त्रिपुरा: भाजपा को लगा तगड़ा झटका, पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

त्रिपुरा: भाजपा को लगा तगड़ा झटका, पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा
त्रिपुरा: भाजपा को लगा तगड़ा झटका, पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा
अगरतला। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की त्रिपुरा इकाई के पूर्व अध्यक्ष रोनाजॉय कुमार देव ने आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया। रोनाजॉय कुमार देव वर्ष 2001 से त्रिपुरा भाजपा के पांच वर्ष तक अध्यक्ष रहे थे। प्रदेश पार्टी अध्यक्ष बिप्लब कुमार देव को भेजे अपने त्यागपत्र में उन्होंने लिखा है, चूंकि पार्टी ने विधानसभा चुनाव में बागबासा विधानसभा सीट से मुझे उम्मीदवार नहीं बनाने का निर्णय लिया है.. इसलिए मैंने पार्टी…

अगरतला। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की त्रिपुरा इकाई के पूर्व अध्यक्ष रोनाजॉय कुमार देव ने आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया। रोनाजॉय कुमार देव वर्ष 2001 से त्रिपुरा भाजपा के पांच वर्ष तक अध्यक्ष रहे थे। प्रदेश पार्टी अध्यक्ष बिप्लब कुमार देव को भेजे अपने त्यागपत्र में उन्होंने लिखा है, चूंकि पार्टी ने विधानसभा चुनाव में बागबासा विधानसभा सीट से मुझे उम्मीदवार नहीं बनाने का निर्णय लिया है.. इसलिए मैंने पार्टी से इस्तीफा देने का फैसला कर लिया।

देव ने अपना त्यागपत्र 27 जनवरी को लिखा था, लेकिन मीडिया को यह शनिवार को जारी किया गया। भाजपा प्रवक्ता मृणाल कांति देव ने उनके इस्तीफे को ‘अप्रत्याशित और दुर्भाग्यपूर्ण’ बताते हुए कहा, “उन्होंने 80 के दशक की शुरुआत में पार्टी की सदस्यता लेने के बाद पार्टी के लिए बहुत कुछ किया। महज टिकट नहीं मिलने के कारण उन्हें इस्तीफा नहीं देना चाहिए था।”

{ यह भी पढ़ें:- कुंभ मेले को हिट बनाने के लिए 100 से अधिक देशों में रोड शो कर रही है यूपी सरकार }

60 सदस्यीय त्रिपुरा विधानसभा के चुनाव में भाजपा 51 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। बची नौ सीटों पर भाजपा की गठबंधन सहयोगी, इंडीजीनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) चुनाव लड़ रही है। आईपीएफटी एक जनजातीय पार्टी है, जो ‘त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्तशासी जिला परिषद’ के इलाकों को मिलाकर एक पृथक राज्य बनाने की मांग को लेकर आंदोलन कर रही है।

इस दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बिप्लब कुमार देव ने दावा किया कि सत्ताधारी मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और अन्य पार्टियों के लगभग 1635 समर्थकों ने शनिवार को भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली।

{ यह भी पढ़ें:- एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह की सदस्यता को दल बदल कानून के तहत चुनौती देने की तैयारी में कांग्रेस }

Loading...