सोनौली सीमा पर आवागमन पूर्ण रूप से ठप वाहन भी रोके गए

VideoCapture_20200324-173559

सोनौली । कोरोना वायरस को लेकर दोनों देशों की सरकार ने कड़े फैसले लेकर भारत नेपाल सीमा सोनौली से भारत से नेपाल दोनों तरफ से आवागमन को पूर्ण रूप ठप कर दिया गया है। अब भारत से नेपाल और नेपाल से भारत किसी भी यात्री को प्रवेश नही मिल रहा है। सोमवार की देर शाम तक सीमा में फंसे भारत से नेपाल आने जाने वाले नेपाली और भारतीय नागरिकों के नाम पते और मोबाइल नम्बर लेकर जांच के बाद नेपाल और भारत के प्रशासन ने प्रवेश की अनुमति दी थी।

Traffic On Sonauli Border Completely Halted :

मंगलवार की सुबह से नेपाल प्रशासन ने भारत से जाने वाले खाद्यान्न फल सब्जी पैट्रोल डीजल के अलावा अन्य सामानों को पास करने पर रोक लगा दी जिससे इनके अलावा अन्य मालवाहक ट्रकों के आवागमन को सोनौली पुलिस ने भारतीय सीमा में ही रोक दिया गया। यात्रियों का आवागमन ठप है। सोमवार की देर शाम तक सरहद पर दोनों तरफ फसे भारतीय और नेपाली कुल 648 लोगो को भारत और नेपाल ने अपने अपने नागरिकों को पहचान पत्र देख कर नाम पता और मोबाइल नम्बर लेने के बाद अनुमति दिया।

इस सम्बंध में एसएसबी सहायक सेनानायक संजय प्रसाद ने बताया कि उच्चाधिकारियों के निर्देश पर सीमा में फंसे भारतीय नागरिकों को जांच ज बाद प्रवेश दिया गया है। सीमा पर अगले आदेश तक आवागमन बन्द है।

नेपाली पेट्रोल डीजल की गाड़ियां हुई वापस

गोरखपुर जनपद में लाक डाउन होने के बाद नेपाल से बैतालपुर गयी दर्जनों डीजल पेट्रोल के वाहनों को कैम्पियरगंज से खाली वापस लौटना पड़ा और वह खाली वाहन लेकर नेपाल चले गए। चालक रामबृक्ष दीपक थापा रमेश बस्नेत सुग्रीम आदि ने बताया कि कैम्पियरगंज पहुचने पर पुलिस ने गोरखपुर जनपद में प्रवेश नही दिया। और वापस नेपाल जाने की हिदायद देकर वापस कर दिया ।

रूपनदेही में निषेधाज्ञा लागू

भारत नेपाल सीमा से सटे रूपनदेही जिले में जिला प्रशासन ने निषेधाज्ञा लागू करते हुए एहतियातन तौर पर सार्वजनिक दुकानें बन्द करने के निर्देश दिए है। एक साथ पाँच लोगो के एकत्रित होने पर भी रोक लगा दिया है। बाइक साइकिल को छोड़ अन्य वाहनों के चलने पर भी रोक है।

डीएम रूपनदेही महादेव पंथ ने बताया कि निषेधाज्ञा लागू है। कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता बरती जा रही है।

सोनौली बस डिपो बन्द

कोरोना वायरस को लेकर सोनौली बस डिपो को बन्द कर दिया गया है। सोमवार को सोनौली बस डिपो से तीन बस संचालित थी। जो महराजगंज सिद्दार्थ नगर निचलौल के लिए चलाई गई थी जिसे मंगलवार को पूरी तरह बन्द कर दिया गया।

एआरएम सीके भाष्कर ने बताया कि डिपो बन्द है। कोरोना वायरस को लेकर सभी बसे खड़ी कर दिया गया है।

कोरोना वायरस कैम्प में डॉक्टर मौजूद

सरहद के नो मेंस लेंड पर भारत और नेपाल सरकार द्वारा यात्रियों के जांच के लिए बनाये गए स्वास्थ कैम्प में मंगलवार को आवागमन ठप होने के बाद भी डॉक्टरों की तैनाती रही।

एसडीएम नौतनवा जसधीर सिह यादव ने बताया कि हालात सामान्य होने तक सीमा पर डॉक्टर रहेंगे।

बार्डर पर फसे ट्रक चालक परिचालक

सोनौली बार्डर पर सैकड़ो की संख्या में फसे चालको परिचालक का कहना है एक हम तीन दिन से फसे है । नेपाल केबल खाद्य पदार्थ सामग्री के ट्रकों को आने दे रहा है । बाकी सामानों नो प्रवेश पर रोक लगा दिया है । हम सभी फसे है ।

 

सोनौली में पसरा सन्नाटा

पड़ोसी राष्ट्र नेपाल तथा भारतीय सीमाओ में कोरोना वायरस को लेकर लॉक डाउन घोषित किए जाने के बाद से आज मंगलवार को सरहद के दोनों पार सन्नाटा पसरा हुआ है अघोषित कर्फ्यू जैसी स्थिति बनी हुई है। सड़कों पर पुलिस और जिम्मेदार लोगों के वाहन ही दौड़ते दिखाई दे रहे हैं। भारत नेपाल का सोनौली बार्डर अप्रत्यक्ष रूप से सील है। किसी भी तरह के आवागमन पूर्ण रूप से ठप है। केवल मालवाहक ट्रकों को छोड़कर। लव डाउन का असर खासकर भारत नेपाल सीमा से सटा पड़ोसी जिला रूपंदेही का भैरहवा कस्बा पूरा सन्नाटा पसरा हुआ है।

