दिल्ली ट्रिपल मर्डर: रोक टोक से परेशान किशोर ने मां-बाप और बहन को उतारा मौत के घाट

दिल्ली ट्रिपल मर्डर: रोक टोक से परेशान किशोर ने मां-बाप और बहन को उतारा मौत के घाट
दिल्ली ट्रिपल मर्डर: रोक टोक से परेशान किशोर ने मां-बाप और बहन को उतारा मौत के घाट

नई दिल्ली। घरवालों की रोक-टोक से परेशान होकर एक किशोर ने ऐसा कदम उठाया जिसे सुनकर आपके पैरो तले जमीन खिसक जाएगी। पिता-मां और बहन के हर चीजों पर सवाल पूछने और बात-बात पर टोकने की आदत से दिल्ली के किशनगढ़ का एक किशोर इस कदर आहत हुआ कि उसने इनसब से छुटकारा पाने के लिए तीनों को चाकू गोदकर मार डाला।

Triple Murder In South Delhi :

बेरहमी से किया अपनों का खून

यह पूरा मामला साउथ दिल्ली के किशनगढ़ का है जहां किशोर ने रोक-टोक से छुटकारा पाने के लिए अपनों का ही खून कर दिया। इस मामले में पुलिस का दावा है कि किशोर ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। इकबालिया बयान में उसने पुलिस को बताया है कि वह पढ़ाई के लिए बार-बार डांट खाने की वजह से परेशान था। पुलिस ने किशोर को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। उसने बड़ी बेरहमी से चाकुओं से गोद मां-पिता और बहन की हत्या की है।

कितनी बार किया चाकुओं से वार

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी 19 साल के सूरज ने सबसे पहले अपने पिता को निशाना बनाया। उसने बुधवार को करीब रात के तीन बजे अपने पिता मिथलेश वर्मा (44) के सीने और पेट पर चाकू के आठ वार किए। पिता की हत्या के बाद वह दूसरे रूम में सो रही अपनी मां सिया (38) के पास पहुंचा और उसे सात बार चाकुओं से गोद डाला। दो हत्याएं करने के बाद उसने अपनी नाबालिग बहन के कमरे का गया और उनका गला काट दिया।

पड़ोसियों को बताई चोरी की झूठी कहानी

परिवार के लोगों की हत्या करने के बाद सूरज उनकी लाश के पास ही 2 घंटे तक बैठा रहा उसके बाद उसने सुबह करीब 5:30 बजे अपने एक पड़ोसी को मामले की सूचना दी। उसने पड़ोसी को बताया कि दो चोरों ने उसके घर में घुसकर परिवार के लोगों की हत्या कर दी और कुछ समान चोरी कर मौके से फरार हो गए।

बताया किन किन चीजों का लोया बदला

  • अगस्त में पिता ने पतंग उड़ाने के लिए पीटा था।
  • तीन साल पहले उसने अपनी किडनैपिंग का ड्रामा किया था। उसका परिवार तबसे ही उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं कर रहा था।
  • ज्यादा देर खेलने पर मिलती थी सजा।
नई दिल्ली। घरवालों की रोक-टोक से परेशान होकर एक किशोर ने ऐसा कदम उठाया जिसे सुनकर आपके पैरो तले जमीन खिसक जाएगी। पिता-मां और बहन के हर चीजों पर सवाल पूछने और बात-बात पर टोकने की आदत से दिल्ली के किशनगढ़ का एक किशोर इस कदर आहत हुआ कि उसने इनसब से छुटकारा पाने के लिए तीनों को चाकू गोदकर मार डाला।बेरहमी से किया अपनों का खूनयह पूरा मामला साउथ दिल्ली के किशनगढ़ का है जहां किशोर ने रोक-टोक से छुटकारा पाने के लिए अपनों का ही खून कर दिया। इस मामले में पुलिस का दावा है कि किशोर ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। इकबालिया बयान में उसने पुलिस को बताया है कि वह पढ़ाई के लिए बार-बार डांट खाने की वजह से परेशान था। पुलिस ने किशोर को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। उसने बड़ी बेरहमी से चाकुओं से गोद मां-पिता और बहन की हत्या की है।कितनी बार किया चाकुओं से वारपुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी 19 साल के सूरज ने सबसे पहले अपने पिता को निशाना बनाया। उसने बुधवार को करीब रात के तीन बजे अपने पिता मिथलेश वर्मा (44) के सीने और पेट पर चाकू के आठ वार किए। पिता की हत्या के बाद वह दूसरे रूम में सो रही अपनी मां सिया (38) के पास पहुंचा और उसे सात बार चाकुओं से गोद डाला। दो हत्याएं करने के बाद उसने अपनी नाबालिग बहन के कमरे का गया और उनका गला काट दिया।पड़ोसियों को बताई चोरी की झूठी कहानीपरिवार के लोगों की हत्या करने के बाद सूरज उनकी लाश के पास ही 2 घंटे तक बैठा रहा उसके बाद उसने सुबह करीब 5:30 बजे अपने एक पड़ोसी को मामले की सूचना दी। उसने पड़ोसी को बताया कि दो चोरों ने उसके घर में घुसकर परिवार के लोगों की हत्या कर दी और कुछ समान चोरी कर मौके से फरार हो गए।बताया किन किन चीजों का लोया बदला
  • अगस्त में पिता ने पतंग उड़ाने के लिए पीटा था।
  • तीन साल पहले उसने अपनी किडनैपिंग का ड्रामा किया था। उसका परिवार तबसे ही उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं कर रहा था।
  • ज्यादा देर खेलने पर मिलती थी सजा।