ट्राई की नई पहल: ऐसे मिलेगा अनचाही कॉल और मेसेज से छुटकारा

TRAI,ट्राई , अनचाही कॉल और मेसेज
ट्राई की नई पहल: ऐसे मिलेगा अनचाही कॉल और मेसेज से छुटकारा

नई दिल्ली। अगर आप भी अनचाही कॉल और मेसेजेस से हो गए हैं परेशान तो यह आपके लिए काम की खबर है। दरअसल टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया(TRAI) ने यूजर्स के पास आने वाली अनचाहे कॉल्स और मैसेज से छुटकारा दिलाने के लिए नए नियमों का ऐलान किया है। नए नियमों के तहत टेलीमार्केटिंग कॉल्स और मैसेज भेजने के लिए यूजर की सहमति को अनिवार्य कर दिया गया है।

रजिस्टर्ड सेंडर ही भेज सकेंगे मैसेज

{ यह भी पढ़ें:- TRAI की रिपोर्ट में Airtel नंबर 1 और Jio नंबर 2 }

रेग्युलेटर ने टेलीकॉम ऑपेरटर्स को यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि कमर्शियल कम्युनिकेशन केवल रजिस्टर्ड सेंडर्स ही कर सकें। ट्राई ने बयान में कहा, ‘रेग्युलेशन में पूरी तरह बदलाव जरूरी हो गया था। नए नियम का उद्देश्य यूजर्स को स्पैम से हो रही परेशानी को प्रभावी रूप से रोकना है।’ सर्विस प्रोवाइडर इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि यूजर्स की अनुमति के बिना इस तरह कॉल्स और मैसेज उन तक न पहुंचें।

यूजर्स का होगा पूरा नियंत्रण

{ यह भी पढ़ें:- इस वजह से अगले साल से नंबर पोर्टबिलिटी हो सकती है बंद }

नए नियमों के तहत सेंडर्स के रजिस्ट्रेशन और सब्सक्राइबर्स की सहमति को अनिवार्य किया गया है। ट्राई ने कहा कि कुछ टेलीमार्केटिंग कंपनियां चोरी छिपे ग्राहकों की जानकारी हासिल करती हैं और मंजूरी हासिल करने का दावा करती हैं। लेकिन, हकीकत में वह चोरी छिपे ही यह काम करती हैं। नए नियमों में यह व्यवस्था होगी कि उपभोक्ताओं का अपनी मंजूरी पर पूरा नियंत्रण होगा। उनके पास पहले दी गई मंजूरी को वापस लेने का भी विकल्प होगा।

नियमों का उल्लंघन करने पर लगेगा जुर्माना

नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने का प्रावधान किया गया है। उल्लंघन की श्रेणी के मुताबिक, 1,000 रुपये से लेकर 50 लाख रुपये तक का जुर्मना लगाया जा सकता है।

{ यह भी पढ़ें:- Whatsapp और Skype जैसे ऐप पर अब नहीं कर सकेंगे वीडियो कॉल }

नई दिल्ली। अगर आप भी अनचाही कॉल और मेसेजेस से हो गए हैं परेशान तो यह आपके लिए काम की खबर है। दरअसल टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया(TRAI) ने यूजर्स के पास आने वाली अनचाहे कॉल्स और मैसेज से छुटकारा दिलाने के लिए नए नियमों का ऐलान किया है। नए नियमों के तहत टेलीमार्केटिंग कॉल्स और मैसेज भेजने के लिए यूजर की सहमति को अनिवार्य कर दिया गया है। रजिस्टर्ड सेंडर ही भेज सकेंगे मैसेज रेग्युलेटर ने टेलीकॉम ऑपेरटर्स को…
Loading...