हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यहां पर गणेशजी की एक विशालकाय और प्राचीन मूर्ति स्थापित की गई है। इस मंदिर तक पहुंचने के लिए आपको बैलाडीला के जंगलों में ट्रैकिंग करना पड़ेगी और ऊंची पहाड़ी पर चढ़ान भी होगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...