भारत ने अटारी बॉर्डर पर फहराया सबसे ऊंचा तिरंगा, लाहौर से भी दिखेगा

नई दिल्ली| भारत ने रविवार को भारत-पाक अटारी सीमा पर 360 फुट ऊंचा तिरंगा फ़हराया| यह इतना ऊंचा है कि इसे लाहौर से भी साफ़ देखा जा सकता है| इसके निर्माण पर 3.50 करोड़ का खर्च आया है| इससे पहले देश के सबसे ऊंचे झंडे का खिताब झारखंड के रांची में लगे 293 फुट के तिरंगे को मिला हुआ था|




पंजाब के मंत्री अनिल जोशी ने इस सबसे ऊंचे फ्लैगमास्ट पर देश का सबसे बड़ा तिरंगा फहराया| उन्होंने कहा, “मैं जब बड़ा हुआ, तो अक्सर सुना करता था सारे जहां से अच्छा, हिंदुस्तान हमारा| मैं एक सैनिक तो नहीं बन सकता, लेकिन मुझे लगता है हम सभी को ऐसा कुछ करना चाहिए जिससे की देश और देश की रक्षा करने वाले सैनिकों को गर्व महसूस हो| मुझे गर्व है कि इस तरह को कोई प्रोजेक्ट पूरा हो सका|”





पाकिस्तान ने लगाया जासूसी का आरोप

Tricolour Hosted On Tallest Flag Mast Near Attari Border :

उधर, अटारी पर लगाए गए देश के सबसे ऊंचे तिरंगे पर पाकिस्तान ने एतराज जताया है| पाकिस्तान ने इसे अंतरराष्ट्रीय संधि का उल्लंघन बताया है| साथ ही पाक ने कहा है कि भारत इस झंडे के जरिये जासूसी कर सकता है| हालांकि भारत ने पाकिस्तान की आपत्तियों को दरकिनार कर दिया है| भारतीय अधिकारियों ने कहा कि फ्लैगमास्ट जीरो लाइन से 200 मीटर पहले स्थापित किया गया है| यहां किसी भी तरह का उल्लंघन नहीं हुआ है|

नई दिल्ली| भारत ने रविवार को भारत-पाक अटारी सीमा पर 360 फुट ऊंचा तिरंगा फ़हराया| यह इतना ऊंचा है कि इसे लाहौर से भी साफ़ देखा जा सकता है| इसके निर्माण पर 3.50 करोड़ का खर्च आया है| इससे पहले देश के सबसे ऊंचे झंडे का खिताब झारखंड के रांची में लगे 293 फुट के तिरंगे को मिला हुआ था| पंजाब के मंत्री अनिल जोशी ने इस सबसे ऊंचे फ्लैगमास्ट पर देश का सबसे बड़ा तिरंगा फहराया| उन्होंने कहा, “मैं जब बड़ा हुआ, तो अक्सर सुना करता था सारे जहां से अच्छा, हिंदुस्तान हमारा| मैं एक सैनिक तो नहीं बन सकता, लेकिन मुझे लगता है हम सभी को ऐसा कुछ करना चाहिए जिससे की देश और देश की रक्षा करने वाले सैनिकों को गर्व महसूस हो| मुझे गर्व है कि इस तरह को कोई प्रोजेक्ट पूरा हो सका|" पाकिस्तान ने लगाया जासूसी का आरोपउधर, अटारी पर लगाए गए देश के सबसे ऊंचे तिरंगे पर पाकिस्तान ने एतराज जताया है| पाकिस्तान ने इसे अंतरराष्ट्रीय संधि का उल्लंघन बताया है| साथ ही पाक ने कहा है कि भारत इस झंडे के जरिये जासूसी कर सकता है| हालांकि भारत ने पाकिस्तान की आपत्तियों को दरकिनार कर दिया है| भारतीय अधिकारियों ने कहा कि फ्लैगमास्ट जीरो लाइन से 200 मीटर पहले स्थापित किया गया है| यहां किसी भी तरह का उल्लंघन नहीं हुआ है|