तीन तलाक के खिलाफ जंग छेड़ने वाली निदा खान जॉइन करेंगी BJP

तीन तलाक के खिलाफ जंग छेड़ने वाली निदा खान जॉइन करेंगी BJP
तीन तलाक के खिलाफ जंग छेड़ने वाली निदा खान जॉइन करेंगी BJP

Triple Talaq Victim Bareilly Woman Nida Khan Will Join Bjp

बरेली। उत्तर प्रदेश में बरेली की ट्रिपल तलाक से पीड़ित महिलाओं को हक दिलाने के लिए लड़ रहीं आला हजरतखानदान की पूर्व बहू निदा खानभारतीय जनता पार्टी (BJP) जॉइन करने की तैयारी में हैं। गुरुवार को उन्होंने पार्टी ज्वाइन करने की सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा कि वह तीन तलाक, निकाह हलाला और बहुविवाह की पीड़िताओं को न्याय दिलाने के लिए भाजपा का दामन थामेंगी। इसी के साथ उन्हें भाजपा में बड़ी जिम्मेदारी मिलने की चर्चा भी तेज हो गई है। निदा इससे पहले देहरादून में राज्यमंत्री रेखा आर्य और अन्य भाजपा नेताओं से मिल चुकी हैैं।

भाजपा में शामिल होने की शर्त के बाद निदा खान ने अपनी भी एक शर्त रखी है।वह चाहती हैं कि उनकी भाजपा में ज्वाइनिंग स्थानीय स्तर पर नहीं हो। प्रदेश स्तर पर भी कराने के लिए तैयार नहीं हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के स्तर से ऐसा हो तो वह तैयार हैं। निदा ने उत्तराखंड सरकार में मंत्री रेखा आर्य से यह बात कह भी दी है। उनकी इस शर्त को ऊपर पहुंचाया गया है। मेरठ में 12-13 अगस्त को भाजपा कार्यसमिति की बैठक होनी है, इसमें अमित शाह भी रहेंगे। माना जा रहा है कि मेरठ में ही निदा को भाजपा की सदस्यता ग्रहण करा ली जाए।

कौन हैं निदा : निदा खान दरगाह आला हजरत प्रमुख मौलाना सुब्हान रजा खा सुब्हानी मिया के छोटे भाई अंजुम मिया के बेटे शीरान रजा खा की पूर्व पत्‍‌नी हैं। उनके शौहर ने तलाक दे दिया है। यह प्रकरण कोर्ट में चल रहा है। इसके बाद निदा ने आला हजरत हेल्पिंग सोसायटी बनाई है, जिसके बैनर तले वे तलाक पीड़िताओं के हक की आवाज बुलंद कर रही हैं। ससुर के खिलाफ हलाला का आरोप लगाने वाली पीड़िता की लड़ाई लड़ने के कारण उनके खिलाफ इस्लाम से खारिज करने का फतवा जारी कर दिया गया था। साथ ही उनका हुक्का-पानी बंद कर दिया गया था। जिस पर पूरे देश में बहस शुरू हो गई थी।

यह था मामला : निदा खान के खिलाफ फतवा मुफ्ती अफजाल रजवी ने जारी किया था। उनसे शहर इमाम मुफ्ती खुर्शीद आलम ने सवाल किया था-जो हिंदा (महिला) कुरान व हदीस में जिक्र होने के बाद हलाला का इन्कार करे और उसे महिलाओं पर जुल्म करार दे, उसके लिए शरीयत का हुक्म बया किया जाए। जवाब में कहा गया था कि ऐसी महिला इस्लाम से खारिज हो जाएगी। वह तौबा नहीं करती है तो उससे हर तरह के ताल्लुकात तोड़ लिए जाएं। बीमार पड़े तो देखने न जाएं और मर जाए तो जनाजे में शिरकत नहीं करें। यहा तक कि कब्रिस्तान में दफन होने के लिए जमीन भी न दें।

बरेली। उत्तर प्रदेश में बरेली की ट्रिपल तलाक से पीड़ित महिलाओं को हक दिलाने के लिए लड़ रहीं आला हजरतखानदान की पूर्व बहू निदा खानभारतीय जनता पार्टी (BJP) जॉइन करने की तैयारी में हैं। गुरुवार को उन्होंने पार्टी ज्वाइन करने की सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा कि वह तीन तलाक, निकाह हलाला और बहुविवाह की पीड़िताओं को न्याय दिलाने के लिए भाजपा का दामन थामेंगी। इसी के साथ उन्हें भाजपा में बड़ी जिम्मेदारी मिलने की चर्चा भी तेज…