सूरत के मार्केट में ट्रांसजेंडरों की ‘नो एंट्री’, व्यापारियों ने लगाये पोस्टर

Transgender's 'no entry'
सूरत के मार्केट में ट्रांसजेंडरों की 'नो एंट्री', व्यापारियों ने लगाये पोस्टर

नई दिल्ली। गुजरात प्रदेश के सूरत शहर में हाल ही में ट्रांसजेंडरों ने एक व्यापारी को पीट पीटकर अधमरा कर दिया था और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी थी। तभी से सूरत के जापान मार्केट के व्यापारी काफी नाराज दिख रहे हैं और इसी के चलते व्यापरियों ने बाजार में ट्रांसजेंडर की ‘नो एंट्री’ के पोस्टर लगवा दिये हैं। व्यापारियों का कहना है कि ट्रांसजेंडर समुदाय के लोग व्यापारियों को काफी परेशान करते हैं।

Transgenders No Entry In Surat Market Traders Put Up Posters :

गौरतलब है कि सूरत के गहरीलाल खटीक के परिवार में एक बेटे का जन्म हुआ था। किन्नर समुदाय के लोगों को जानकारी हुई तो नेग मांगने के लिए गहरीलाल के घर पंहुचे। बताया गया कि किन्नर 11 हजार नेग मागने पर अड़े थे लेकिन गहरीलाल उन्हे सिर्फ 2100 रूपये देने को कह रहे थे। काफी देर तक कहासुनी हुई जिसके बाद किन्नरों ने उन्हे बुरी तरह पीटा और वहां से चले गये। परिजनो ने गहरीलाल को तुरन्त नजदीकी अस्पताल पंहुचाया जहां तीसरे दिन उन्होने दम तोड़ दिया।

एल शर्मा जापान मार्केट के प्रेसिडेंट हैं, उनका कहना है कि आये दिन ट्रांसजेंडर समुदाय के लोग किसी न किसी से अभद्रता करते रहते हैं। अगर इनपर कोई भी प्रतिबन्ध नही लगाया गया तो ये कभी सुधर नही सकते। वहीं ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगो का कहना है कि एक सदस्य ने अगर कोई अपराध कर दिया ​तो पूरे समुदाय को दंडित करना अनुचित है। विशेष अवसरों पर इन्ही बाजारों से इस समुदाय को पैसा मिलता है।

नई दिल्ली। गुजरात प्रदेश के सूरत शहर में हाल ही में ट्रांसजेंडरों ने एक व्यापारी को पीट पीटकर अधमरा कर दिया था और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी थी। तभी से सूरत के जापान मार्केट के व्यापारी काफी नाराज दिख रहे हैं और इसी के चलते व्यापरियों ने बाजार में ट्रांसजेंडर की 'नो एंट्री' के पोस्टर लगवा दिये हैं। व्यापारियों का कहना है कि ट्रांसजेंडर समुदाय के लोग व्यापारियों को काफी परेशान करते हैं। गौरतलब है कि सूरत के गहरीलाल खटीक के परिवार में एक बेटे का जन्म हुआ था। किन्नर समुदाय के लोगों को जानकारी हुई तो नेग मांगने के लिए गहरीलाल के घर पंहुचे। बताया गया कि किन्नर 11 हजार नेग मागने पर अड़े थे लेकिन गहरीलाल उन्हे सिर्फ 2100 रूपये देने को कह रहे थे। काफी देर तक कहासुनी हुई जिसके बाद किन्नरों ने उन्हे बुरी तरह पीटा और वहां से चले गये। परिजनो ने गहरीलाल को तुरन्त नजदीकी अस्पताल पंहुचाया जहां तीसरे दिन उन्होने दम तोड़ दिया। एल शर्मा जापान मार्केट के प्रेसिडेंट हैं, उनका कहना है कि आये दिन ट्रांसजेंडर समुदाय के लोग किसी न किसी से अभद्रता करते रहते हैं। अगर इनपर कोई भी प्रतिबन्ध नही लगाया गया तो ये कभी सुधर नही सकते। वहीं ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगो का कहना है कि एक सदस्य ने अगर कोई अपराध कर दिया ​तो पूरे समुदाय को दंडित करना अनुचित है। विशेष अवसरों पर इन्ही बाजारों से इस समुदाय को पैसा मिलता है।