 

सोनौली । कोरोना वायरस को लेकर दोनों देशों की सरकार ने कड़े फैसले लेकर भारत नेपाल सीमा सोनौली से भारत से नेपाल दोनों तरफ से आवागमन को पूर्ण रूप ठप कर दिया गया है। अब भारत से नेपाल और नेपाल से भारत किसी भी यात्री को प्रवेश नही मिल रहा है। सोमवार की देर शाम तक सीमा में फंसे भारत से नेपाल आने जाने वाले नेपाली और भारतीय नागरिकों के नाम पते और मोबाइल नम्बर लेकर जांच के बाद नेपाल और भारत के प्रशासन ने प्रवेश की अनुमति दी थी। मंगलवार की सुबह से नेपाल प्रशासन ने भारत से जाने वाले खाद्यान्न फल सब्जी पैट्रोल डीजल के अलावा अन्य सामानों को पास करने पर रोक लगा दी जिससे इनके अलावा अन्य मालवाहक ट्रकों के आवागमन को सोनौली पुलिस ने भारतीय सीमा में ही रोक दिया गया। यात्रियों का आवागमन ठप है। सोमवार की देर शाम तक सरहद पर दोनों तरफ फसे भारतीय और नेपाली कुल 648 लोगो को भारत और नेपाल ने अपने अपने नागरिकों को पहचान पत्र देख कर नाम पता और मोबाइल नम्बर लेने के बाद अनुमति दिया। इस सम्बंध में एसएसबी सहायक सेनानायक संजय प्रसाद ने बताया कि उच्चाधिकारियों के निर्देश पर सीमा में फंसे भारतीय नागरिकों को जांच ज बाद प्रवेश दिया गया है। सीमा पर अगले आदेश तक आवागमन बन्द है। नेपाली पेट्रोल डीजल की गाड़ियां हुई वापस गोरखपुर जनपद में लाक डाउन होने के बाद नेपाल से बैतालपुर गयी दर्जनों डीजल पेट्रोल के वाहनों को कैम्पियरगंज से खाली वापस लौटना पड़ा और वह खाली वाहन लेकर नेपाल चले गए। चालक रामबृक्ष दीपक थापा रमेश बस्नेत सुग्रीम आदि ने बताया कि कैम्पियरगंज पहुचने पर पुलिस ने गोरखपुर जनपद में प्रवेश नही दिया। और वापस नेपाल जाने की हिदायद देकर वापस कर दिया । रूपनदेही में निषेधाज्ञा लागू भारत नेपाल सीमा से सटे रूपनदेही जिले में जिला प्रशासन ने निषेधाज्ञा लागू करते हुए एहतियातन तौर पर सार्वजनिक दुकानें बन्द करने के निर्देश दिए है। एक साथ पाँच लोगो के एकत्रित होने पर भी रोक लगा दिया है। बाइक साइकिल को छोड़ अन्य वाहनों के चलने पर भी रोक है। डीएम रूपनदेही महादेव पंथ ने बताया कि निषेधाज्ञा लागू है। कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता बरती जा रही है। सोनौली बस डिपो बन्द कोरोना वायरस को लेकर सोनौली बस डिपो को बन्द कर दिया गया है। सोमवार को सोनौली बस डिपो से तीन बस संचालित थी। जो महराजगंज सिद्दार्थ नगर निचलौल के लिए चलाई गई थी जिसे मंगलवार को पूरी तरह बन्द कर दिया गया। एआरएम सीके भाष्कर ने बताया कि डिपो बन्द है। कोरोना वायरस को लेकर सभी बसे खड़ी कर दिया गया है। कोरोना वायरस कैम्प में डॉक्टर मौजूद सरहद के नो मेंस लेंड पर भारत और नेपाल सरकार द्वारा यात्रियों के जांच के लिए बनाये गए स्वास्थ कैम्प में मंगलवार को आवागमन ठप होने के बाद भी डॉक्टरों की तैनाती रही। एसडीएम नौतनवा जसधीर सिह यादव ने बताया कि हालात सामान्य होने तक सीमा पर डॉक्टर रहेंगे। बार्डर पर फसे ट्रक चालक परिचालक सोनौली बार्डर पर सैकड़ो की संख्या में फसे चालको परिचालक का कहना है एक हम तीन दिन से फसे है । नेपाल केबल खाद्य पदार्थ सामग्री के ट्रकों को आने दे रहा है । बाकी सामानों नो प्रवेश पर रोक लगा दिया है । हम सभी फसे है ।   सोनौली में पसरा सन्नाटा पड़ोसी राष्ट्र नेपाल तथा भारतीय सीमाओ में कोरोना वायरस को लेकर लॉक डाउन घोषित किए जाने के बाद से आज मंगलवार को सरहद के दोनों पार सन्नाटा पसरा हुआ है अघोषित कर्फ्यू जैसी स्थिति बनी हुई है। सड़कों पर पुलिस और जिम्मेदार लोगों के वाहन ही दौड़ते दिखाई दे रहे हैं। भारत नेपाल का सोनौली बार्डर अप्रत्यक्ष रूप से सील है। किसी भी तरह के आवागमन पूर्ण रूप से ठप है। केवल मालवाहक ट्रकों को छोड़कर। लव डाउन का असर खासकर भारत नेपाल सीमा से सटा पड़ोसी जिला रूपंदेही का भैरहवा कस्बा पूरा सन्नाटा पसरा हुआ है।